Thursday, July 11, 2024
Advertisement

PM मोदी का बड़ा ऐलान, भारत और इटली के बीच स्थापित होगा "स्टार्ट अप ब्रिज"; आसमान से समुद्र तक होंगे साथ

भारत और इटली ने अपने द्विपक्षीय संबंधों के 75 वर्ष पूरे होने पर "स्टार्ट अप ब्रिज" शुरू करने का ऐलान किया है। इसके बाद दोनों देश अंतरिक्ष से समुद्र तक एक दूसरे का साथ देंगे।

Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: March 02, 2023 23:25 IST
इटली की पीएम जार्जिया मेलोनी और पीएम मोदी- India TV Hindi
Image Source : AP इटली की पीएम जार्जिया मेलोनी और पीएम मोदी

नई दिल्लीः भारत और इटली ने अपने द्विपक्षीय संबंधों के 75 वर्ष पूरे होने पर "स्टार्ट अप ब्रिज" शुरू करने का ऐलान किया है। इसके बाद दोनों देश अंतरिक्ष से समुद्र तक एक दूसरे का साथ देंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहाकि भारत और इटली अब रक्षा से लेकर ऊर्जा तक के क्षेत्र में नया इतिहास रचेंगे। पीएम ने कहा कि हमने अक्षय ऊर्जा, हरित हाइड्रोजन, सूचना और प्रौद्योगिकी, सेमीकंडक्टर, दूरसंचार, अंतरिक्ष जैसे क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने पर विशेष जोर दिया है। उन्होंने हिंद-प्रशांत क्षेत्र में इटली की सक्रिय भागीदारी का भी स्वागत किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह बहुत खुशी की बात है कि इटली ने हिंद-प्रशांत महासागर पहल में शामिल होने का फैसला किया है। इससे हम हिंद-प्रशांत क्षेत्र में अपने सहयोग को बढ़ाने के लिए ठोस विषयों की पहचान कर सकेंगे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इटली की प्रधानमंत्री ज्यॉर्जिया मेलोनी के साथ व्यापक वार्ता के बाद बृहस्पतिवार को घोषणा की कि भारत और इटली ने अपने द्विपक्षीय संबंधों को रणनीतिक साझेदारी तक ले जाने का फैसला किया है। पिछले साल प्रधानमंत्री चुने जाने के बाद अपनी पहली दो दिवसीय राजकीय यात्रा पर भारत पहुंची जार्जिया मेलोनी ने यह भी घोषणा की है कि इटली हिंद-प्रशांत महासागर पहल में शामिल हो रहा है, क्योंकि दोनों देश द्विपक्षीय संबंधों की 75वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। इटली की प्रधानमंत्री के साथ व्यापक बातचीत के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि भारत में सह-उत्पादन और सह-विकास के क्षेत्र में नए अवसर खुल रहे हैं, जो दोनों देशों के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। मोदी ने इतालवी रक्षा कंपनियों को ‘‘मेक इन इंडिया’’ पहल में सक्रिय रूप से भाग लेने के लिए आमंत्रित भी किया। 

आतंकवाद और अलगाववाद का मुकाबला करने के लिए दोनों देश करेंगे संयुक्त रक्षा अभ्यास

पीएम मोदी ने कहा कि भारत और इटली ने नियमित आधार पर दोनों देशों के सशस्त्र बलों के बीच संयुक्त अभ्यास और प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने का भी फैसला किया है। दोनों पक्षों ने अनियमित आव्रजन और मानव तस्करी का मुकाबला करने के लिए काम करने पर भी सहमति व्यक्त की। मोदी ने कहा कि भारत और इटली आतंकवाद और अलगाववाद जैसे मुद्दों पर कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं। मोदी ने कहा, ‘‘हमने इस सहयोग को और मजबूत करने पर व्यापक चर्चा की। इससे पहले, मेलोनी का राष्ट्रपति भवन में औपचारिक रूप से स्वागत किया गया, क्योंकि वह राजकीय यात्रा पर यहां पहुंची थीं। विदेश सचिव विनय मोहन क्वात्रा ने कहा कि दोनों नेता अंतरिक्ष के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए । दोनों नेताओं ने रिमोट सेंसिंग, उपग्रह संचार, चंद्र अन्वेषण, गुरुत्वाकर्षण तरंग का पता लगाने और इसरो और एएसआई इटली के बीच अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के व्यावहारिक अनुप्रयोगों जैसे क्षेत्रों में संभावित संयुक्त अनुसंधान परियोजनाओं की व्यापक क्षमता का जायजा लिया। 

आसमान से समुद्र तक दोनों देश होंगे साथ
वर्ष2012 में दक्षिण भारतीय तट के पास निहत्थे मछुआरों की कथित तौर पर हत्या के लिए दो इतालवी नौसैनिकों को जेल भेजने के नई दिल्ली के कदम और वीवीआईपी के लिए अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर खरीदने के विवादास्पद सौदे के बाद इटली और भारत के बीच संबंधों में खटास आ गई थी। विदेश सचिव क्वात्रा ने कहा कि दोनों नेताओं ने अंतरिक्ष, साइबर और समुद्र में सहयोग को गहरा करने की आवश्यकता पर जोर दिया और संबंधों को मजबूत करने के लिए विशिष्ट क्षेत्रों की पहचान करने पर काम पर सहमति व्यक्त की। भारत और इटली ने प्रवासन और गतिशीलता पर एक आशय पत्र पर भी हस्ताक्षर किए, एक स्टार्ट-अप ब्रिज की स्थापना की घोषणा की और रवींद्र भारती विश्वविद्यालय, कोलकाता और इतालवी महावाणिज्य दूतावास के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। 

जी-20 में अमेरिका और रूस के विदेश मंत्रियों का हुआ सामना, US ने कहा-करते रहेंगे यूक्रेन का समर्थन; सर्गेई ने दिया ये जवाब

रूस को हथियार भेजने के बजाय यूक्रेन से रूसी सैनिकों की वापसी के लिए दबाव बनाए चीन, जानें किसने कही यह बात?

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement