PM Modi की तरह 72 की उम्र में रहना चाहते हैं चुस्त-दुरुस्त, स्वामी रामदेव से जानिए योगा और प्राणायाम के टिप्स

Yoga Tips: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की फिटनेस का राज़ उनके दिन की शुरुआत में छुपा है। पीएम नरेंद्र मोदी रोज़ सुबह 5 बजे उठकर आधा घंटा योग-प्राणायाम करते हैं और ये तो साइंस भी मानती है कि रेगलुर योग-प्राणायाम और सुबह उठना हेल्दी लाइफ की गारंटी है।

Written By : Sajid Khan Alvi Edited By : Akanksha TiwariPublished on: September 27, 2022 11:25 IST
Yoga tips- India TV Hindi
Image Source : INSTAGRAM/SWAAMIRAMDEV स्वामी रामदेव से जानिए योगा और प्राणायाम के टिप्स

Highlights

  • पीएम नरेंद्र मोदी की फिटनेस से युवा पीढ़ी होती है प्रेरित
  • स्वामी रामदेव ने बताए योगा के फायदे
  • कपालभाती से हार्ट होता है मजबूत

Yoga Tips: भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की फिटनेस को देखकर युवा पीढ़ी भी फिट रहने के लिए प्रेरित होती है। लेकिन क्या आप जानते हैं 72 साल की उम्र में भी पीएम मोदी इतने एनर्जैटिक कैसे रहते हैं। इस उम्र में भी वो 17 से 19 घंटे रोज़ काम कैसे कर पाते हैं और इतना काम करने के बावजूद पूरी तरह फिट है। बहुत से लोग हैं जो जानना चाहते हैं कि पीएम मोदी की सेहत का राज़ क्या है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की फिटनेस का राज़ उनके दिन की शुरुआत में छुपा है। पीएम नरेंद्र मोदी रोज़ सुबह 5 बजे उठकर आधा घंटा योग-प्राणायाम करते हैं और ये तो साइंस भी मानती है कि रेगलुर योग-प्राणायाम और सुबह उठना हेल्दी लाइफ की गारंटी है।

यह भी पढ़ें: Home Remedies For Piles: बवासीर की समस्या को दूर करेगा त्रिफला सहित ये आयुर्वेदिक चीजें, जानें इस्तेमाल का तरीका

सिर्फ प्राणायाम करने से ही आप 100 में से 99 बीमारियों से बच सकते हैं और कॉम्प्लिकेशंस दूर कर सकते हैं। ये कहना गलत नहीं होगा कि प्राणायाम मानसिक और शारीरिक दोनों ही लेवल पर सेहत को गजब का बूस्ट देने वाली एक्सरसाइज़ हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक भ्रामरी करने से दिमाग में बने क्लॉट्स को भी धीरे-धीरे खत्म किया जा सकता है। भ्रामरी करते वक्त ब्रेन में कंपन होता है। जो डिमेंशिया, अल्‍जाइमर जैसी बीमारियों से रिकवरी में असरदार है।

नवरात्र में फास्टिंग करके कम करें 5 किलो वज़न, स्वामी रामदेव से जानिए इसका कारगर तरीका

अगर कपालभाति की बात करें तो ये क्रिया गैस-एसिडिटी से निजात दिलाने के साथ पाचन दुरुस्त करती है। हार्ट मज़बूत होता है, लंग्स की कपैसिटी बढ़ती है और किडनी स्टोन की परेशानी से भी छुटकारा मिलता है। कई स्टडीज़ में नाक से सांस लेने की क्रिया अनुलोम विलोम को मेंटल और फिज़िकल हेल्थ के लिए रामबाण उपाय माना है क्योंकि इससे  शरीर के कंट्रोल सेंटर यानि ब्रेन का फंक्शन बेहतर होता है। खत्म होते ब्रेन सेल्स रीजेनरेट होने लगते हैं और ये प्राणायाम हार्मोन्स बैलेंस भी करता है।

Asthma: अस्थमा के मरीज इन 3 चीजों को दूध में मिलाकर पिएं, फिर देखिए कमाल

भ्रामरी के फायदे

  1. ब्रेन के क्लॉट्स खत्म करता है
  2. डिमेंशिया में कारगर होता है
  3. अल्ज़ाइमर में असरदार
  4. भ्रामरी करने से ब्रेन में कंपन होता है और इस कंपन से दिमाग एक्टिव होता है

कपालभाति के फायदे

  1. गैस-एसिडिटी से राहत
  2. पाचन दुरुस्त करता है
  3. हार्ट मज़बूत करता है
  4. किडनी हेल्दी रहती है
  5. लंग्स स्ट्रॉन्ग होते हैं

अनुलोम-विलोम के फायदे

  1. सेल्स रिजुविनेट करता है
  2. हार्मोन्स बैलेंस में रहते हैं
  3. नर्वस सिस्टम बेहतर होता है
  4. ऑक्सीजन लेवल हाई रहता है

मोटापे के लिए उपाय 

  1. सिर्फ गर्म पानी पीएं 
  2. सुबह खाली पेट नींबू-पानी लें
  3. लौकी का सूप-जूस लें
  4. लौकी की सब्जी खाएं
  5. अनाज और चावल कम कर दें
  6. खूब सलाद खाएं
  7. खाने के 1 घंटे बाद पानी पीएं

Latest Health News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन