1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. LIC IPO कल इतने रुपये में सूचीबद्ध होने की उम्मीद! ग्रे मार्केट के भाव में सुधार के बाद यह अनुमान

LIC IPO कल इतने रुपये में सूचीबद्ध होने की उम्मीद! ग्रे मार्केट के भाव में सुधार के बाद विशेषज्ञों ने लगाया यह अनुमान

पॉलिसी होल्डर और रिटेल निवेशकों को क्रमश: 60 रुपये और 45 रुपये की छूट दी गई थी। इसके चलते पॉलिसी होल्ड को यह 889 रुपये और रिटेल निवेशकों को 904 रुपये में मिला था।

Alok Kumar Edited by: Alok Kumar @alocksone
Published on: May 16, 2022 9:52 IST
LIC- India TV Paisa
Photo:FILE

LIC

LIC IPO मंगलवार यानी 17 मई को बाजार में सूचीबद्ध होगा। शेयर बाजार में जारी उठा-पटक के चलते एलआईसी के आईपीओ में पैसा लगाने वाले छोटे निवेशक डरे हुए हैं। हालांकि, अब उनके लिए राहत की खबर है। ग्रे मार्केट में एलआईसी के आईपीओ के भाव में सुधार हुआ है। ऐसे में बाजार जानकारों का कहना है कि एलआईसी का आईपीओ बाजार में इश्यू प्राइस के करीब लिस्ट होने की पूरी उम्मीद है। यानी पॉलिसी होल्डर और रिटेल निवेशकों को नुकसान उठाना नहीं होगा। गौरतलब है कि सरकार ने एलआईसी के आइपीओ का प्राइस बैंड 902-949 रुपये तय किया था। पॉलिसी होल्डर और रिटेल निवेशकों को क्रमश: 60 रुपये और 45 रुपये की छूट दी गई थी। इसके चलते पॉलिसी होल्ड को यह 889 रुपये और रिटेल निवेशकों को 904 रुपये में मिला था।

ग्रे मार्केट के भाव में आया सुधार 

बाजार के जानकारों के मुताबिक ग्रे मार्केट में एलआईसी के आईपीओ के शेयर 936 रुपये पर कारोबार कर रहे हैं। यदि जीएमपी आने वाले दिनों में नहीं बदलता है तो शेयर एक्सचेंज पर उसी कीमत पर सूचीबद्ध हो सकते हैं। जानकारों का कहना है कि ग्रे मार्केट में एलआईसी के आईपीओ माइनस 13 रुपये पर ट्रेड कर रहा है। हालांकि, यह शनिवार को दर्ज माइनस 20 रुपये से बेहतर है। शुक्रवार को जीएमपी माइनस 25 रुपये था। यह ट्रेंड कंपनी के शेयरों पर सेंटीमेंट में सुधार दिखाता है। यानी आईपीओ प्राइस बैंड पर सूचीबद्ध हो सकता है। 

 आईपीओ को 2.95 गुना अभिदान मिला था 

एलआईसी के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) को 2.95 गुना अभिदान मिला। इस तरह सरकार करीब 21,000 करोड़ रुपये जुटाने में सफल रही। एलआईसी के आईपीओ के तहत 16,20,78,067 शेयरों की पेशकश की गई थी। उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, इन शेयरों के लिए निवेशकों की तरफ से 47,83,25,760 बोलियां लगाई गईं। पात्र संस्थागत खरीदार (क्यूआईबी) श्रेणी के शेयरों को 2.83 गुना अभिदान मिला। इस श्रेणी के लिए आरक्षित 3.95 करोड़ शेयरों के लिए 11.20 करोड़ बोलियां लगाई गईं। गैर-संस्थागत निवेशक (एनआईआई) श्रेणी के तहत 2,96,48,427 शेयरों की पेशकश की गई थी जिनके लिए 8,61,93,060 बोलियां लगाई गईं।

Write a comment