1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. Maruti Suzuki: बाप रे! कई कार कंपनियों की कुल बिक्री से भी ज्यादा है मारुति का नुकसान, चिप संकट ने तोड़ी कमर

Maruti Suzuki: बाप रे! कई कार कंपनियों की कुल बिक्री से भी ज्यादा है मारुति का नुकसान, चिप संकट ने तोड़ी कमर

Maruti Suzuki : कंपनी ने माना कि सेमीकंडक्टर की कमी उत्पादन संबंधित गतिविधियों की योजना बनाने में एक चुनौती बन रही है।

Indiatv Paisa Desk Written By: Indiatv Paisa Desk
Published on: August 02, 2022 17:58 IST
Maruti Suzuki- India TV Hindi News
Photo:PTI Maruti Suzuki

Highlights

  • मारुति सुजकी को चिप संकट के चलते भारी नुकसान झेलना पड़ा है
  • चिप की कमी के कारण 51,000 इकाइयों के उत्पादन का नुकसान हुआ
  • Maruti ने 2022-23 की जून तिमाही के दौरान 4,67,931 वाहन बेचे

Maruti Suzuki: वाहन कंपनियों के लिए चिप संकट किसी बड़ी आपदा से कम नहीं रहा है। बीते दो साल से कंपनियां घटते उत्पादन से परेशान हैं। देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजकी को इस चिप संकट के चलते भारी नुकसान झेलना पड़ा है। आंकड़ों पर गौर करें तो एक तिमाही में मारुति को जितनी इकाइयों का नुकसान हुआ है, वह देश की गई कार कंपनियों की कुल बिक्री से भी ज्यादा है। 

मारुति सुजुकी इंडिया (MSI) ने घोषणा करते हुए बताया कि कंपनी को चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में चिप की कमी के कारण 51,000 इकाइयों के उत्पादन का नुकसान हुआ है। देश की सबसे बड़ी वाहन विनिर्माता ने 2022-23 की जून तिमाही के दौरान 4,67,931 वाहन बेचे। 

चिप संकट बना काल 

कंपनी ने माना कि सेमीकंडक्टर की कमी उत्पादन संबंधित गतिविधियों की योजना बनाने में एक चुनौती बन रही है। एमएसआई के मुख्य वित्त अधिकारी (एमएसआई) अजय सेठ ने विश्लेषकों के साथ कॉल में कहा, ‘‘इलेक्ट्रॉनिक्स कलपुर्जों की कमी अब भी हमारे उत्पादन की मात्रा को सीमित कर रही है। इसकी वजह से चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में हमें 51,000 इकाइयों के उत्पादन का नुकसान उठाना पड़ा।’’ उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक कलपुर्जाे की उपलब्धता को लेकर अस्थिरता उत्पादन की योजना बनाने में हमारे लिए एक चुनौती है। 

वेटिंग लिस्ट 3.5 इकाई के पार 

सेठ ने कहा कि कंपनी की आपूर्ति श्रृंखला, इंजीनियरिंग, उत्पादन और बिक्री टीम के सदस्य उपलब्ध कलपुर्जों से उत्पादन की मात्रा को अधिकतम करने की दिशा में काम कर रहे है। उल्लेखनीय है कि मजबूत मांग के बीच कंपनी के वाहनों का लंबित बुकिंग आर्डर 3.5 लाख इकाई पर पहुंच गया है।

 जुलाई में 8.28 प्रतिशत बढ़कर 1,75,916 इकाई हुई

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड (एमएसआईएल) की कुल बिक्री जुलाई, 2022 में 8.28 प्रतिशत बढ़कर 1,75,916 इकाई हो गई। मारुति ने सोमवार को शेयर बाजार को भेजी सूचना में यह जानकारी दी। इससे पिछले वर्ष के इसी माह के दौरान कंपनी ने कुल 1,62,462 वाहन बेचे थे। मारुति की घरेलू बाजार में बिक्री पिछले महीने 6.82 प्रतिशत बढ़कर 1,42,850 इकाई पर पहुंच गई। जुलाई, 2021 में कंपनी ने घरेलू बाजार में 1,33,732 यात्री वाहन बेचे थे। कंपनी ने कहा, ‘‘इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की कमी का वाहनों के उत्पादन पर मामूली प्रभाव पड़ा। कंपनी के कॉम्पैक्ट वाहनों बलेनो, सेलेरियो, डिजायर, इग्निस, स्विफ्ट, टूर एस और वैगनआर की बिक्री जुलाई, 2022 में बढ़कर 84,818 इकाई हो गई, जो एक साल पहले के इसी महीने महीने में 70,268 इकाई थी।

Latest Business News

Write a comment