MP News : उज्जैन के महाकाल कॉरिडोर का नाम बदला, जानिए सीएम शिवराज ने क्या ऐलान किया

MP News : 793 करोड़ की लागत से बन रहे महाकाल कॉरिडोर के निर्माण के पहले चरण के उद्घाटन में पीएम मोदी 11 अक्टूबर को आ रहे हैं।

Anurag Amitabh Reported By: Anurag Amitabh @@anuragamitabh
Updated on: September 27, 2022 14:51 IST
MP Cabinet Meeting- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV MP Cabinet Meeting

Highlights

  • CM शिवराज ने उज्जैन में बुलाई कैबिनेट बैठक में किया ऐलान
  • पीएम मोदी 11 अक्टूबर करेंगे 'महाकाल लोक' का उद्घाटन

MP News : काशी कॉरिडोर की तर्ज पर बन रहे उज्जैन के महाकाल कॉरिडोर का नया नाम श्री महाकाल लोक होगा। उज्जैन में बुलाई कैबिनेट बैठक में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने यह ऐलान किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका उद्घाटन करेंगे। 

पीएम मोदी 11 अक्टूबर को करेंगे उद्घाटन

793 करोड़ की लागत से बन रहे महाकाल कॉरिडोर के निर्माण के पहले चरण के उद्घाटन में पीएम मोदी 11 अक्टूबर को आ रहे हैं।तैयारी लगभग पूरी हो चुकी हैं पीएम के आगमन और कॉरिडोर की व्यवस्थाओं समीक्षा के लिए एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कैबिनेट की बैठक उज्जैन में बुलाई।इसी दौरान मंत्रिमंडल के सदस्य मंत्रियों को जानकारी देते हुए सीएम ने बताया कि अब महाकाल कॉरिडोर को श्री महाकाल लोक के नाम से जाना जाएगा। इस दौरान मंत्रिमंडल की बैठक में महाकाल की तस्वीर सामने रखी गई थी शिवराज सिंह चौहान बगल में और तमाम मंत्री सामने बैठे हुए थे।

उज्जैन में महाकाल की तस्वीर के सामने हुई कैबिनेट बैठक 

उज्जैन में महाकाल की तस्वीर के सामने हुई कैबिनेट की बैठक से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रियों को संबोधित करते हुए कहा-' महाकाल महाराज से प्रार्थना है कि वो सभी प्रदेशवासियों पर कृपा बरसाएं, आशीर्वाद दें और भौतिकता की अग्नि में दग्ध विश्व मानवता को हमारा देश शाश्वत शांति के पथ का दिग्दर्शन कराएं, यही मंगल कामना है। महाकाल महाराज ही सरकार हैं, यहां के राजा हैं, इसलिए आज महाकाल महाराज की धरती पर हम सभी सेवक बैठक कर रहे हैं।' 

यह ऐतिहासिक पल है-शिवराज सिंह चौहान

सीएम शिवराज ने कहा-'यह ऐतिहासिक पल है हम सभी के लिए। हमने कल्पना की थी कि महाकाल महाराज के परिसर का विस्तार किया जाएगा। हमने प्रारम्भिक चरण में नागरिकों से चर्चा की, मंदिर समिति के सदस्यों से चर्चा की और उनके सुझावों को लेकर ही हमने योजना बनाई। एक साल में डीपीआर प्रस्तुत हुई, प्रथम चरण के टेंडर हमने चुनाव पूर्व 2018 में बुलाए। सरकार बदलने के कारण काम सुप्तावस्था में चला गया लेकिन हमने अपनी सरकार बनते ही इसकी समीक्षा की।' 

दो चरणों में काम पूरा

शिवराज सिंह चौहान ने कहा-'हमने इसके दो चरण तय किए, प्रथम चरण 351 करोड़ रुपये का था, फिर हमने द्वितीय चरण के लिए 310 करोड़ रुपए स्वीकृत किए। हमने कई मकान विस्थापित किये, लोगों को कष्ट न देते हुए 150 करोड़ रुपये की लागत से उन्हें विस्थापित किया। कई विकास के काम हमने किये हैं। रुद्रसागर को हमने पुनर्जीवित किया है। इसमें क्षिप्रा नदी का पानी रहेगा। मंदिर में लाइटिंग और साउंड सहित महाकाल पथ का निर्माण किया। दूसरे चरण में भी कई यहां काम पूर्ण होने हैं। ये सभी कार्य महाकाल महाराज ही करवा रहे हैं।' 

महाकाल परिसर 'महाकाल लोक' के नाम से जाना जाएगा

शिवराज सिंह चौहान ने कहा- हमारे लिए गर्व का विषय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी 11 अक्टूबर को प्रथम चरण का उद्घाटन करेंगे। मध्यप्रदेश की प्रगति और विकास सहित जनता के कल्याण के लिए हमें विचार आया कि महाकाल महाराज की नगरी में बैठक की जाए।  लगभग 200 वर्षो बाद ऐसा पहली बार मौका आया है कि सरकार सेवक के रूप में उज्जैन में बैठक कर रही है। आज हमारा पहला निर्णय यही है कि महाकाल परिसर 'महाकाल लोक' के नाम से जाना जाएगा। आज हम एक सैद्धांतिक फैसला करते हैं कि नर्मदा जी का जल सदैव क्षिप्रा जी में आएगा।फ़ैक्टरीज़ का जो दूषित जल है, उसको डायवर्ट करने का काम चल रहा है। क्षिप्रा नदी किनारे रिवर फ्रंट भी विकसित किया जाएगा जिससे उज्जैन का अलग रूप निखरेगा।  यहां दादा की सवारी निकलती है तो पुलिस बैंड भी निकलता है। हम महाकाल पुलिस बैंड प्रारंभ करेंगे जिनका उपयोग अनेक त्योहारों और पर्व पर किया जाएगा। इसमें 36 नये पदों का सृजन किया जाएगा।

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें मध्य-प्रदेश सेक्‍शन