Bangladesh ferry accident: बांग्लादेश में हिंदू श्रद्धालुओं से भरी नौका पलटना हादसा था या साजिश! जानें कितने भक्तों ने गंवाई जान

Bangladesh ferry accident:उत्तरी बांग्लादेश में दो दिन पहले सदियों पुराने मंदिर के दर्शन के लिये हिंदू श्रद्धालुओं को लेकर जा रही एक नौका के पलटने की घटना में मरने वालों की संख्या अब बढ़कर 64 हो गई है।

Dharmendra Kumar Mishra Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: September 27, 2022 17:11 IST
Bangladesh ferry accident- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Bangladesh ferry accident

Highlights

  • अब तक 64 लोगों के बरामद किए जा चुके शव
  • राहत और बचाव कार्य में हुई देरी
  • नौका से देवी दर्शन को जा रहे थे करीब 150 हिंदू भक्त

Bangladesh ferry accident:उत्तरी बांग्लादेश में दो दिन पहले सदियों पुराने मंदिर के दर्शन के लिये हिंदू श्रद्धालुओं को लेकर जा रही एक नौका के पलटने की घटना में मरने वालों की संख्या अब बढ़कर 64 हो गई है। हालांकि, 20 यात्री अब भी लापता हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार इन नाव में 150 से अधिक लोग सवार थे और रविवार को दुर्गा पूजा उत्सव में शामिल होने जा रहे थे। इसी दौरान नौका हादसे का शिकार हो गई। श्रद्धालु पानी में डूबने लगे। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि हिंदू श्रद्धालुओं से भरी नौका पलटने की घटना महज हादसा थी या कोई बड़ी साजिश!

गौरतलब है कि रविवार को दुर्गा पूजा उत्सव की शुरुआत से पूर्व महालया के मौके पर हिंदू श्रद्धालु बोदेश्वरी मंदिर जा रहे थे, तभी देश के उत्तर-पश्चिमी पंचगढ़ जिले में कोरोटो नदी में, उन्हें ले जा रही नौका पलट गई। बचाव कार्य भी जिस तेजी से किया जाना था, उस अनुसार नहीं किया गया। अगर तत्काल बचाव और राहत कार्य शुरू कर दिया गया होता तो कुछ लोगों की जान बचाई जा सकती थी।  

घटना के तीसरे दिन तेज हुए बचाव के प्रयास

'ढाका ट्रिब्यून अखबार' के अनुसार, स्थानीय अधिकारियों द्वारा तीसरे दिन बचाव के प्रयास तेज  किया। इसके बाद, मंगलवार सुबह देबीगंज और बोडा उपजिला से 14 और शव बरामद किए गए। 'बीडीन्यूज24 डॉटकॉम' ने पंचगढ़ के अतिरिक्त उपायुक्त दीपांकर रॉय के हवाले से कहा कि पिछले दो दिनों में 50 शव बरामद करने के बाद बचाव दल ने मंगलवार को तलाशी अभियान फिर से शुरू किया। प्रत्यक्षदर्शियों का दावा है कि नाव में 150 से अधिक यात्री सवार थे। कुछ लोग तैरकर नदी के किनारे वापस चले गये, लेकिन कई अभी भी लापता हैं। 'ढाका ट्रिब्यून अखबार' ने जांच निकाय के प्रमुख रॉय के हवाले से कहा, ''शुरुआती जांच के मुताबिक, नाव में क्षमता से अधिक लोग सवार थे।

नाव डूबने के अन्य कारण हो सकते हैं
अखबार के अनुसार नाव के डूबने के पीछे अन्य कारण भी हो सकते हैं, लेकिन इसका खुलासा समिति द्वारा अपनी जांच पूरी करने के बाद किया जाएगा।'' खबर के मुताबिक, कम से कम 20 लोग अभी भी लापता हैं। हालांकि, परिजन इलाके में नदी के किनारे कतारों में खड़े हो कर बेसब्री से उनके प्रियजनों के शव पानी से निकाले जाने का इंतजार कर रहे हैं। मगर अभी तक इसमें सफलता नहीं मिल सकी है। नदी में पानी का बहाव काफी तेज है।

अचानक हुई घटना से सवाल
बताया जा रहा है कि नाव में हिंदू परिवार ही सवार थे। पिछले दिनों से जिस तरह से बांग्लादेश में हिंदू और मुस्लिम के बीच तनाव की खबरें आ रही हैं। ऐसे में नौका हादसे में साजिश की बू भी आ रही है। हालांकि यह तो जांच के बाद ही पता चल सकेगा। मगर परिवारजन तरह-तरह की आशंका जाहिर कर रहे हैं। कई हिंदुओं का तो पूरा परिवार ही बच्चों समेत नदी में डूब गया।

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन