Sunday, July 21, 2024
Advertisement

Income Tax Raid: इनकम टैक्स की दो समूहों पर रेड, 500 करोड़ से ज्यादा की अघोषित इनकम का लगाया पता

Income Tax Raid: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने तमिलनाडु में दो समूहों पर हाल में छापेमारी के बाद 500 करोड़ रुपये से अधिक की अघोषित इनकम का पता लगाया है।

Edited By: Akash Mishra
Published on: July 12, 2022 23:28 IST
Representational Image- India TV Hindi
Image Source : PTI Representational Image

Highlights

  • इनकम टैक्स ने दोनों समूहों के 40 परिसरों में छापेमारी की
  • "दोनों समूहों की अघोषित आय 500 करोड़ रुपये से ज्यादा होने का अनुमान है"

Income Tax Raid: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने तमिलनाडु में दो समूहों पर हाल में छापेमारी के बाद 500 करोड़ रुपये से अधिक की अघोषित इनकम का पता लगाया है। केंद्रीय CBDT के मुताबिक IT डिपार्टमेंट ने छह जुलाई को चेन्नई, कोयंबटूर और मदुरै में रियल एस्टेट विज्ञापन और सिविल ठेकों से जुड़े दो समूहों के 40 परिसरों में छापेमारी की थी। CBDT ने एक बयान में कहा कि जब्त किए गए दस्तावेजों और डिजिटल उपकरणों की जांच से आय को कम करने के संकेत मिले हैं। ये दोनों समूह पिछले कुछ वर्षों में अपने बही-खातों में फर्जी खरीद और खर्च का दावा करके अपनी कर योग्य आय को ‘कम’ कर रहे हैं। CBDT ने कहा कि एक समूह बिना खरीदारी किए भुगतान कर रहा था। वह इसे बाद में नकद के रूप में वापस ले लेता था। बयान के अनुसार, दोनों समूहों की अघोषित आय 500 करोड़ रुपये से अधिक होने का अनुमान है। 

हालही में IT डिपार्टमेंट ने दो रियल एस्टेट कंपनियों पर भी रेड की थी

IT डिपार्टमेंट ने बेंगलुरु और हैदराबाद स्थित दो रियल एस्टेट कंपनियों के ठिकानों पर छापेमारी की थी। इस दौरान उन्होंने 22 करोड़ रुपये की नकदी एवं आभूषण जब्त किए हैं। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने सोमवार को एक बयान में कहा कि आयकर विभाग की टीम ने इन दोनों रियल एस्टेट कंपनियों के काफी परिसरों पर छापे मारे थे। हालांकि CBDT ने छापेमारी की तारीख का खुलासा नहीं किया है।  CBDT ने कहा कि दोनों ही रियल एस्टेट समूह कंस्ट्रक्शन की लागत को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाकर 28 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी में संलिप्त रहे हैं।

22 करोड़ रुपये की नकदी एवं आभूषण किए थे जब्त 

आयकर विभाग की टीम को बेंगलुरु स्थित डेवलपर के परिसरों से मिले दस्तावेजों से पता चला है कि जमीन मालिकों ने डेवलपर के साथ संयुक्त विकास समझौता किया हुआ था। उस जमीन के एवज में उन्हें डेवलपर से सुपर बिल्ट-अप एरिया मिला हुआ था। लेकिन जमीन मालिक इस लेनदेन से हुए पूंजीगत लाभ की घोषणा कर पाने में नाकाम रहे। आयकर विभाग के अब तक के तलाशी अभियान में 3.50 करोड़ रुपये की अघोषित नकदी। इसके अलावा 18.50 करोड़ रुपये के सोने-चांदी एवं आभूषण जब्त किए। 

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement