Saturday, July 13, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. इस कमाऊ सेक्टर में फ्रेशर्स को ऑफर की जा रही अच्छी सैलरी, इन 2 शहर में सबसे ज्यादा मौके

इस कमाऊ सेक्टर में फ्रेशर्स को ऑफर की जा रही अच्छी सैलरी, इन 2 शहर में सबसे ज्यादा मौके

भारत में सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर कंपनियां स्किल्ड फ्रेशर्स को ऑफर कर रही अधिक सैलरी। डेटा के मुताबिक, बेंगलुरु में फ्रेशर्स को सबसे ज्यादा औसत 4.16 लाख रुपये प्रति वर्ष का वेतन मिलता है और वहीं, मुंबई में फ्रेशर्स के लिए औसत वेतन 3.99 लाख रुपये प्रति वर्ष है।

Edited By: Alok Kumar @alocksone
Updated on: June 15, 2024 16:46 IST
freshers - India TV Paisa
Photo:FILE फ्रेशर्स

भारत में सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर सेक्टर की आईटी कंपनियों में बीते छह महीने में स्किल्ड फ्रेशर्स की मांग 5 प्रतिशत बढ़ी है। हाल ही में आई एक रिपोर्ट में ये दावा किया गया है। टैलेंट प्लेटफॉर्म फाउंडिट (पूर्व मॉन्स्टर) की ओर से जारी किए डेटा में बताया गया कि नए ग्रेजुएट लोगों को आईटी सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर इंडस्ट्रीज में उच्च वेतन मिल रहा है। इसकी औसत रेंज 4.07 लाख रुपये से लेकर 7.49 लाख रुपये प्रति वर्ष के बीच है।

बैंकिंग फाइनेंसियल में भी मिल रहा बंपर वेतन

इसके बाद बैंकिंग फाइनेंसियल सर्विसेज एंड इंश्योरेंस (बीएफएसआई) का नाम आता है। यहां औसत वेतन 3.06 लाख रुपये से लेकर 5.49 लाख रुपये प्रति वर्ष है। इसके बाद ऑटोमोटिव, इंजीनियरिंग, एफएमसीजी, फूड एंड पैकेज्ड फूड इंडस्ट्री का नाम आता है। जहां औसत वेतन 3.11 लाख रुपये से लेकर 5.38 लाख रुपये प्रति वर्ष है।

बेंगलुरु में मिल रहा सबसे ज्यादा वेतन

डेटा के मुताबिक, बेंगलुरु में फ्रेशर्स को सबसे ज्यादा औसत 4.16 लाख रुपये प्रति वर्ष का वेतन मिलता है और वहीं, मुंबई में फ्रेशर्स के लिए औसत वेतन 3.99 लाख रुपये प्रति वर्ष है। दिल्ली और बेंगलुरु की आईटी कंपनियों में सबसे ज्यादा फ्रेशर्स की मांग है। इसके बाद मुंबई, चेन्नई और पुणे का नाम है। फाउंडिट के सीईओ शेखर गरिसा ने कहा कि हमने एक ट्रेंड स्पष्ट रूप से देखा कि स्टार्टअप और अन्य कंपनियां शिक्षा की जगह स्किल को अधिक महत्व दे रही हैं। युवाओं को अपना फोकस अच्छी स्किल को हासिल करने में लगाना चाहिए।

इनपुट: आईएएनएस

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Business News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement