Live TV
GO
Advertisement
Hindi News पैसा बिज़नेस जियो का कमाल, 2017 में 8.3...

जियो का कमाल, 2017 में 8.3 करोड़ ग्रामीण उपभोक्‍ताओं के पास पहुंचा 4जी कनेक्‍शन

रिलायंस जियो ने भारत में 4जी की पहुंच बढ़ाने में प्रमुख भूमिका निभाई है। मंगलवार को जारी एक नई रिपोर्ट में यह बताया गया है कि दिसंबर 2017 में देश में कुल 23.8 करोड़ 4जी सब्‍सक्राइर्ब्‍स थे, जिसमें से 8.3 करोड़ सब्‍सक्राइर्ब्‍स ग्रामीण इलाको के हैं।

Abhishek Shrivastava
Abhishek Shrivastava 03 Apr 2018, 19:46:58 IST

नई दिल्‍ली। रिलायंस जियो ने भारत में 4जी की पहुंच बढ़ाने में प्रमुख भूमिका निभाई है। मंगलवार को जारी एक नई रिपोर्ट में यह बताया गया है कि दिसंबर 2017 में देश में कुल 23.8 करोड़ 4जी सब्‍सक्राइर्ब्‍स थे, जिसमें से 8.3 करोड़ सब्‍सक्राइर्ब्‍स ग्रामीण इलाको के हैं।

मार्केट रिसर्च फर्म साइबरमीडिया रिसर्च (सीएमआर) के मुताबिक 2020 तक भारत में कुल 4जी सब्‍सक्राइर्ब्‍स में से 35 प्रतिशत लोग 4जी सक्षम फीचर फोन का उपयोग करेंगे और तब तक देश में 4जी उपभोक्‍ताओं की कुल संख्‍या बढ़कर 43.2 करोड़ हो जाएगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में अभी प्रत्‍येक 3 4जी सब्‍सक्राइर्ब्‍स में से एक सब्‍सक्राइर्ब्‍स ग्रामीण क्षेत्र से है। जियो ने अपनी टेक्‍नोलॉजी को बहुत अपडेट किया है क्‍योंकि उन्‍होंने 4जी नेटवर्क पर बहुत अधिक निवेश किया है। दिसंबर 2017 के अंत तक जियो के पास 16 करोड़ सब्‍सक्राइर्ब्‍स थे। जियो की उपभोक्‍ता वृद्धि दर 122 प्रतिशत रही है।

सीएमआर के प्रमुख-नई पहल, फैजल कवूसा ने कहा कि जियो को शहरी इलाकों में सबसे पहले शुरुआत करने का फायदा मिला है और अब प्रतिस्‍पर्धी ऑपरेटर पूरी क्षमता से 4जी नेटवर्क का विस्‍तार करने में जुटे हैं, वे विकास के लिए ग्रामीण बाजारों पर ध्‍यान केंद्रित कर रहे हैं।  

रिसर्च फर्म को उम्‍मीद है कि ग्रामीण भारत में 4जी सर्विस को विस्‍तार देने में  जियोफोन एक महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाएगा। अनुमान के मुताबिक, भारत में 2018 के अंत तक 30 करोड़ 4जी उपभोक्‍ता होंगे, जिसमें से 5.8 करोड़ 4जी फोन का इस्‍तेमाल कर रहे होंगे। रिपोर्ट में कहा गया है कि इस साल के अंत तक शेष 81 प्रतिशत सब्‍सक्राइर्ब्‍स स्‍मार्टफोन पर 4जी का इस्‍तेमाल करेंगे, जिसमें एंड्रॉयड ओरियो गो आधारित स्‍मार्टफोन भी शामिल होगा, यह एक एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्‍टम है जिसे 1जीबी या इससे कम क्षमता वाले स्‍मार्टफोन के लिए बनाया गया है।