1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. पाकिस्तान की UNSC को लिखे चिट्ठी में नाम आने के बाद आया राहुल गांधी का बड़ा बयान

पाकिस्तान की UNSC को लिखे चिट्ठी में नाम आने के बाद आया राहुल गांधी का बड़ा बयान

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र को एक चिट्ठी लिखी है जिसमें राहुल गांधी के नाम का भी जिक्र करते हुए कहा गया है कि उन्होंने भी घाटी के हालात पर चिंता जताई है।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Updated on: August 28, 2019 10:05 IST
पाकिस्तान की UNSC को लिखे चिट्ठी में नाम आने के बाद आया राहुल गांधी का बड़ा बयान- India TV Hindi
पाकिस्तान की UNSC को लिखे चिट्ठी में नाम आने के बाद आया राहुल गांधी का बड़ा बयान

नई दिल्ली: पाकिस्तान की चिट्ठी में राहुल गांधी का जिक्र आने के बाद अब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की तरफ से सफाई आई है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि कश्मीर पूरी तरह से भारत का आंतरिक मामला है। इसमें पाकिस्तान या किसी विदेशी मुल्क को दखल देने की जरूरत नहीं है। राहुल गांधी ने कहा है कि कश्मीर में हिंसा फैलाने के लिए पाकिस्तान जिम्मेदार है।

राहुल ने ट्वीट कर कहा, 'मैं कई मुद्दों पर इस सरकार से असहमति रखता हूं। लेकिन, मैं एक चीज साफ कर देना चाहता हूं कि कश्मीर भारत का आतंरिक मुद्दा है और पाकिस्तान या दुनिया के किसी देश के लिए इसमें दखल देने की कोई जगह नहीं है।' राहुल ने एक और ट्वीट कर कहा, 'जम्मू-कश्मीर में हिंसा पाकिस्तान प्रायोजित है जो पूरी दुनिया में आतंकवाद का समर्थन के रूप में कुख्यात है।'

पाकिस्तान की UNSC को लिखे चिट्ठी में नाम आने के बाद आया राहुल गांधी का बड़ा बयान

पाकिस्तान की UNSC को लिखे चिट्ठी में नाम आने के बाद आया राहुल गांधी का बड़ा बयान

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र को एक चिट्ठी लिखी है जिसमें राहुल गांधी के नाम का भी जिक्र करते हुए कहा गया है कि उन्होंने भी घाटी के हालात पर चिंता जताई है। पाकिस्तान ने अपनी चिट्ठी में राहुल गांधी के उस बयान का जिक्र किया है जिसमें उन्होंने कहा है कि कश्मीर में लोग मर रहे हैं।

इस ख़त में जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम और पीडीपी चीफ महबूबा मुफ़्ती समेत नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला का नाम भी शामिल है। महबूबा के हवाले से लिखा गया है कि इन नेताओं ने आर्टिकल 370 हटाने को कश्मीर के लिए 'काला दिन' करार दिया है। इसमें आरोप लगाया गया है कि इन दोनों नेताओं समेत करीब 2300 और लोगों को भी कश्मीर में नज़रबंद किया गया है।