Live TV
GO
Advertisement
Hindi News भारत राष्ट्रीय Rajat Sharma Blog: कांवड़ियों को लेकर...

Rajat Sharma Blog: कांवड़ियों को लेकर साम्प्रदायिक तनाव सामाजिक एकता के लिए खतरनाक हो सकता है

कांवड़िये जिन रास्तों से गुजरते हैं उन रास्तों में मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारे भी आते हैं। अगर किसी इलाके के लोग ये कहें कि वो यात्रा को नहीं निकलने देंगे या कांवड़ियों पर पथराव करने लगें, उन्हें पीटने लगे तो यह गलत है।

Rajat Sharma
Rajat Sharma 25 Aug 2018, 17:00:47 IST

राजस्थान के टोंक जिले के कस्बे मालपुरा में लगातार दो दिन साम्प्रदायिक झड़प के बाद कर्फ्यू लगाना पड़ा। गंगाजल लेकर मंदिरों में जा रहे कांवड़ियों पर मुस्लिमों के एक समूह ने हमला कर दिया। मुस्लिम बहुल इलाके से जब कांवड़िये गुजर रहे थे उस समय उनपर पथराव हुआ और कुछ गाड़ियों में आग लगा दी गई। इस घटना में 15 कांवड़िये घायल हो गए। हालात अब नियंत्रण में हैं। ठीक इसी तरह यूपी के बरेली जिले में कांवड़िये मुस्लिम बहुल इलाके से होकर गुजरने के लिए जिद करने लगे। स्थानीय बीजेपी विधायक कांवड़ियों को उस इलाके से गुजरने देने की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। 

सावन महीने में भगवान शिव की पूजा के लिए हर साल कांवड़ यात्रा निकलती है। इस दौरान तीर्थयात्री गंगाजल लेकर पैदल चलते हैं और भगवान शिव पर अर्पित करते हैं। कांवड़िये जिन रास्तों से गुजरते हैं उन रास्तों में मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारे भी आते हैं। वे हिंदू-बहुल और मुस्लिम-बहुल इलाकों से होकर भी गुजरते हैं। अगर किसी इलाके के लोग ये कहें कि वो यात्रा को नहीं निकलने देंगे या कांवड़ियों पर पथराव करने लगें, उन्हें पीटने लगे तो यह गलत है।

इन घटनाओं के बाद बरेली और टोंक के स्थानीय हिंदू नेताओं ने धमकी दी है कि वे मुहर्रम के दौरान 'ताजिया' जुलूस को अपने इलाके से नहीं निकलने देंगे। उन्होंने यह भी कहा कि वे मुसलमानों को खुले में या हिन्दू-बहुल इलाके में नमाज नहीं पढ़ने देंगे। ये दोनों बातें देश के लिए अच्छी नहीं हैं। यह हमारी सामाजिक एकता के ताने-बाने को कमजोर करता है और एक खतरनाक संकेत है। हिंदू और मुस्लिम दोनों समुदाय के नेताओं को सह-अस्तित्व की भावना को समझना चाहिए और शांतिपूर्वक रहते हुए एक-दूसरे को जुलूस निकालने और प्रार्थना करने की इजाजत देनी चाहिए। (रजत शर्मा)

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन