Monday, April 15, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. ऑटो
  4. Fastags यूजर्स के लिए NHAI ने जारी की एडवाइजरी, तुरंत करें ये काम

Fastags यूजर्स के लिए NHAI ने जारी की एडवाइजरी, तुरंत करें ये काम

NHAI की रोड टोलिंग अथॉरिटी द्वारा एक लिस्ट जारी की गई है। इसमें उन 32 बैंकों के नाम हैं, जिनसे यूजर्स फास्टैग खरीद सकते हैं। इसमें पेटीएम पेमेंट बैंक का नाम अब हटा दिया गया है।

Abhinav Shalya Edited By: Abhinav Shalya
Published on: February 16, 2024 7:33 IST
Fastags- India TV Paisa
Photo:FILE Fastags

नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (National Highway Authority of India) की रोड टोलिंग अथॉरिटी की ओर से फास्टैग यूजर्स के लिए एडवाइजरी जारी की गई है। संस्था द्वारा 32 बैंकों की एक लिस्ट निकाली गई है और यूजर्स को कहा गया है कि इन्हीं बैंकों से फास्टैग खरीदें।  इस लिस्ट में पेटीएम पेमेंट्स बैंक फास्टैग का नाम नहीं था। इसका सीधा मतलब है कि पेटीएम फास्टैग यूजर्स को नया फास्टैग लेना होगा। एक अनुमान के मुताबिक, देश में 2 करोड़ से ज्यादा पेटीएम फास्टैग यूजर्स हैं। 

बता दें, आरबीआई की ओर से पेटीएम पेमेंट बैंक पर रोक लगा दी गई है। केंद्रीय बैंक के निर्देश के अनुसार 29 फरवरी के बाद पेटीएम पेमेंट बैंक को करीब अपनी सभी सेवाएं रोक दी है। 

सोशल मीडिया पर जारी किया बयान 

नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया की ओर से सोशल मीडिया हैंडल एक्स पर एक पोस्ट किया गया है, जिसमें कहा गया है कि बिना किसी झंझट के फास्टैग के साथ ट्रैवल करें। केवल नीचे दिए गए बैंकों से ही अपना फास्टैग खरीदें। इस लिस्ट में कुछ 32 बैंकों का नाम जारी किया गया है, जिसमें पेटीएम नहीं है। 

इकोनॉनिम टाइम्स की एक रिपोर्ट में बताया गया कि हाइवे अथॉरिटी की ओर से लिए गए इस निर्णय का उद्देश्य पेटीएम फास्टैग यूजर्स को किसी भी झंझट से बचाना है ताकि हाइवे पर यात्रा करते समय टोल चुकाने को लेकर उन्हें किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। 

भारत में 7 करोड़ फास्टैग यूजर्स 

बता दें, भारत में करीब 7 करोड़ के आसपास फास्टैग यूजर्स हैं और पेटीएम पेमेंट बैंक का दावा है कि उसके पास करीब इसमें 30 प्रतिशत से ज्यादा का मार्केट शेयर। ऐसे में पेटीएम पेमेंट बैंक यूजर्स की अनुमानित संख्या 2 करोड़ के आसपास होने का अनुमान है। 

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Auto News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement