Live TV
GO
Advertisement
Hindi News भारत राष्ट्रीय अमर सिंह EXCLUSIVE: ‘राष्ट्रवाद के जनक...

अमर सिंह EXCLUSIVE: ‘राष्ट्रवाद के जनक बनकर उभरे हैं पीएम मोदी, अखिलेश यादव ने किया मेरा अपमान'

कभी समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता और मुलायम सिंह यादव के करीबी रहे अमर सिंह अब BJP की 'रागिनी' गा रहे हैं। हाल ही में उन्होंने BJP के ‘मैं भी चौकीदार’ कैम्पेन को स्वीकार किया और ट्विटर पर अपने नाम के आगे ‘चौकीदार’ लगा लिया।

IndiaTV Hindi Desk
IndiaTV Hindi Desk 25 Mar 2019, 20:25:25 IST

नई दिल्ली: कभी समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता और मुलायम सिंह यादव के करीबी रहे अमर सिंह अब BJP की 'रागिनी' गा रहे हैं। हाल ही में उन्होंने BJP के ‘मैं भी चौकीदार’ कैम्पेन को स्वीकार किया और ट्विटर पर अपने नाम के आगे ‘चौकीदार’ लगा लिया। ऐसे में उन्हें लेकर कई सवाल खड़े होते हैं और उन्हीं सवालों के जवाब India Tv के साथ Exclusive बातचीत में उन्होंने दिए। बातचीत में उन्होंने कहा कि पीएम मोदी राष्ट्रवाद के जनक बनकर उभरे हैं। 

वहीं, जया प्रदा के BJP ने शामिल होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि ‘BJP में शामिल होना कोई कलंक की बात नहीं है, ये तो सौभाग्य की बात है। जिसे ये मौका मिलेगा वो इससे वंचित रहने की कोशिश क्यों करेगा? लेकिन, जया प्रदा BJP में शामिल हो रहीं हैं या नहीं, मैं इसपर कुछ कहना नहीं चाहता।’ जया प्रदा के रामपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की बात पर उन्होंने कहा कि ‘अगर उन्हें BJP की ओर से चुनाव लड़ने का मौका मिलता है तो उनके लिए सौभाग्य की बात होगी, लेकिन निर्दलीय चुनाव लड़ने का सवाल ही पैदा नहीं होता।’

यूपी में सपा-बसपा गठबंधन, BJP और प्रियंका गांधी में किसे सबसे बड़ी ताकत के तौर पर देखते हैं? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि ‘किसी दल से ज्यादा मैं एक व्यक्तित्व को देख रहा हूं, एक विचारधारा को देख रहा हूं और वो हैं नरेंद्र मोदी। वहीं, बालाकोट एयर स्टाइक पर सबूत मांगने वालों के लिए उन्होंने कहा कि ‘जो भी सबूत मांग रहे हैं, देश की जनता उन्हें बुरा मान रही है।’ उन्होंने बालाकोट एयर स्ट्राइक के सबूत मांगने वालो पर तंज कसते हुए कहा कि ‘ये लोग पीएम मोदी के सच्चे हितैषी हैं। ये अपने खलनायक हैं, पीएम मोदी को अब चुनावों में प्रचार करने की जरूरत ही नहीं है।’

इसके अलावा समाजवादी पार्टी की स्टार प्रचारकों की सूची में मुलायम सिंह यादव का नाम नहीं होने के सवाल पर भी उन्होंने जवाब दिया। उन्होंने कहा कि ‘बोया पेड़ बबूल का तो आम कहां से होए। मुलायम सिंह ने जीवन में दो गलतियां कीं, पहली- सत्ता अपने बेटे को दे दी और दूसरी- निष्कासन के बाद रामगोपाल को दोबारा पार्टी में वापस ले लिया।’ अपने इस जवाब को और जमीन देने के लिए उन्होंने कई उदाहरण भी दिए।

वहीं, उन्होंने अखिलेश यादव के साथ अपने संबंधों को लेकर कहा कि ‘जो बेटा अपने बाप का नहीं हुआ वो अपने मुंह बोले अंकल का क्या होगा। अखिलेश ने सार्वजनिक रूप से मेरा अपमान किया, मुझे बाहरी बताया।’ उन्होंने कहा कि ‘राम चंद्र कह गए सिया से, ऐसा कलयुग आएगा, बेटा अखिलेश करेगा राज, बूढ़ा बाप जंगल को जाएगा।’

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन