Live TV
GO
Advertisement
Hindi News विदेश अमेरिका मूलर की रिपोर्ट आने के बाद...

मूलर की रिपोर्ट आने के बाद बैकफुट पर हिलेरी की पार्टी, सार्वजनिक करने की मांग

2016 अमेरिकी चुनाव में कथित रूसी हस्तक्षेप मामले की रिपोर्ट सामने आने के बाद डेमोक्रेट हैकफुट पर आ गए हैं। 

IndiaTV Hindi Desk
IndiaTV Hindi Desk 25 Mar 2019, 9:37:55 IST

वॉशिंगटन: 2016 अमेरिकी चुनाव में कथित रूसी हस्तक्षेप मामले की रिपोर्ट सामने आने के बाद डेमोक्रेट हैकफुट पर आ गए हैं। हालांकि कांग्रेस के शीर्ष डेमोक्रेट सदस्यों ने रविवार को कहा कि पूरी जांच रिपोर्ट को ‘तुरंत’ सार्वजनिक किया जाए। साथ ही उन्होंने जोर देकर कहा कि यह रिपोर्ट डोनाल्ड ट्रंप को दोषमुक्त नहीं करती। आपको बता दें कि 2016 के राष्ट्रपति चुनावों में मुख्य मुकाबला डोनाल्ड ट्रंप और हिलेरी क्लिंटन के बीच था, जिसमें तमाम कयासों को धता बताते हुए ट्रंप ने जीत हासिल की थी।

गौरतलब है कि अटॉर्नी जनरल विलियम बर्र ने कहा कि विशेष अधिवक्ता रॉबर्ट मूलर की रिपोर्ट में यह नहीं पाया गया कि ट्रंप के प्रचार अभियान की रूस के साथ कोई मिलीभगत थी। इसके तुरंत बाद राष्ट्रपति ने पूरी तरह से दोषमुक्त होने का दावा किया। यह रिपोर्ट निश्चित तौर पर डेमोक्रेट्स के लिए बड़ा झटका है जो 2020 में ट्रंप को सत्ता से बेदखल करना चाहते हैं। हालांकि रिपोर्ट में यह नहीं बताया गया कि क्या राष्ट्रपति ने जांच में बाधा डाली। इस पर सदन की स्पीकर नैंसी पेलोसी और सीनेट में अल्पसंख्यक नेता चक शूमर ने पूरे दस्तावेज जारी करने की मांग की।

उन्होंने यह भी कहा कि ट्रंप ने कुछ महीने पहले बर्र को नामांकित किया था और वह इस प्रक्रिया में ‘निष्पक्ष पर्यवेक्षक नहीं’ हैं। साल 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में संभावित उम्मीदवार सीनेटर एमी क्लोबूचर, एलिजाबेथ वारेन और कोरी बूकर समेत कई सांसदों ने टि्वटर पर कहा कि ट्रंप के एक सहयोगी द्वारा संक्षिप्त ब्यौरा दिया जाना पर्याप्त नहीं है। कई डेमोक्रेट्स ने बर्र और मूलर को कांग्रेस के समक्ष गवाही देने के लिए भी कहा। वहीं, ट्रंप ने रिपोर्ट के आने के बाद खुद को ‘दोषमुक्त’ करार दिया है।

ट्रंप ने फ्लोरिडा में पत्रकारों से कहा, ‘यह पूरी तरह से दोष मुक्ति है। यह शर्मनाक है कि हमारे देश को इससे गुजरना पड़ा। ईमानदारी से बताऊं तो यह शर्मनाक है कि आपके राष्ट्रपति को इससे गुजरना पड़ा।’ ट्रंप रूस के साथ मिलीभगत के आरोपों को खारिज करते हुए यह कहते आ रहे हैं कि उन्हें दुर्भावनावश निशाना बनाया गया। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा कि रिपोर्ट राष्ट्रपति के रुख को सही ठहराती है। रिपब्लिकन नेशनल कमिटी की अध्यक्ष रोना मैकडेनियल ने कहा कि यह सभी अमेरिकियों के लिए बड़ा दिन है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन