Thursday, July 25, 2024
Advertisement

"पेपर लीक गिरोह और शिक्षा माफिया के आगे बेबस PM", NEET Scam को लेकर कांग्रेस के शीर्ष नेताओं का बड़ा हमला

नीट-यूजी में अनियमितताओं के बाद NTA की नौकरशाही में फेरबदल को लेकर कांग्रेस ने निशाना साधा है। कांग्रेस नेताओं ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि इसकी जिम्मेदारी दूसरों पर डालने के बजाय सरकार के शीर्ष नेतृत्व को खुद लेनी चाहिए।

Edited By: Malaika Imam @MalaikaImam1
Updated on: June 23, 2024 15:56 IST
कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के साथ राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा- India TV Hindi
Image Source : PTI कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के साथ राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा

कांग्रेस ने मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट-यूजी में कथित अनियमितताओं के बाद राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA) की नौकरशाही में फेरबदल को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि इसकी जिम्मेदारी दूसरों पर डालने के बजाय सरकार के शीर्ष नेतृत्व को खुद लेनी चाहिए। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने आरोप लगाया कि NTA को एक स्वायत्त निकाय बताया गया, लेकिन असल में इसे बीजेपी/आरएसएस के "कुटिल हितों" को पूरा करने के लिए बनाया गया। 

कांग्रेस अध्यक्ष ने 'एक्स' पर एक पोस्ट में कहा, "नीट घोटाले की जिम्मेदारी मोदी सरकार के शीर्ष नेतृत्व को लेनी चाहिए। नौकरशाही में फेरबदल करना भाजपा द्वारा बर्बाद की गई शिक्षा प्रणाली की समस्या का समाधान नहीं है।" उन्होंने कहा कि छात्रों को न्याय दिलाने के लिए मोदी सरकार को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए। केंद्र सरकार ने शनिवार को एनटीए के महानिदेशक सुबोध सिंह को हटा दिया और राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) में अनियमितताओं की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो यानी CBI को सौंप दी। 

शिक्षा मंत्रालय ने नीट-पीजी परीक्षा भी स्थगित कर दी है, जो हाल के दिनों में स्थगित होने वाली चौथी प्रतिस्पर्धी परीक्षा है। खरगे ने कहा कि नीट-पीजी परीक्षा स्थगित कर दी गई है और पिछले 10 दिनों में सभी 4 परीक्षाएं या तो रद्द कर दी गईं या स्थगित कर दी गईं। उन्होंने आरोप लगाया, "पेपर लीक, भ्रष्टाचार, अनियमितताएं और शिक्षा माफिया हमारी शिक्षा प्रणाली में घुस गया है।" खरगे ने कहा, "देर से की गई इस कवायद का कोई नतीजा नहीं निकलेगा, क्योंकि अनगिनत युवा इससे पीड़ित हैं।" 

"अब नीट-पीजी भी स्थगित!" 

नीट-पीजी परीक्षा को स्थगित करने की आलोचना करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पेपर लीक गिरोह और शिक्षा माफिया के आगे बेबस हैं। राहुल ने सोशल मीडिया मंच 'एक्स' पर लिखा, "अब नीट-पीजी भी स्थगित! यह नरेंद्र मोदी के राज में बर्बाद हो चुकी शिक्षा व्यवस्था का एक और दुर्भाग्यपूर्ण उदाहरण है। भाजपा राज में छात्र अपना करियर बनाने के लिए 'पढ़ाई' नहीं, अपना भविष्य बचाने के लिए सरकार से 'लड़ाई' लड़ने को मजबूर हैं। अब यह स्पष्ट है- हर बार चुपचाप तमाशा देखने वाले मोदी पेपर लीक गिरोह और शिक्षा माफिया के आगे पूरी तरह से बेबस हैं।" उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी की अक्षम सरकार छात्रों के भविष्य के लिए सबसे बड़ा खतरा है- हमें देश के भविष्य को उससे बचाना ही होगा। 

प्रियंका और जयराम रमेश का हमला

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी नीट-यूजी समेत राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं में कथित अनियमितताओं को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि उसने पूरी शिक्षा प्रणाली "माफिया" और "भ्रष्टाचारियों" को सौंप दी है। उन्होंने 'एक्स' पर एक पोस्ट में कहा कि नीट-यूजी प्रश्न पत्र 'लीक' हो गया, जबकि नीट-पीजी, यूजीसी-नेट और सीएसआईआर-नेट परीक्षाएं 'रद्द' कर दी गईं। इससे पहले कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा, "नॉन-बायोलॉजिकल प्रधानमंत्री और उनके आस-पास मौजूद लोगों की अक्षमता के कारण किसी भी परीक्षा के रद्द होने की खबरों के बिना कोई दिन नहीं गुजरता।" (भाषा)

ये भी पढ़ें- 

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement