Tuesday, July 16, 2024
Advertisement

'असहिष्‍णुता' पर बंटा बॉलीवुड, कंगना सहित 61 हस्तियों ने उठाए चिट्ठी लिखने वाले 49 लोगों पर सवाल

दो दिन पहले आई इस चिट्ठी के जवाब में शुक्रवार को कंगना रनौत, मधुर भंडारकर जैसी हस्तियों ने चिट्ठी लिखी है।

Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Updated on: July 26, 2019 11:52 IST
Kangana Prasoon Joshi with PM Modi- India TV Hindi
Kangana Prasoon Joshi with PM Modi

मॉब लिंचिंग को लेकर 49 हस्तियों द्वारा केंद्र सरका पर उठाए गए सवालों को लेकर बॉलीवुड बंटता दिखाई दे रहा है। दो दिन पहले आई इस चिट्ठी के जवाब में शुक्रवार को कंगना रनौत, मधुर भंडारकर जैसी हस्तियों ने चिट्ठी लिखी है। खुला पत्र लिखने वाली हस्तियों में बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत, गीतकार प्रसून जोशी, क्लासिकल डांसर और सांसद सोनल मानसिंह, वादक पंडित विश्व मोहन भट्ट, फिल्म निर्माता मधुर भंडारकर और विवेक अग्निहोत्री शामिल हैं।

हाल ही में 49 लोगों ने मोदी सरकार में हो रही भीड़ हिंसा को लेकर प्रधानमंत्री को पत्र लिखा था। जिसपर कई तरह की प्रतिक्रियाएं आई थीं। अब 61 हस्तियों ने उस पत्र का काउंटर करते हुए इसे चुनिंदा आक्रोश और झूठा आख्यान बताते हुए खुला खत लिखा है।

49 बुद्धिजीवियों ने 'मॉब लिंचिंग' पर जताई थी चिंता 

दो दिन पहले ही अभिनेता-अभिनेत्री, फिल्मकार, सामाजिक कार्यकर्ता, इतिहासकार समेत विभिन्न क्षेत्रों के 49 बुद्धिजीवियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम असहिष्णुता को लेकर खुला पत्र लिखा था। जिसमें दलित व अल्पसंख्यकों के प्रति बढ़ती हिंसा पर प्रधानमंत्री से हस्तक्षेप की मांग की गई थी। इसमें कहा गया-'अफसोस की बात है कि जय श्रीराम का आज उकसाने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। यह एक भड़काऊ नारा बन गया है। भारत में अल्पसंख्यक समुदायों को राम के नाम पर डराया जा रहा है। राम की अवमानना करने पर रोक लगाने की जरूरत है।'

ये मशहूर हस्तियां थीं शामिल

49 हस्तियों में मशहूर फिल्म निर्देशक श्याम बेनेगल, अदूर गोपालकृष्णन, इतिहासकार रामचंद्र गुहा, मणिरत्नम, अनुराग कश्यप, अपर्णा सेन, विनायक सेन, सौमित्र चटर्जी, गौतम घोष, कौशिक सेन, कोंकणा सेनशर्मा समेत कुल 49 हस्तियों के नाम हैं।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement