1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. इलेक्‍शन
  4. इलेक्‍शन न्‍यूज
  5. MP, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में नए वोटरों के हाथ सत्ता की चाबी? जानिए किस राज्य में कितने नए वोटर?

Assembly Election in 5 States: MP, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में नए वोटरों के हाथ सत्ता की चाबी? जानिए किस राज्य में कितने नए वोटर?

Assembly Election in 5 States: नजरें मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ पर टिकी हुई हैं क्योंकि तीनों में फिलहाल भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार है तथा BJP और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर रहती है

Manoj Kumar Manoj Kumar @kumarman145
Updated on: October 08, 2018 13:20 IST
New voters could be key to power in upcoming legislative elections in Madhya Pradesh, Chhattisgarh, - India TV Hindi
New voters could be key to power in upcoming legislative elections in Madhya Pradesh, Chhattisgarh, Rajasthan, Telangana and Mizoram 

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने शनिवार को 5 राज्यों यानि मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम के विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान कर दिया है, इन 5 राज्यों में सबसे से ज्यादा नजरें मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ पर टिकी हुई हैं क्योंकि तीनों में फिलहाल भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार है तथा BJP और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर रहती है। इस बार तीनों राज्यों में दोनो पार्टियों की नजर उन वोटर्स पर है जो पहली बार वोट डालने जा रहे हैं।

मध्य प्रदेश में लगभग 37 लाख नए वोट

मध्य प्रदेश में लगातार 15 साल से BJP की सरकार है, पिछली बार 2013 में हुए चुनावों के दौरान पार्टियों को मिले वोटों की बात करें तो 2013 के दौरान राज्य में सबसे अधिक भारतीय जनता पार्टी को 44.88 प्रतिशत, कांग्रेस को 36.38 प्रतिशत और बहुजन समाज पार्टी को 6.29 प्रतिशत वोट मिले थे। बाकी वोट अन्य दलों और निर्दलीय उम्मीदवारों को मिले थे। चुनाव आयोग के मुताबिक राज्य में पिछली बार कुल वोटरों की संख्या 4,66,36,788 थी जो इस बार बढ़कर 5,03,34,260 तक पहुंच गई है, यानि राज्य में इस बार 36.97 लाख नए वोटर हैं। ऐसी संभावना है कि इस बार राज्य में जो पार्टी नए वोटरों को अपनी तरफ सबसे ज्यादा खींचने में कामयाब होगी उसका पलड़ा भारी रह सकता है।

राजस्थान में 66 लाख से ज्यादा नए वोटर

चुनाव आयोग की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक इस बार राजस्थान में कुल वोटरों की संख्या 4,74,79,402 है जबकि 2013 के चुनाव के दौरान यह 4,08,29,312 थी। यानि राज्य में इस बार 66,50,097 नए वोटर हैं। पिछली बार राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी को 45.17 प्रतिशत वोट मिले थे जबकि कांग्रेस को 33.07 प्रतिशत वोट हासिल हुए थे। 2008 के दौरान राज्य में कांग्रेस की सरकार थी और उस समय विधानसभा चुनावों के दौरान राज्य में BJP को 34.27 प्रतिशत और कांग्रेस को 36.82 प्रतिशत वोट मिले थे। यानि 2013 में BJP की जीत 12 प्रतिशत अधिक वोटों से हुई थी जबकि 2008 में कांग्रेस करीब ढाई प्रतिशत अधिक वोटों से जीती थी। ऐसी उम्मीद है कि इस बार राज्य में जिस पार्टी के साथ नया वोटर अधिक जुड़ेगा उसकी सरकार बन सकती है।

छत्तीसगढ़ में इस बार रोचक टक्कर

छत्तीसगढ़ में भी पिछले 15 साल से BJP की सरकार है। हालांकि पिछली बार कांग्रेस के मुकाबले BJP को सिर्फ 97574 अधिक वोट पड़े थे। BJP को 41.04 प्रतिशत और कांग्रेस को 40.29 प्रतिशत वोट मिले थे। चुनाव आयोग के मुताबिक इस बार छत्तीसगढ़ में कुल वोटों की संख्या 1,85,45,819 है जबकि पिछली बार 1,68,95,762 थी। यानि 2013 के मुकाबले इस बार छत्तीसगढ़ में 16.50 लाख नए वोट जुड़े हैं। ऐसी संभावना है कि दोनो पार्टियों में इस बार जो भी दल अपने साथ नए वोटरों को साथ कर लेगा वह सरकार बना सकता है।

मिजोरम में भी 77 हजार से ज्यादा नए वोटर

चुनाव आयोग के मुताबिक इस बार मिजोरम में कुल वोटरों की संख्या 7,68,181 है जो पिछले साल के मुकाबले 77,321 अधिक है। पिछले चुनावों तक राज्य में कांग्रेस और क्षेत्रीय दलों की ज्यादा टक्कर रहती थी। 2013 के चुनाव में राज्य में कांग्रेस को 44.63 वोट मिले थे और उसकी सरकार बनी थी। BJP को मिजोरम में पिछले चुनावों में 1 प्रतिशत भी वोट नहीं मिला था। हालांकि BJP के दिग्गज नेता दावा कर रहे हैं कि इस बार मिजोरम में उनका प्रदर्शन अबतक का सबसे बेहतर प्रदर्शन होगा।

Click Mania
bigg boss 15