1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Chandrayaan 2 का खर्च है हॉलीवूड मूवी अवतार और एवेंजर्स एंडगेम से भी कम, पूरी दुनिया है इसे देखकर दंग

Chandrayaan 2 का खर्च है हॉलीवूड मूवी अवतार और एवेंजर्स एंडगेम से भी कम, पूरी दुनिया है इसे देखकर दंग

चंद्रयान-2 की कई विशेषताएं हैं और यह कई रिकॉर्ड बनाने जा रहा है। इसकी सबसे बड़ी खास बात इसकी लागत है, जो अन्य किसी भी चंद्र मिशन की तुलना में काफी कम है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: September 06, 2019 16:26 IST
Chandrayaan 2 costs less than Hollywood movies - India TV Paisa
Photo:CHANDRAYAAN 2 COSTS LESS

Chandrayaan 2 costs less than Hollywood movies

नई दिल्‍ली। भारतीय अंतरिक्ष संस्‍थान इसरो भारत के महत्‍वकांक्षी चंद्रयान-2 मिशन को चंद्रमा की दक्षिणी सतह पर लैंड कराने के लिए पूरी तरह से तैयार है। चंद्रयान-2 के साथ भारत उन प्रमुख देशों की लिस्‍ट में शामिल हो जाएगा, जिन्‍होंने चंद्रमा की सतह पर रोवर को भेजने में सफलता पाई है।  

चंद्रयान-2 की कई विशेषताएं हैं और यह कई रिकॉर्ड बनाने जा रहा है। इसकी सबसे बड़ी खास बात इसकी लागत है, जो अन्‍य किसी भी चंद्र मिशन की तुलना में काफी कम है। इतना ही नहीं, चंद्रयान-2 की लागत बड़े बजट वाली हॉलीवूड मूवीज जैसे एवेंजर्स एंडगेम और हॉलीवूड की अबतक की सबसे महंगी मूवी अवतार से काफी कम है।

चंद्रयान-2 की कुल लागत 978 करोड़ रुपए है, जिसमें 603 करोड़ रुपए मिशन लागत और 375 करोड़ रुपए लॉन्‍च खर्च शामिल है। चंद्रयान-2 को जीएसएलवी एमके 3 से लॉन्‍च किया गया है। हाल ही में रिलीज हुई हॉलीवूड मूवी एवेंजर्स एंडगेम को बनाने पर 2,443 करोड़ रुपए खर्च हुए थे। हॉलीवूड की सबसे महंगी फ‍िल्‍म अवतार है, जो 2009 में रिलीज हुई थी और इसको बनाने का खर्च 3,282 करोड़ रुपए था।

इसरो ने प्रभावी और कम खर्चीली परियोजनाओं के माध्‍यम से अंतरिक्ष विज्ञान और स्‍पेस लॉन्‍च में अपनी एक खास जगह बनाई है। अनुमान के मुताबिक अमेरिका ने चंद्रमा पर भेजे गए अपने 15 अपोलो मि‍शन पर 25 अरब डॉलर की भारी भरकम राशि खर्च की थी।

इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन फॉर इकोनॉमिक कॉरपोरेशन एंड डेवलपमेंट की रिपोर्ट के मुताबिक चीन ने अपने चैंग 4 लूनर क्राफ्ट और संपूर्ण स्‍पेस प्रोग्राम पर 8.4 अरब डॉलर की राशि खर्च की है। चीन ने इसी साल जनवरी में चंद्रमा पर अपना रोवर सफलतापूर्वक लैंड किया था।

सोवियत यूनियन ने 1966 में पहली बार चंद्रमा पर अपना मिशन भेजा था और उस समय उसने 20 अरब डॉलर की राशि खर्च की थी।  

Write a comment