Live TV
GO
Advertisement
Hindi News पैसा बिज़नेस Saudi Aramco की नजर Reliance के...

Saudi Aramco की नजर Reliance के रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल कारोबार पर, 25% हिस्‍सेदारी खरीदने के लिए कर रही है बातचीत

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस सौदे को लेकर दोनों कंपनियों के बीच जून 2019 में समझौता पत्र पर हस्ताक्षर हो सकते हैं।

India TV Paisa Desk
India TV Paisa Desk 19 Apr 2019, 16:19:55 IST

नई दिल्‍ली। Reliance Industries (आरआईएल) से जुड़ी दो खबरें पूरे देश में चर्चा का विषय बनी हुई हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे ज्‍यादा मुनाफा कमाने वाली सऊदी अरामको भारत की सबसे बड़ी प्राइवेट कंपनी रिलायंस इंडस्‍ट्रीज के रिफाइनिंग और पेट्रो केमिकल कारोबार में 25 प्रतिशत हिस्‍सेदारी का अधिग्रहण करने के लिए गंभीर बातचीत कर रही है। वहीं दूसरी खबर आ रही है कि रिलायंस इंडस्‍ट्रीज की अनुषंगी रिलायंस रिटेल जल्‍द ही खिलौना बनाने वाली प्रसिद्ध कंपनी हैमलीज को खरीद सकती है।

कुछ अखबारों में छपी खबरों के मुताबिक दुनिया की सबसे बड़ी तेल उत्‍पादक कंपनी सऊदी अरामको भारत की सबसे बड़ी निजी रिफाइनिंग कंपनी रिलायंस इंडस्‍ट्रीज के रिफाइनिंग और पेट्रो केमिकल कारोबार में 25 प्रतिशत हिस्‍सेदारी खरीदने के लिए बातचीत कर रही है। खबरों के मुताबिक यह सौदा 10 से 15 अरब डॉलर के बीच होने की संभावना है। रिलायंस इंडस्‍ट्रीज ने इस सौदे पर अभी कोई भी बयान देने से इनकार किया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस सौदे को लेकर दोनों कंपनियों के बीच जून 2019 में समझौता पत्र पर हस्‍ताक्षर हो सकते हैं। रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड के रिफाइनरी और पैटकैम कारोबार का वैल्‍युएशन 55 से 60 अरब डॉलर का है। मुकेश अंबानी के नेतृत्‍व वाली आरआईएल का कुल मार्केट कैप 122 अरब डॉलर है।

उल्‍लेखनीय है कि सऊदी अरामको अपना वैश्विक कारोबार बढ़ाना चाहती है। वहीं आरआईएल दूसरे कारोबार में अपना ध्‍यान लगा रही है। फरवरी में सऊदी प्रिंस मोहम्‍मद बिन सलमान (एमबीएस) ने मुकेश अंबानी से मुलाकात की थी। दोनों की मुलाकात के बाद इस सौदे पर बातचीत शुरू हुई। इस सौदे के लिए बातचीत गोल्‍डमैन साक्‍श की निगरानी में हो रही है।

सऊदी अरामको सऊदी अरब की सरकारी कंपनी है और यह दुनिया की सबसे बड़ी तेल उत्‍पादक कंपनी भी है। 2018 में सऊदी अरामको ने प्रतिदिन 1.36 करोड़ बैरल तेल का उत्‍पादन किया। यह दुनिया की सबसे ज्‍यादा लाभ कमाने वाली कंपनी भी है। सऊदी अरामको ने पिछले साल 7.7 लाख करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया इसकी सालाना आय 25 लाख करोड़ रुपए है।