ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. एजुकेशन
  4. दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिले के लिए 2022 से होगी प्रवेश परीक्षा: अधिकारी

दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिले के लिए 2022 से होगी प्रवेश परीक्षा: अधिकारी

गौरतलब है कि अकादमिक परिषद की बैठक 10 दिसंबर को हुई थी और इसने इस प्रस्ताव को पहले ही मंजूरी दे दी थी।

Vineet Kumar Singh	Edited by: Vineet Kumar Singh @JournoVineet
Updated on: December 17, 2021 19:16 IST
Delhi University, Delhi University Entrance Exam, Delhi University Admissions 2022- India TV Hindi
Image Source : PTI दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिले के लिए अब छात्रों को प्रवेश परीक्षा की प्रक्रिया से गुजरना होगा।

Highlights

  • यूनिवर्सिटी की कार्यकारी परिषद ने 2022 से दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी।
  • कार्यकारी परिषद (EC) यूनिवर्सिटी से संबंधित निर्णय लेने वाला सर्वोच्च निकाय है।
  • अकादमिक परिषद की बैठक 10 दिसंबर को हुई थी और इसने इस प्रस्ताव को पहले ही मंजूरी दे दी थी।

नई दिल्ली: दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिले के लिए अब छात्रों को प्रवेश परीक्षा की प्रक्रिया से गुजरना होगा। अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, यूनिवर्सिटी की कार्यकारी परिषद ने अगले साल 2022 से दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित करने के प्रस्ताव को शुक्रवार को मंजूरी दे दी। कार्यकारी परिषद (EC) यूनिवर्सिटी से संबंधित निर्णय लेने वाला सर्वोच्च निकाय है, कुछ सदस्यों द्वारा असहमति जताए जाने के बावजूद कार्यकारी परिषद ने प्रवेश परीक्षा आयोजित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी।

गौरतलब है कि अकादमिक परिषद की बैठक 10 दिसंबर को हुई थी और इसने इस प्रस्ताव को पहले ही मंजूरी दे दी थी। दिल्ली यूनिवर्सिटी के कुलपति योगेश सिंह द्वारा गठित 9 सदस्यीय समिति ने सिफारिश की थी कि दाखिले की प्रक्रिया में पर्याप्त निष्पक्षता सुनिश्चित करने के लिए यूनिवर्सिटी को सामान्य प्रवेश परीक्षा के माध्यम से प्रवेश परीक्षा आयोजित करनी चाहिए। केरल बोर्ड के छात्रों को शत-प्रतिशत अंक मिलने के कारण बड़ी संख्या में यूनिवर्सिटी में दाखिले की तादाद बढ़ गयी है।

डीन (परीक्षा) डीएस रावत की अध्यक्षता में गठित समिति को स्नातक पाठ्यक्रमों में अधिक और कम प्रवेश के कारणों की जांच करनी थी, सभी स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के बोर्ड-वार वितरण का अध्ययन करना था, स्नातक पाठ्यक्रमों में इष्टतम प्रवेश के लिए वैकल्पिक रणनीतियों का सुझाव देना था और गैर-क्रीमी लेयर की स्थिति के संदर्भ में अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) के छात्रों के प्रवेश की जांच करनी थी। समिति ने सुझाव दिया है कि तमाम प्रकार की चुनौतियों के मद्देनजर एक सामान्य प्रवेश परीक्षा आयोजित की जा सकती है। (भाषा)

elections-2022