नाटककार मुद्रा राक्षस का निधन

लखनऊ: नाट्य लेखक और निर्देशक मुद्राराक्षस का सोमवार को यहां लम्बी बीमारी के बाद निधन हो गया। 83 साल के साहित्यकार कई बीमारियों से ग्रस्त थे। दोपहर को तबीयत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल ले जाया

India TV News Desk India TV News Desk
Published on: June 13, 2016 17:15 IST
Mudra Rakchas- India TV Hindi
Mudra Rakchas

लखनऊ: नाट्य लेखक और निर्देशक मुद्राराक्षस का सोमवार को यहां लम्बी बीमारी के बाद निधन हो गया। 83 साल के साहित्यकार कई बीमारियों से ग्रस्त थे। दोपहर को तबीयत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल ले जाया जा रहा था लेकिन रास्ते में ही उनका निधन हो गया।

मुद्राराक्षस ने 10 से ज्यादा नाटक, 12 उपन्यास, पांच कहानी संग्रह, तीन व्यंग्य संग्रह, तीन इतिहास किताबें और पांच आलोचना सम्बन्धी पुस्तकें लिखी हैं। इसके अलावा उन्होंने 20 से ज्यादा नाटकों का निर्देशन भी किया। उन्‍होंने ज्ञानोदय और अनुव्रत जैसी तमाम प्रतिष्ठित साहित्यिक पत्रिकाओं का सम्पादन भी किया है।

मुद्राराक्षस अकेले ऐसे लेखक हैं, जिनके सामाजिक सरोकारों के लिए उन्हें जन संगठनों द्वारा सिक्कों से तोलकर सम्मानित किया गया। विश्व शूद्र महासभा द्वारा 'शूद्राचार्य' और अंबेडकर महासभा द्वारा उन्हें 'दलित रत्न' की उपाधियाँ प्रदान की गईं।

मुद्राराक्षस के साहित्य का अंग्रेजी सहित दूसरी भाषाओं में अनुवाद हुआ है।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
gujarat-elections-2022