Rajasthan Political Crisis: खाचर‍ियावास बोले- राजस्थान में बीजेपी का खेल शुरू है, आलाकमान का फैसला मान्‍य होगा

Rajasthan Political Crisis: मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्‍यक्ष पद का चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद राज्‍य में मुख्‍यमंत्री बदले जाने की अटकलें चल रही हैं। खाचर‍ियावास ने कहा, विधायकों की बात को सुना जाना चाहिए, पार्टी नेतृत्‍व पर हमें भरोसा है।

Malaika Imam Edited By: Malaika Imam @MalaikaImam1
Updated on: September 27, 2022 17:17 IST
Pratap singh khachariyawas- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO Pratap singh khachariyawas

Highlights

  • 'कांग्रेस सरकार को ग‍िराने के षडयंत्र में लग गई है बीजेपी'
  • 'सोनिया गांधी को कार्यकर्ता अपनी मां के समान मानता है'
  • राजेंद्र गुढ़ा ने पायलट को CM बनाए जाने की वकालत की

Rajasthan Political Crisis: राजस्‍थान में कांग्रेस में जारी राजनीति‍क सरगर्मियों के बीच राज्‍य के खाद्य मंत्री प्रताप सिंह खाचर‍ियावास ने मंगलवार को आरोप लगाया क‍ि भारतीय जनता पार्टी (BJP) फिर से राज्‍य की कांग्रेस सरकार को ग‍िराने के षडयंत्र में लग गई है। वहीं, राजस्‍थान के ग्रामीण विकास राज्य मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने एक बार फिर सच‍िन पायलट को मुख्‍यमंत्री बनाए जाने की खुलकर वकालत की है। 

खाचर‍ियावास ने कहा, "राजस्‍थान में प्रवर्तन निदेशालय (ED), आयकर विभाग (IT), सीबीआई (CBI) के लोग बैठे हैं। बीजेपी का खेल शुरू हो चुका है। बीजेपी राजस्‍थान की सरकार को फिर ग‍िराने के षडयंत्र में फिर लग गई है।" उन्‍होंने जयपुर में संवाददाताओं से कहा क‍ि मौजूदा राजनीत‍िक घटनाक्रम में आलाकमान जो भी फैसला करेगा, वह सबको मान्‍य होगा। 

विधायकों की बात को सुना जाना चाहिए- खाचर‍ियावास 

गौरतलब है कि मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्‍यक्ष पद का चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद राज्‍य में मुख्‍यमंत्री बदले जाने की अटकलें चल रही हैं। खाचर‍ियावास ने कहा, "विधायकों की बात को सुना जाना चाहिए। पार्टी नेतृत्‍व पर हमें भरोसा है। सोनिया गांधी को तो देश का एक एक कांग्रेस कार्यकर्ता अपनी मां के समान मानता है। मां हमेशा न्‍याय करती है, अन्‍याय नहीं करती।" 

Sonia Gandhi And Ashok Gehlot

Image Source : FILE PHOTO
Sonia Gandhi And Ashok Gehlot

'नेतृत्‍व एवं गहलोतजी जो फैसला करेंगे वह हमें मंजूर होगा'

गहलोत समर्थक विधायकों के विधायक दल की बैठक से इतर बैठक किए जाने पर खाचर‍ियावास ने कहा, "व‍िधायकों का कहना है कि जब उन्‍हें पता चला कि (2020 में मुख्‍यमंत्री गहलोत के खिलाफ) बगावत करने वाले 19 लोगों में कोई मुख्‍यमंत्री बनने जा रहा है, तो उनमें गुस्‍सा था। उन्‍होंने अपना इस्‍तीफा विधानसभा अध्‍यक्ष डॉ सीपी जोशी को सौंपा। फिर भी हमारे प्रभारी, नेतृत्‍व एवं अशोक गहलोतजी जो फैसला करेंगे वह हमें मंजूर होगा, ऐसा कोई झगड़ा नहीं है।" 

बैठक सीएम निवास पर थी, गहलोत के वफादार विधायक नहीं पहुंचे

गौरतलब है कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक रविवार रात को मुख्‍यमंत्री निवास पर होनी थी, लेकिन गहलोत के वफादार विधायक इसमें नहीं आए। इन विधायकों ने संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल के बंगले पर बैठक की और फिर वहां से विधानसभा अध्‍यक्ष डॉ सीपी जोशी से म‍िलने गए और अपने इस्‍तीफे उन्‍हें सौंपे। 

बैठक में भाग लेने आए पार्टी प्रभारी अजय माकन ने इसे अनुशासनहीनता बताया। इस बीच, ताजा घटनाक्रम को लेकर बयानबाजी का दौर जारी है। राजस्‍थान के ग्रामीण विकास राज्य मंत्री गुढ़ा ने पायलट को मुख्‍यमंत्री बनाए जाने का समर्थन किया। पायलट के मुख्‍यमंत्री बनने की अटकलों पर उन्‍होंने कहा कि जो भी फैसला आलाकमान करेगा उसको मानेंगे।

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें राजस्थान सेक्‍शन