Saturday, July 13, 2024
Advertisement

पाकिस्तान में इमरान खान की राजनीति के खात्मे का खाका पूरा! बोले-मेरे 'कोर्ट मार्शल' की हो चुकी तैयारी

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान अब सरकार और सेना के चक्रव्यूह में फंस चुके हैं। कहा जा रहा है कि इमरान की पार्टी पीटीआइ और उनकी राजनीति का अब हमेशा के लिए खात्मा होने वाला है। इमरान ने स्वयं कहा है कि उनके कोर्ट मार्शल की तैयारी पूरी हो चुकी है।

Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Updated on: June 09, 2023 20:22 IST
इमरान खान, पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री- India TV Hindi
Image Source : FILE इमरान खान, पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की राजनीति के खात्म का खाका तैयार हो चुका है। कुछ महीने पहले तक इमरान खान पाकिस्तान सरकार पर भारी पड़ रहे थे। उन्हें रैलियों और सभाओं में भारी जनसमर्थन मिल रहा था। इमरान खान अपने कार्यक्रमों में उमड़ने वाले हुजूम से उत्साहित थे। मगर पिछले एक महीने के दौरान पाकिस्तान में अब सबकुछ बदल चुका है। फ्रंट फुट वाले इमरान खान अब बैकफुट पर हैं। मुकदमों के बोझ तले उनकी राजनीति ने घुटने टेक दिए हैं, जिसमें इमरान का दम घुटा जा रहा है। अब हमेशा कि लिए इमरान खान की राजनीति खत्म होने वाली है। यह बात खुद इमरान खान कह रहे हैं।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका "कोर्ट मार्शल" होने वाला है और इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इससे पहले देश की शक्तिशाली सेना ने कहा था कि नौ मई को हुई हिंसा के "षडयंत्रकारियों’’ के खिलाफ सैन्य अदालतों में सुनवाई की जाएगी। एक दिन पहले ही देश के गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह ने नौ मई की हिंसा के लिए खान को जिम्मेदार बताया था। भ्रष्टाचार के एक मामले में खान की गिरफ्तारी के बाद देश भर में हिंसा फैल गई थी। खान बृहस्पतिवार को 10 विभिन्न मामलों के सिलसिले में इस्लामाबाद उच्च न्यायालय के सामने पेश होने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

इमरान ने कहा उन्हें पता था सैन्य अदालत में होगी सुनवाई

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के प्रमुख खान (70) ने कहा कि उन्हें पता था कि एक सैन्य अदालत द्वारा उनकी सुनवाई की जाएगी। उन्होंने सैन्य अदालत में एक असैनिक की सुनवाई को पाकिस्तान में "लोकतंत्र का अंत" और "न्याय का अंत" बताया। समाचार पत्र डॉन ने खान के हवाले से कहा, "सैन्य अदालत में मुकदमा अवैध होगा।" खान ने कहा, "वे लोग जानते हैं कि मेरे खिलाफ दर्ज 150 से अधिक मामले निराधार हैं और इन फर्जी मामलों में मुझे दोषी ठहराए जाने की कोई संभावना नहीं है, इसलिए उन्होंने सैन्य अदालत में मेरा मुकदमा चलाने का फैसला किया है।

देश छोड़ने से इन्कार

" खान ने पार्टी के भीतर दरकिनार किए जाने की अटकलों को दूर किया और पाकिस्तान छोड़ने की अफवाहों को भी खारिज कर दिया। उन्होंने कहा, "किसी अन्य देश में रहने के लिए मेरे पास पैसा नहीं है क्योंकि ब्रिटिश पाउंड 400 रुपये (पाकिस्तानी) को पार कर गया है और मैं वहां रहने का खर्च नहीं उठा सकता।" खान ने पीटीआई के उपाध्यक्ष शाह महमूद कुरैशी के साथ "कटु" मुलाकात की अफवाहों को भी खारिज कर दिया और कहा कि पूर्व विदेश मंत्री के साथ उनके सौहार्दपूर्ण संबंध हैं। इससे पहले खान रावलपिंडी में राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) के कार्यालय में चार घंटे रहे और अल कादिर भ्रष्टाचार मामले में ब्यूरो के सवालों का विस्तार से जवाब दिया। (PTI)

यह भी पढ़ें

अमेरिका ने असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा से मांगी बड़ी मदद, विश्व युद्ध से जुड़ा है मामला

यूक्रेन ने फिर दिखाया पुतिन को अपना दम, रूस के सीमावर्ती शहर में किया बड़ा ड्रोन हमला

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement