ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विषय

ye public hai sab jaanti hai वीडियो

UP Election 2022 : Mathura में SP-RLD Vs BJP में से कौन जीतेगा? | Public Opinion | EP. 82

UP Election 2022 : Mathura में SP-RLD Vs BJP में से कौन जीतेगा? | Public Opinion | EP. 82

समाचार पत्रिका | Jan 20, 2022, 08:06 PM IST

विशाल मंदिरों और सुंदर धार्मिक संरचनाओं से लेस Mathura देश के लोकप्रिय धार्मिक स्थलों में से एक है. पौराणिक कथाओं के अनुसार मथुरा में ही Lord Krishna का जन्म हुआ था. हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु बृज भूमि में भगवान कृष्ण के दर्शन करने के लिए यहां आते हैं. जन्माष्टमी, बसंत पंचमी, होली और दीपावली जैसे त्योहारों में बृज की एक अनोखी छठा ही देखने को मिलती है. सांस्कृतिक और धार्मिक महत्व के अलावा मथुरा का राजनीतिक महत्व किसी से छिपा हुआ नहीं है. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक गहमागहमी बढ़ चुकी है. उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में Chata, Mant, Goverdhan, Mathura, Baldeo 5 विधानसभा सीटें आती हैं. 2017 के विधानसभा चुनाव में मथुरा की पांच में से 4 विधानसभा सीटों पर BJP ने कब्जा किया था. केवल मांट विधानसभा सीट को BSP अपने कब्जे में करने में कामयाब रही थी. इस बार मथुरा जिले की सभी पांचों सीटों पर वोटिंग 10 फरवरी को कराई जाएगी. इस बार जिले के लोगों की नजर मथुरा विधानसभा सीट पर है. इसका मुख्य कारण यहां से SP-RLD Alliance ने सादाबाद के पूर्व विधायक देवेंद्र अग्रवाल को उम्मीदवार बनाया है. उनका मुकाबला प्रदेश के ऊर्जा मंत्री Shrikant Mishraसे होगा. मथुरा की सभी पांचों सीट पर किस दल का उम्मीदवार चुनाव जीतेगा यह तो चुनाव के बाद परिणाम में पता चलेगा. सभी दलों ने चुनाव में जीत के लिए अपनी कमर कस ली है. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की मथुरा विधानसभा क्षेत्र की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

यूपी चुनाव 2022: क्या हैं गन्ना किसान और चीनी मिल मजदूरों की तकलीफ? | Public Opinion | EP.78

यूपी चुनाव 2022: क्या हैं गन्ना किसान और चीनी मिल मजदूरों की तकलीफ? | Public Opinion | EP.78

समाचार पत्रिका | Jan 20, 2022, 05:20 PM IST

Uttar Pradesh में गन्ना Farmers और चीनी मिल हमेशा से ही सभी दलों के लिए एक अहम चुनावी मुद्दा रहा है. कुछ चीनी मिलों को छोड़ दें तो आजादी के बाद से लेकर अब तक देश में कई चीनी मिले बंद हो चुकी हैं. कई बंद होने की कगार पर हैं. जो चल भी रही उनकी हालत बहुत अच्छी नहीं है. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव (UP Assembly Elections) की तारीखों का एलान कर दिया गया है. इस बार प्रदेश में 7 चरणों में मतदान होगा. सभी दल जीत के लिए सियासी रणनीति बनाने में लग चुके हैं. ऐसे में गन्ना किसान और चीनी मिलों से जुड़े मुद्दों को भुलाया नहीं जा सकता. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम ने Najibabad Sugar Mill, Bijnor पहुंची. जहां चीनी बनाने की प्रक्रिया को जानने की कोशिश की. साथ ही वहां काम करने वाले मजदूरों और गन्ना किसानों और इस कारोबार से जुड़े लोगों ने आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर अपनी बात रखी.

यूपी चुनाव 2022 : क्या हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा अलीगढ़ का ताला कारोबार? | Public Opinion | EP.79

यूपी चुनाव 2022 : क्या हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा अलीगढ़ का ताला कारोबार? | Public Opinion | EP.79

समाचार पत्रिका | Jan 20, 2022, 05:20 PM IST

Uttar Pradesh Assembly Election 2022 के लिए सभी दलों ने तैयारियां शुरु कर दी है. लेकिन इस सियासी उठापटक के बीच Aligarh का ताला व्यापार की अपनी मुश्किलें हैं. जिस तरफ किसी दल का ध्यान नहीं जाता. बीते दो सालों से Covid Pendemic के कारण वैश्वविक मंदी की मार झेल रहा अलीगढ़ का ताला कारोबार आज अपने सबसे मुश्किल दौर से गुजर रहा है. बीते कुछ सालों में ताला बनाने में इस्तेमाल होने वाली धातुओं के दाम 15-35 फीसदी तक बढ़ गए हैं. कोरोना संक्रमण के चलते लागत लगातार बढ़ रही है लेकिन कारोबार निरंतर घट रहा है. कारोबारियों को अब ऑर्डर कम मिलने लगे हैं. इस कारोबार से जुड़े लोगों की माने तो अलीगढ़ में 5 हजार से भी अधिक ताला बनाने वाली यूनिट हैं. जिनमें लाखों लोगों को रोजगार मिलता है. अलीगढ़ ताला उद्योग (Aligarh Lock Industry) से जुड़े लोग इस बार विधानसभा चुनाव में किन मुद्दों को लेकर वोटिंग करेंगे. इन सब सवालों का जवाब खोजने के लिए 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की अलीगढ़ के ताला कारोबार से जुड़े लोगों के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने कारोबार और आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

यूपी चुनाव 2022: क्या साहिबाबाद विधानसभा सीट पर फिर से खिलेगा कमल? | Public Opinion | EP. 80

यूपी चुनाव 2022: क्या साहिबाबाद विधानसभा सीट पर फिर से खिलेगा कमल? | Public Opinion | EP. 80

समाचार पत्रिका | Jan 20, 2022, 04:27 PM IST

उत्तर प्रदेश की सभी 403 Assembly Seats के लिए चुनाव तारीखों का एलान कर दिया गया है. इस बार प्रदेश में 7 phases में चुनाव होगा. ऐसे में उत्तर प्रदेश की सबसे बड़ी Sahibabad Assembly Seat पर मुकाबला भी रोचक होने वाला है. इस विधानसभा क्षेत्र में कुल साढ़े आठ लाख वोटर हैं. 2008 में परिसीमन के बाद इसे विधानसभा सीट बनाया गया और 2012 में पहली बार साहिबाबाद विधानसभा सीट पर चुनाव हुआ. 2012 में BSP के अमरपाल यहां से विधायक चुने गए. लेकिन 2017 में BJP ने बसपा से यह सीट छीन ली. 2017 में भाजपा के सुनील कुमार शर्मा जीतकर विधानसभा पहुंचे. इस बार भाजपा पर साहिबाबाद विधानसभा सीट पर जीत दोहराने का दबाव होगा. वहीं दूसरी तरफ बसपा, SP और Congress समेत तमाम दल भाजपा को साहिबाबाद सीट से उखाड़ फेकने की कोशिश करेंगे. इस बार साहिबाबाद विधानसभा सीट पर वोटिंग 10 फरवरी को होगी. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की Ghaziabad जिले की साहिबाबाद विधानसभा क्षेत्र की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

यूपी चुनाव 2022 : क्या नोएडा में जीत की हैट्रिक लगा पाएगी BJP? | Public Opinion | EP. 81

यूपी चुनाव 2022 : क्या नोएडा में जीत की हैट्रिक लगा पाएगी BJP? | Public Opinion | EP. 81

समाचार पत्रिका | Jan 20, 2022, 04:40 PM IST

Uttar Pradesh Assembly Election 2022 की तारीखों का एलान हो चुका है. इसी के साथ सियासी पारी भी चढ़ने लगा है. उत्तर प्रदेश विधानसभा में Noida विधानसभा सीट की अपनी खासियत है. यह प्रदेश की हाईप्रोफाइल सीटों में शुमार है. फिलहाल इस सीट पर BJP का कब्जा है. रक्षा मंत्री Rajnath Singh के बेटे Pankaj Singh नोएडा विधानसभा सीट से मौजूदा विधायक हैं. 2012 में भी इस सीट पर भाजपा के Dr. Mahesh Sharma चुनाव जीतकर विधायक बने थे. लेकिन 2014 लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद उन्हें नोएडा विधानसभा सीट को छोड़ना पड़ा. भाजपा ने इस बार भी विधानसभा चुनाव के लिए पंकज सिंह को टिकट दिया है. नोएडा विधानसभा सीट पर इस बार चुनाव 10 फरवरी को कराया जाएगा. चुनाव में किस पार्टी का उम्मीदवार जीतता इसका फैसला चुनाव परिणाम घोषित होने पर चल जाएगा. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की गौतम बुद्ध नगर जिले की नोएडा विधानसभा क्षेत्र की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

यूपी चुनाव 2022 : मैनपुरी में SP का ही क्यों बजता है डंका?  | Public Opinion | EP. 83

यूपी चुनाव 2022 : मैनपुरी में SP का ही क्यों बजता है डंका? | Public Opinion | EP. 83

समाचार पत्रिका | Jan 20, 2022, 03:54 PM IST

उत्तर प्रदेश की Mainpuri Assembly Seat को Samajwadi Party (SP) का गढ़ माना जाता है. मैनपुरी समाजवादी पार्टी के संस्थापक Mulayam Singh Yadav का गृह जिला भी है. मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र में समाजवादी पार्टी का दबदबा है. यही कारण है कि 2014 और 2019 में प्रचंड मोदी लहर का इस सीट पर कोई असर नहीं पड़ा. 2017 के विधानसभा चुनाव में सपा के Raj Kumar Yadav उर्फ राजू यादव विजयी हुए. मैनपुरी विधानसभा क्षेत्र में 21 फीसदी यादव मतदाता हैं. उनके बाद 15 फीसदी शाक्य, 11 फीसदी ठाकुर, 8 फीसदी ब्राह्मण, 15 फीसदी एससी और छह फीसदी मुस्लिम मतदाता हैं. 2022 उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान हो चुका है. इस बार प्रदेश में 7 चरणों में चुनाव होगा. मैनपुरी विधानसभा सीट पर 20 फरवरी को वोटिंग होगी. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की मैनपुरी जिले की मैनपुरी सदर विधानसभा सीट की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

यूपी चुनाव 2022: चुनाव में हुसैनगंज की जनता किन मुद्दों पर करेगी वोट? | Public Opinion | EP. 71

यूपी चुनाव 2022: चुनाव में हुसैनगंज की जनता किन मुद्दों पर करेगी वोट? | Public Opinion | EP. 71

समाचार पत्रिका | Jan 18, 2022, 07:00 PM IST

2008 में Husainganj को नया विधानसभा सीट बनाया गया. यह क्षेत्र धार्मिक कारणों से भी प्रसिद्ध है. ऐसा माना जाता है कि महर्षि भृगुजी ने भिठौरा गंगा घाट के किनारे तपस्या की थी. जिसके कारण इसे छोटा काशी (Chota Kashi)भी कहा जाता है. हुसैनगंज विधानसभा सीट पर अल्पसंख्यक वर्ग के मतदाता सबसे अधिक हैं. उनके बाद Maurya और Lodhi वर्ग के लोग आते हैं. इसलिए इस सीट पर किसी भी दल के उम्मीदवार की हार या जीत का फैसला अल्पसंख्यक और ओबीसी मतदाता मिलकर करते हैं. 2017 के विधानसभा चुनाव में BJP के रणवेंद्र प्रताप सिंह विजयी हुए. रणवेंद्र प्रताप सिंह वर्तमान योगी सरकार में खाद्य एवं रशद राज्य मंत्री हैं. Uttar Pradesh Election 2022 की तारीखों का एलान कर दिया गया है. हुसैनगंज विधानसभा सीट पर वोटिंग 23 फरवरी को होगी. जिसे देखते हुए सभी दलों ने अपनी चुनावी तैयारियों को तेज कर दिया है. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की फतेहपुर जिले की हुसैनगंज विधानसभा सीट की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

यूपी चुनाव 2022 : क्या दादरी में फिर से खिल पाएगा BJP का कमल? | Public Opinion | EP. 70

यूपी चुनाव 2022 : क्या दादरी में फिर से खिल पाएगा BJP का कमल? | Public Opinion | EP. 70

समाचार पत्रिका | Jan 18, 2022, 04:40 PM IST

दादरी विधानसभा उत्तर प्रदेश के Gautam Budha Nagar का हिस्सा है. दादरी विधानसभा gurjar बाहुल्य सीट होने के कारण हर दल इस सीट पर गुर्जर प्रत्याशी पर ही दांव लगाता है. 2017 में भाजपा के Tejpal Nagar ने इस सीट पर जीत हासिल की थी. दादरी विधानसभा सीट पर अब तक 16 विधानसभा चुनाव हो चुके हैं. जिनमें Congress-4, BJP-3, SP-2, LKD-1 और एक बार निर्दलीय उम्मीदवार ने भी यहां बाजी मारी. चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की तारीखों का एलान कर दिया है. उत्तर प्रदेश में इस बार 7 चरणों में वोटिंग होगी. वोटों की गिनती 10 मार्च को होगी. भाजपा ने इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए तेजपाल नागर को टिकट देकर फिर से चुनावी मैदान में उतारा है. तेजपाल नागर 2017 में BSP छोड़कर BJP में आए थे और उन्होंने यहां जीत हासिल की थी. पार्टी ने इस बार भी उनपर विश्वास जताया है. इस बार तेजपाल नागर दादरी में फिर से कमल खिलाने में कामयाब हो पाते हैं अथवा नहीं यह तो चुनाव परिणामों के बाद ही पता चलेगा. इस बार दादरी विधानसभा सीट पर 10 फरवरी को वोटिंग होगी. चुनाव के नतीजे 10 मार्च को घोषित किए जाएंगे. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की गौतम बुद्ध जिले की दादरी विधानसभा सीट की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

यूपी चुनाव 2022 : बलिया में कैसा है चुनावी समीकरण?  | Public Opinion | EP. 69

यूपी चुनाव 2022 : बलिया में कैसा है चुनावी समीकरण? | Public Opinion | EP. 69

समाचार पत्रिका | Jan 18, 2022, 02:20 PM IST

बांसडीह विधानसभा सीट (Bansdih Assembly Seat) उत्तर प्रदेश के Ballia जिले के अंतर्गत आती है. यहां अधिकांश आबादी कृषि पर निर्भर है. बांसडीह विधानसभा सीट Congress का गढ़ रही है. कांग्रेस नेता बच्चा पाठक 7 बार इस सीट से विधायक रहे हैं. बांसडीह विधानसभा सीट पर हर जाति वर्ग के लोग रहते हैं. लेकिन पिछड़ा वर्ग के मतदाताओं की संख्या सबसे अधिक है. इस सीट पर राजभर मतदाता भी काफी अच्छी तादाद में है. 2017 कि विधानसभा चुनाव में SP के रामगोविंद चौधरी में बांसडीह विधानसभा सीट पर जीत हासिल की थी. उन्होंने इस सीट पर BJP और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी गठबंधन से Om Prakash Rajbhar के पुत्र अरविंद राजभर को हराया था. इसी सीट पर भाजपा की बागी केतकी सिंह ने निर्दलीय चुनाव लड़ा था. लेकिन इस बार चुनावी समीकरण बिल्कुल बदल चुका है. ओमप्रकाश राजभर के नेतृत्व वाली सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए SP के साथ गठबंधन किया है. इस सीट पर किस पार्टी का उम्मीदवार जीतेगा यह तो समय ही बताएगा. फिलहाल सभी दलों ने अपनी तैयारियां तेज कर दी है. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की तारीखों का एलान कर दिया गया है. बांसडीह विधानसभा सीट पर वोटिंग 3 मार्च को होगी. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की बलिया जिले की बांसडीह विधानसभा सीट की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

यूपी चुनाव 2022 : बुढ़ाना की जनता ने बताया किस दल का नेता जीतेगा? | Public Opinion | EP. 68

यूपी चुनाव 2022 : बुढ़ाना की जनता ने बताया किस दल का नेता जीतेगा? | Public Opinion | EP. 68

समाचार पत्रिका | Jan 18, 2022, 02:20 PM IST

उत्तर प्रदेश के Muzaffarnagar के अंतर्गत आती है बुढ़ाना विधानसभा सीट (Budhana Assembly Seat). बुढ़ाना विधानसभा सीट में सिसौली गांव पड़ता है. सिसौली को किसानों की राजधानी भी कहा जाता है. सिसौली वही गांव है जहां किसान नेता Mahendra Singh Tikait का जन्म हुआ था. महेंद्र टिकैत के बेटे Rakesh Tikait सिसौली गांव से ही है जिन्होंने नए कृषि कानूनों के खिलाफ एक साल तक किसान आंदोलन (Farmer Protest) का नेतृत्व किया. इसके अलावा बुढ़ाना विधानसभा क्षेत्र यहां होने वाली गन्ने की पैदावार के लिए भी पहचाना जाता है. बुढ़ाना विधानसभा सीट 2012 में असित्व में आई. इस विधानसभा सीट पर मुस्लिम, दलित, जाट, कश्यप, त्यागी और पाल मतदाताओं की बहुलता है. 2012 में इस सीट पर पहली बार विधानसभा चुनाव हुए थे. जिसमें SP के नवाजिश आलम को जीत मिली थी. उन्होंने RLD के राजपाल बालियान को हराया था. लेकिन 2017 के विधानसभा चुनाव में BJP के उमेश मलिक ने इस सीट पर जीत दर्ज की. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की तारीखों का एलान कर दिया गया है. बुढ़ाना विधानसभा सीट पर वोटिंग 10 फरवरी को होगी. जिसे देखते हुए सभी दलों ने अपनी चुनावी तैयारियों को तेज कर दिया है. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की मुजफ्फरनगर जिले की बुढ़ाना विधानसभा सीट की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

यूपी चुनाव 2022 : टूंडला की जनता हर पांच साल में क्यों बदल देती है अपना विधायक?| EP. 67

यूपी चुनाव 2022 : टूंडला की जनता हर पांच साल में क्यों बदल देती है अपना विधायक?| EP. 67

समाचार पत्रिका | Jan 18, 2022, 11:00 AM IST

उत्तर प्रदेश में इस साल विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं. 2017 के विधानसभा चुनाव में टूण्डला सीट (Tundla Seat, Firozabad) से BJP के सत्पाल सिंह बघेल चुनाव जीतकर विधायक बने थे. उन्होंने BSP के राकेश बाबू को चुनाव हराया था. राकेश बाबू लगातार 10 साल तक टूण्डला सीट पर बसपा के विधायक रहे थे. लेकिन 2019 में इस सीट से विधायक चुने गए सत्यपाल सिंह बघेल Agra से लोकसभा का चुनाव लड़कर सांसद बन गए. जिसके बाद यह सीट खाली हो गयी थी. 2020 में इस सीट पर उपचुनाव हुआ. भाजपा ने प्रेमपाल सिंह धनगर को चुनावी मैदान में उतारा. प्रेमपाल सिंह धनगर ने उपचुनाव में जीत हासिल कर इस सीट को दोबारा भाजपा की झोली में डाला. टूण्डला सुरक्षित विधानसभा सीट है. यहां एक बड़ा भाग नौकरी-पेशा लोगों का है. इस विधानसभा सीट में पर कभी भी किसी एक दल का कब्जा नहीं रहा है. हर पांच साल में टूण्डला विधानसभा के वोटर अपना विधायक बदल देते हैं. उत्तर प्रदेश चुनाव 2022 की तारीखों का एलान हो चुका है. टूण्डला विधानसभा सीट पर 20 फरवरी को चुनाव होगा. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की Firozabad की टूण्डला विधानसभा सीट की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

यूपी चुनाव 2022: जानें क्या चाहते हैं मथुरा के युवा? | Public Opinion | EP. 66

यूपी चुनाव 2022: जानें क्या चाहते हैं मथुरा के युवा? | Public Opinion | EP. 66

समाचार पत्रिका | Jan 18, 2022, 11:00 AM IST

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) को लेकर राजनीतिक गहमागहमी बढ़ चुकी है. उत्तर प्रदेश के Mathura जिले में छाता, मांट, गोवर्धन, मथुरा, बलदेव 5 विधानसभा सीटें आती हैं. 2017 के विधानसभा चुनाव में मथुरा की पांच में से 4 विधानसभा सीटों पर भाजपा ने कब्जा किया था. केवल मांट विधानसभा सीट को BSP अपने कब्जे में करने में कामयाब रही थी. मथुरा में हर जाति-वर्ग के लोग रहते हैं. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की तारीखों का एलान हो चुका है. प्रदेश में इस बार चार चरणों में वोटिंग होगी. वोटों की गिनती 10 मार्च को की जाएगी. इस बार मथुरा जिले की सभी पांचों सीटों पर वोटिंग 10 फरवरी को कराई जाएगी. मथुरा की सभी पांचों सीट पर किस दल का उम्मीदवार चुनाव जीतेगा यह तो चुनाव के बाद परिणाम में पता चलेगा. सभी दलों ने चुनाव में जीत के लिए अपनी कमर कस ली है. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की मथुरा जिले की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

UP Election 2022 : BJP ने Loni से नंद किशोर गुर्जर को टिकट देकर गलती तो नहीं कर दी? | EP. 64

UP Election 2022 : BJP ने Loni से नंद किशोर गुर्जर को टिकट देकर गलती तो नहीं कर दी? | EP. 64

समाचार पत्रिका | Jan 17, 2022, 08:20 PM IST

चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की Ghaziabad जिले की लोनी विधानसभा सीट की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

यूपी चुनाव 2022 : बलिया में किसकी है लहर, चुनाव को लेकर क्या बोली जनता? | Public Opinion | EP. 62

यूपी चुनाव 2022 : बलिया में किसकी है लहर, चुनाव को लेकर क्या बोली जनता? | Public Opinion | EP. 62

समाचार पत्रिका | Jan 17, 2022, 03:40 PM IST

देश के पहले स्वतंत्रता सेनानी और 1857 की क्रांति के नायक मंगल पांडेय (Mangal Pandey) का बलिया (Ballia) से गहरा नाता है. मंगल पांडेय बलिया सदर विधानसभा क्षेत्र के गांव नगवां के रहने वाले थे. बलिया सदर विधानसभा सीट की राजनीतिक पृष्ठभूमि की बात करें तो इस सीट पर BJP, SP, BSP के उम्मीदवारों को जीत मिली है. 2017 के विधानसभा चुनाव में BJP के आनंद स्वरूप शुक्ला ने सपा के लक्ष्मण गुप्ता को 40 हजार वोट के अधिक अंतर से हराया था. इस विधानसभा क्षेत्र में हर जाति-वर्ग के लोग रहते हैं. इस विधानसभा क्षेत्र में बलिया शहर के साथ ही कई गांव भी आते हैं. इस विधानसभा क्षेत्र में क्षत्रिय, वैश्य और ब्राह्मण मतदाताओं की बहुलता है. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की तारीखों का एलान कर दिया गया है. बलिया सदर विधानसभा सीट (Ballia Sadar Assembly Seat) पर 3 मार्च को वोटिंग होगी. जिसे लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपनी कमर कस ली है. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की बलिया जिले की बलिया सदर विधानसभा सीट की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

यूपी चुनाव 2022 : मुज़फ्फरनगर की जनता BJP को फिर देगी मौका? | Public Opinion | EP. 60

यूपी चुनाव 2022 : मुज़फ्फरनगर की जनता BJP को फिर देगी मौका? | Public Opinion | EP. 60

समाचार पत्रिका | Jan 17, 2022, 03:23 PM IST

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) की तारीखों के एलान के साथ ही राजनीतिक दलों में सियासी हलचल तेज हो चुकी है. चुनाव के मद्देनजर सभी दलों ने अपनी कमर कस ली है. मुजफ्फरनगर विधानसभा सीट जिले की 6 सीटों में से एक है. फिलहाल इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कपिल देव अग्रवाल मौजूदा विधायक हैं. कपिल देव अग्रवाल योगी सरकार में राज्यमंत्री भी हैं. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए भाजपा ने पहली सूची जारी कर दी है. जिसमें मुजफ्फनगर की सभी छह सीट पर भाजपा ने प्रत्याशी घोषित किए हैं. भाजपा ने इनमें 4 सीटों पर वर्तमान विधायक को टिकट दिया है, जबकि दो नए चेहरों को भी टिकट बांटा गया है. भाजपा ने वर्तमान विधायक एवं राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल को फिर से मौका दिया है. 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में उन्होंने SP के गौरव स्वरूप बंसल को हराया था. इस बार मुजफ्फरनगर विधानसभा सीट पर 10 फरवरी को चुनाव होगा. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की मुजफ्फरनगर विधानसभा सीट की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

यूपी चुनाव 2022 : गौरीगंज की जनता ने बताई नेताओं की हकीकत? | Public Opinion | EP. 61

यूपी चुनाव 2022 : गौरीगंज की जनता ने बताई नेताओं की हकीकत? | Public Opinion | EP. 61

समाचार पत्रिका | Jan 17, 2022, 03:40 PM IST

कभी Congress का गढ़ रही गौरीगंज सीट पर वर्तमान में SP का कब्जा है. 2017 में मोदी लहर भी यहां सपा की साइकल को रोक नहीं पाई थी. सपा के राकेश सिंह ने इस सीट पर भारी मतों से जीत दर्ज की थी. गौरीगंज विधानसभा सीट (Gauriganj Assembly Seat) उस समय भी चर्चा का केंद्र बनी थी जिस समय यहां से निर्वाचित विधायक राकेश प्रताप सिंह ने Yogi Government का विरोध करते हुए विधायकी से इस्तीफा दे दिया था. वहीं भाजपा 1996 से इस सीट पर जीत दर्ज नहीं कर सकी है. 2022 में इस सीट पर BJP की जीत की मुराद पूरी हो पाती है अथवा उसे अभी और इंतजार करना पड़ेगा. यह तो आने वाला समय ही बताएगा. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान हो चुका है. गौरीगंज विधानसभा सीट पर 27 फरवरी को चुनाव होगा. इसी चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम की गौरीगंज विधानसभा सीट की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

UP Election 2022: किसानों से जानें आखिर RLD का अभेद्य किला क्यों है Chhaprauli| Public Opinion | EP. 59

UP Election 2022: किसानों से जानें आखिर RLD का अभेद्य किला क्यों है Chhaprauli| Public Opinion | EP. 59

समाचार पत्रिका | Jan 16, 2022, 08:13 PM IST

इस चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम बागपत जिले की छपरौली विधानसभा क्षेत्र की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

UP Election 2022: जानें क्या चाहती है Chhata की जनता? | Public Opinion | EP. 58

UP Election 2022: जानें क्या चाहती है Chhata की जनता? | Public Opinion | EP. 58

समाचार पत्रिका | Jan 16, 2022, 04:18 PM IST

चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम मथुरा जिले की छाता विधानसभा सीट की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

UP Election 2022: जानिए Firozabad के Muslim Voters का मिजाज़ | Public Opinion | EP. 57

UP Election 2022: जानिए Firozabad के Muslim Voters का मिजाज़ | Public Opinion | EP. 57

समाचार पत्रिका | Jan 16, 2022, 02:40 PM IST

चुनावी माहौल में लोग क्या सोचते हैं. अपनी बागडोर किस पार्टी के हाथों सौपने जा रहे हैं. इसी का पड़ताल करने Firozabad पहुंची India TV का खास शो ‘ये पब्लिक है सब जानती है’ Ye Public Hai Sab Jaanti Hai की टीम. Indai TV की टीम ने फ़िरोज़ाबाद के मुस्लिम वोटरों से बात-चीत की. 2017 में फिरोजबाद विधानसभा सीट (Firozabad Assembly Seat) से BJP के मनीष असीजा (Manish Asiza) ने लगातार दूसरी बार जीत हासिल की थी. Manish Asiza के अजीम भाई को हराए थे. आपको बता दें फिरोजाबाद में कुल 5 विधनासभा सीटें हैं. 2017 में BJP ने 4 सीटों पर अपना परचम लहराया था. एक सीट सपा (SP) के खाते में गई थी.

UP Election 2022: चुनावी माहौल पर क्या बोले Kairana के गन्ना किसान? | Public Opinion | EP. 56

UP Election 2022: चुनावी माहौल पर क्या बोले Kairana के गन्ना किसान? | Public Opinion | EP. 56

समाचार पत्रिका | Jan 16, 2022, 02:20 PM IST

चुनावी समर के बीच 'इंडिया टीवी (India TV)' का खास कार्यक्रम 'ये पब्लिक है सब जानती है (Ye Public Hai Sab Jaanti Hai)' की टीम शामली जिले की कैराना विधानसभा सीट की जनता के बीच पहुंचा. जहां लोगों ने आगामी चुनाव को लेकर अपने विचार हमारे साथ साझा किए.

और पढ़ें
elections-2022