Live TV
GO
Advertisement
Hindi News विदेश एशिया बालाकोट के 2 महीने बाद पाकिस्तान...

बालाकोट के 2 महीने बाद पाकिस्तान का बयान, कहा भारत चाहे तो अपना मीडिया भेज सकता है

बालाकोट को लेकर पाकिस्तान पूरी दुनिया को जो दिखाना चाहता था सिर्फ वहीं चीजें अंतरराष्ट्रीय मीडिया को दिखाई गई थीं, अब 2 महीने बीत जाने के बाद पाकिस्तान बोल रहा है कि भारत चाहे तो अपना मीडिया वहां भेज सकता है

IndiaTV Hindi Desk
IndiaTV Hindi Desk 29 Apr 2019, 16:28:31 IST

रावलपंडी। पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकि ठिकानों पर भारतीय वायुसेना के हमलों के लगभग 2 महीने बाद पाकिस्तान की तरफ से एक और बयान आया है। पाकिस्तान ने कहा कि बालाकोट की सच्चाई जानने के लिए भारत चाहे तो अपना मीडिया वहां भेज सकता है। पाकिस्तान की सेना के आधिकारिक प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने सोमवार को पाकिस्तान के शहर रावलपिंडी में अपने मीडिया को संबोधित करते हुए यह बयान दिया। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आसिफ गफूर बालाकोट से शुरू हुए और फिर पाकिस्तान की GDP का जिक्र करने लगे और पहुंचते-पहुंचते 1971 की भारत-पाकिस्तान जंग तक पहुंच गए।

आसिफ गफूर ने कहा कि बालाकोट को लेकर भारत को अगर अंतरराष्ट्रीय मीडिया पर भरोसा नहीं है तो वह अपना मीडिया वहां भेज सकता है, उनकी सेना भारत के मीडिया के लिए बालाकोट का दौरा कराने को तैयार है।

बालाकोट हमलों के बाद पाकिस्तान की सेना पहले अपने गोदी मीडिया और फिर हमले के 43 दिन बाद कुछ चुनिंदा अंतरराष्ट्रीय मीडिया को लेकर गई थी, 43 दिन तक उन जगहों पर किसी को भी जाने की इजाजत नहीं दी गई थी, ऊपर से पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय मीडिया को बालाकोट में सबकुछ नहीं दिखाया, कई ऐसी जगह थीं जहां पर अंतरराष्ट्रीय मीडिया के जाने पर रोक लगाई गई थी। यानि बालाकोट को लेकर पाकिस्तान पूरी दुनिया को जो दिखाना चाहता था सिर्फ वहीं चीजें अंतरराष्ट्रीय मीडिया को दिखाई गई थीं, अब 2 महीने बीत जाने के बाद पाकिस्तान बोल रहा है कि भारत चाहे तो अपना मीडिया वहां भेज सकता है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में आसिफ गफूर पाकिस्तान को पाक-साफ देश घोषित करते नजर आए और सारा दोष भारत पर थोपते दिखे, ऐसा माना जा रहा है कि आसिफ गफूर ने सोची समझी रणनीति के तहत इस प्रेस कॉन्फ्रेंस को किया, एक तरह से पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय को एक बार फिर से खुद को निर्दोष और असहाय साबित करने का असफल प्रयास किया।

यह भी माना जा रहा है कि आसिफ गफूर खुद को पाकिस्तान की जनता के सामने खुद को नया हीरो साबित करने में लगे हुए हैं। बालाकोट के बादा पाकिस्तानी मीडिया और सोशल मीडिया पर मौजूद पाकिस्तान के युवाओं ने भारत के खिलाफ जो जहर उगला था उसके लिए आसिफ गफूर ने पाकिस्तानी मीडिया और सोशल मीडिया पर एक्टिव पाकिस्तान के युवाओं का धन्यवाद भी किया।

हालांकि इस तरह के तमाम असफल प्रयासों के बाद भी बालाकोट की सच्चाई नहीं बदल सकती। भारत सरकार और भारतीय वायुसेना ने बालाकोट को लेकर अपनी तरफ से जो सबूत दिए हैं उस तरह के कोई भी सबूत पाकिस्तान की तरफ से नहीं आए हैं, पाकिस्तान की तरफ से सिर्फ बयानबाजी हुई है। भारत सरकार का दावा है कि बालाकोट में आतंकी शिवरों पर किए गए हवाई हमलों में आतंकवादियों को भारी नुकसान हुआ है। भारत सरकार की तरफ से कहा गया है कि जिस समय आतंकी शिविर को निशाना बनाया गया, उस समय वहां पर 300 से ज्यादा मोबाइल फोन एक्टिव थे।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन