Friday, July 12, 2024
Advertisement

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों पर लगातार कार्रवाई जारी, मुठभेड़ में एक और नक्सली मारा गया

छत्तीसगढ़ के धमतरी और गरियाबंद जिलों की सीमा पर सुरक्षाबलों ने एक नक्सली को मार गिराया। मारे गए नक्सली की पहचान अब तक नहीं हो पाई है और आस-पास के इलाकों में अब भी तलाश जारी है।

Edited By: Malaika Imam @MalaikaImam1
Updated on: May 12, 2024 13:21 IST
प्रतीकात्मक फोटो- India TV Hindi
Image Source : REPRESENTATIVE IMAGE प्रतीकात्मक फोटो

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों पर लगातार कार्रवाई जारी है। अब धमतरी और गरियाबंद जिलों की सीमा पर सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में एक नक्सली को मार गिराया। धमतरी जिले के पुलिस अधीक्षक आंजनेय वार्ष्णेय ने बताया कि यह मुठभेड़ शनिवार दोपहर तब हुई जब धमतरी से जिला रिजर्व गार्ड (डीआरजी) का एक दल नक्सल विरोधी अभियान पर निकला था। उन्होंने बताया कि गोलीबारी रुकने के बाद सुरक्षाबलों ने एक नक्सली का शव बरामद किया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मारे गए नक्सली की पहचान अब तक नहीं हो पाई है और आस-पास के इलाकों में अब भी तलाश जारी है। इस घटना के साथ ही इस साल राज्य में सुरक्षा बलों के साथ अलग-अलग मुठभेड़ों में अब तक 104 नक्सली मारे जा चुके हैं। 

बारूदी सुरंग विस्फोट में जवान घायल

इससे पहले शुक्रवार को बीजापुर जिले में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में 12 नक्सली मारे गए थे। पुलिस के मुताबिक, क्षेत्र में बारूदी सुरंग विस्फोट में दो जवान भी घायल हुए थे। पुलिस अधिकारियों ने बताया था कि जिले के गंगालूर थाना क्षेत्र के अंतर्गत पीड़िया गांव के जंगल में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में 12 नक्सलियों को मार गिराया। उन्होंने बताया कि पुलिस को कमांडर वेल्ला, गंगालूर एरिया कमेटी का सचिव दिनेश मोड़ियम और लगभग 150 सशस्त्र माओवादियों की मौजूदगी की गुप्त सूचना मिली थी, जिस पर 8 मई को डीआरजी बीजापुर, डीआरजी दंतेवाड़ा, डीआरजी सुकमा, बस्तर फाइटर, विशेष कार्य बल (एसटीएफ) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के कोबरा बटालियन के दल को नक्सल रोधी अभियान पर रवाना किया गया था। 

अलग-अलग स्थानों पर हुई मुठभेड़

सुरक्षाबल के जवान पीड़िया गांव के जंगल में थे, तब सुरक्षाबलों और माओवादियों के बीच अलग-अलग स्थानों पर मुठभेड़ हुई। पुलिस अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ के बाद सुरक्षाबलों ने घटनास्थल से 12 माओवादियों का शव, बीजीएल लांचर, 12 बोर बंदूक, देसी रायफल, बीजीएल सेल, भारी मात्रा में विस्फोटक, माओवादी वर्दी, दवाईयां और अन्य सामान बरामद किया गया। अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षाबलों ने अभियान के दौरान पीड़िया के जंगल में माओवादियों द्वारा स्थापित अस्थाई कैम्प को ध्वस्त कर दिया है। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में खोज अभियान जारी है। अधिकारियों ने बताया कि क्षेत्र में नक्सल विरोधी अभियान के दौरान बारूदी सुरंग में विस्फोट होने से सुरक्षाबल के दो जवान भी घायल हुए हैं। घायल जवानों को बाहर निकालकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इससे पहले 30 अप्रैल को नारायणपुर और कांकेर जिले की सीमा पर सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में तीन महिलाओं सहित 10 नक्सली मारे गए थे। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि 16 अप्रैल को राज्य के कांकेर जिले में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में 29 नक्सली मारे गए थे। (PTI)

ये भी पढ़ें- 

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें छत्तीसगढ़ सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement