Wednesday, February 28, 2024
Advertisement
  • 3 weeks ago 3 करोड़ बहनों को लखपति बनाने का लक्ष्य, भारत समृद्ध होगा-सम्राट चौधरी
  • 3 weeks ago हम गरीबी हटाओं सिर्फ बोलते नहीं है- जेपी नड्डा
  • 3 weeks ago यह बजट बेहद आशावादी है- मनोज तिवारी
  • 3 weeks ago लोग रिकॉर्ड बनाकर तीसरी बार प्रधानमंत्री मोदी को चुनेंगे।- असम सीएम
  • 3 weeks ago 5-10 वर्षों में भारत सबसे विकसित देश होगा- निशिकांत दुबे
  • 3 weeks ago वित्त मंत्री का भाषण चुनावी भाषण जैसा लग रहा- सचिन पायलट
  • 3 weeks ago किसानों और युवाओं से किए गए वादे भी पूरे नहीं किए गए- प्रियंका चतुर्वेदी
  • 3 weeks ago सिंधिया ने वित्त मंत्री को दी बजट पर बधाई
  • 3 weeks ago बजट में विकसित भारत की नींव को मजबूत करने की गारंटी
  • 3 weeks ago ये बजट देश के भविष्य के निर्माण का बजट- पीएम मोदी
  • 3 weeks ago मध्यमवर्गीय परिवारों को बड़ी सौगात- पीएम मोदी
  • 3 weeks ago 40000 आधुनिक बोगियों से करोड़ों यात्रियों को फायदा- पीएम मोदी
  • 3 weeks ago हम लक्ष्य पूरा कर के उसे और बड़ा बनाते हैं- पीएम मोदी
  • 3 weeks ago कल्याणवाद और विकास के साथ राजकोषीय संयम- एनएसई के सीईओ
  • 3 weeks ago यह एक 'वोट-ऑन-अकाउंट' बजट है- कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी
  • 3 weeks ago 2047 तक विकसित राष्ट्र बनने का लक्ष्य हासिल करेंगे- राजनाथ सिंह
  • 3 weeks ago अर्थव्यवस्था को मजबूत करने वाला बजट- केंद्रीय मंत्री वीके सिंह
  • 3 weeks ago ये भाजपा का ‘विदाई बजट’ है - अखिलेश यादव
  • 3 weeks ago सरकार वृद्धि को प्रोत्साहित करने के लिए अगली पीढ़ी के सुधार करेगी
  • 3 weeks ago जनसंख्या की चुनौतियों पर विचार होगा- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago अन्य शहरों में होगा मेट्रो रेल का विस्तार
  • 3 weeks ago सालों पुराने टैक्स विवाद के मामले वापस लिए जाएंगे- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago 2014 के मुकाबले अर्थव्यवस्था काफी बेहतर स्थिति में
  • 3 weeks ago जनता को टैक्स से अभी राहत नहीं मिलेगी
  • 3 weeks ago जीएसटी की वजह से इंडस्ट्री का कंप्लांयस घटा
  • 3 weeks ago अभी 7 लाख तक की आय के लिए कोई टैक्स नहीं
  • 3 weeks ago डीप टेक टेक्नोलॉजी के लिए नई स्कीम
  • 3 weeks ago राजकोषिय घाटा जीडीपी का 5.8 फीसदी- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago वर्ष 2014 से पहले की हर चुनौती से उभर गए- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago सरकार पर्यटन को बढ़ावा देगी- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago सतत विकास को सुविधाजनक बनाएंगे
  • 3 weeks ago एविएशन सेक्टर का कायापलट हुआ- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago ई-बस को ट्रांसपोर्ट सिस्टम में जगह मिलेगी
  • 3 weeks ago सरकार ने 11.1 लाख करोड़ कैपेक्स का ऐलान किया
  • 3 weeks ago 40 हजार रेलगाड़ी डिब्बों को वंदे भारत में बदला जाएगा
  • 3 weeks ago बढ़ाया गया लखपति दीदी योजना का दायरा
  • 3 weeks ago मछलीपालन को बढ़ावा मिलेगा- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago तिलहन फसलों को बढ़ावा देगी सरकार- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago सर्वाइकल कैंसर वैक्सीनेशन कराएगी सरकार- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago एक करोड़ घरों को 300 यूनिट सोलर बिजली फ्री- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago 3 करोड़ घर बने, अभी 2 करोड़ और बनाएंगे
  • 3 weeks ago हमने महंगाई को अधिक बढ़ने नहीं दिया- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago वैश्विक स्तर पर बढ़ी महंगाई हमें भी प्रभावित कर रही
  • 3 weeks ago लोगों की औसत आमदनी 50 फीसदी बढ़ी- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago महिला आरक्षण, तीन तलाक जैसे मुद्दों का भी जिक्र
  • 3 weeks ago देश में 7 नई IIT, 7 नए IIM बनाए गए
  • 3 weeks ago विकास से जनता को फायदा हो रहा है
  • 3 weeks ago 34 लाख करोड़ गरीबों के खाते में ट्रांसफर किए गए- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago 2047 तक भारत बनेगा विकसित राष्ट्र- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago मोदी सरकार ने किसानों को मजबूत बनाया- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago 25 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाला
  • 3 weeks ago भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद को खत्म किया- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago अर्थव्यवस्था में सकारात्मक बदलाव देखें जा रहे हैं- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago 80 करोड़ लोगों को मुफ्त में राशन दे रहे हैं- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago सबका साथ, सबका विकास पर काम कर रही है मोदी सरकार- वित्त मंत्री
  • 3 weeks ago बजट सत्र के लिए संसद भवन पहुंचीं सोनिया गांधी
  • 3 weeks ago मध्यमवर्ग को मिल सकती है अंतरिम बजट में राहत
  • 3 weeks ago केंद्रीय मंत्रिमंडल ने दी अंतरिम बजट को मंजूरी
  • 3 weeks ago बजट से पड़ेगी भारत को तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने की नींव
  • 3 weeks ago मतदाताओं को 'मुफ्त की संस्कृति' से सावधान रहना होगा- केवी सुब्रमण्यम
  • 3 weeks ago वित्त मंत्री और राष्ट्रपति के मुलाकात की तस्वीरें सामने आईं
  • 3 weeks ago देश के विकास के लिए होगा बजट- राव इंद्रजीत सिंह
  • 3 weeks ago यह एक महत्वपूर्ण दिन है- केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल
  • 3 weeks ago संसद भवन में हो रही केंद्रीय कैबिनेट की बैठक
  • 3 weeks ago संसद भवन पहुंचीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, बस थोड़ी देर में आएगा बजट
  • 3 weeks ago किसानों ने भी अंतरिम बजट में राहत की उम्मीद जताई है
  • 3 weeks ago बजट पर टिकी हैं शेयर बाजार के निवेशकों की निगाहें
  • 3 weeks ago संसद में पहुंचीं अंतरिम बजट की कॉपी
  • 3 weeks ago बजट से पहले ऑटो सेक्टर भी बढ़त पर
  • 3 weeks ago बजट से पहले शेयर बाजार की मजबूत शुरुआत
  • 3 weeks ago वित्त मंत्रालय से निकलीं निर्मला सीतारमण
  • 3 weeks ago 2023 में इनकम टैक्स स्लैब हुआ था बदलाव
  • 3 weeks ago पर्सनल इनकम टैक्स छूट को बढ़ाने की हो रही मांग
  • 3 weeks ago वित्त मंत्रालय पहुंची निर्मला सीतारमण, कुछ घंटे में पेश होगा बजट
  • 3 weeks ago बजट में वित्तीय संस्थानों से 70,000 करोड़ रुपये के लाभांश का लक्ष्य
  • 3 weeks ago बजट से पहले विपक्ष के 14 सदस्यों का निलंबन रद्द
  • 3 weeks ago बजट पर मध्यम वर्ग, किसान, असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों की नजर
  • 3 weeks ago बुजुर्गों से जुड़े गैर-सरकारी संगठनों की सरकार से बजट में अधिक समावेशी उपायों की मांग
  • 3 weeks ago स्टील मैन्युफैक्चरर्स को उम्मीद, बजट में बुनियादी ढांचा खर्च और आयात रोकने के होंगे उपाय
  • 3 weeks ago 5 पूर्ण बजट पेश करने वाली पहली महिला वित्त मंत्री हैं निर्मला सीतारमण
  • 3 weeks ago बजट पेश करते ही मोरारजी देसाई के रिकॉर्ड की बराबरी करेंगी सीतारमण
  • 3 weeks ago कांग्रेस उठाएगी बेरोजगारी और मणिपुर के मुद्दे
  • 3 weeks ago बजट का दस्तावेज भी मिलेगा
  • 3 weeks ago बजट से कैपिटल गुड्स सेक्टर की उम्मीद
  • 3 weeks ago रेलवे, इन्फ्रास्ट्रक्चर पर दिखेगा बजट का असर
  • 3 weeks ago बजट से देश के कई सेक्टरों को होगा फायदा
  • 3 weeks ago पूर्ण बजट की दिशा तय करेगा अंतरिम बजट
  • 3 weeks ago महिलाओं पर फोकस रह सकता है बजट
  • 3 weeks ago क्या होगी बजट की प्रक्रिया?
  • 3 weeks ago बजट कहां देख सकते हैं लाइव?
  • 3 weeks ago जनता को बजट से उम्मीदें
  • 3 weeks ago 11 बजे पेश होगा बजट
  • 3 weeks ago मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी बजट
  • 3 weeks ago क्यों कहा जा रहा है अंतरिम बजट?

Live TV

Advertisement

रोचक फैक्ट्स

  • कौन बनाता है बजट?

    बजट बनाने की प्रक्रिया में वित्त मंत्रालय, नीति आयोग और सरकार के अन्य मंत्रालय शामिल होते हैं। वित्त मंत्रालय हर साल खर्च के आधार पर गाइडलाइन जारी करता है। इसके बाद मंत्रालयों को अपनी-अपनी मांग को बताना होता है। वित्त मंत्रालय के बजट डिवीजन पर बजट बनाने की जिम्मेदारी होती है। यह डिवीजन नोडल एजेंसी होता है। बजट डिवीजन सभी मंत्रालयों, राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों, स्वायत्त निकायों, विभागों और रक्षा बलों को सर्कुलर जारी करके उन्हें अगले वर्ष के अनुमानों को बताने के लिए कहता है। मंत्रालयों और विभागों से मांगें प्राप्त होने के बाद वित्त मंत्रालय के व्यय विभाग के बीच गहन चर्चा होती है।
  • बजट बनाने के लिए सरकार किस-किस से लेती है राय?

    आम बजट बनाने की प्रक्रिया में सहभागिता बढ़ाने के लिए वित्त मंत्रालय नागरिकों, विभागों, मंत्रालयों, अर्थशास्त्रियों, उद्योगों से सुझाव मांगता है। इस साल भी वित्त मंत्रालय ने बजट के लिए लोगों से आइडिया और सुझाव देने को कहा है। वित्त मंत्रालय उद्योग से जुड़े संगठनों और पक्षों से भी सुझाव मांगता है।
  • बजट के लिए किन की मंजूरी होती है जरूरी?

    बजट पेश करने की तारीख पर सरकार लोकसभा स्पीकर की सहमति लेती है। इसके बाद लोकसभा सचिवालय के महासचिव राष्ट्रपति से मंजूरी लेते हैं। वित्त मंत्री लोकसभा में बजट पेश करते हैं। बजट पेश करने से ठीक पहले 'समरी फॉर द कैबिनेट' के जरिए बजट के प्रस्तावों पर कैबिनेट को संक्षेप में बताया जाता है। वित्त मंत्री के भाषण के बाद सदन के पटल पर बजट रखा जाता है। बता दें, इस बार बजट निर्मला सीतारमण के नेतृत्व में तैयार किया जा रहा है।
  • क्या संविधान में बजट का जिक्र है?

    देश का बजट बनाने की प्रक्रिया बेहद महत्वपूर्ण होती है। लंबे समय से इसकी तैयारी होती है। हजारों लोग दिन-रात एक करके पूरा हिसाब-किताब लगाते हैं। आपको बता दें कि भारतीय संविधान के अनुच्छेद 112 के अनुसार, केंद्रीय बजट किसी वर्ष सरकार की अनुमानित आमदनी और खर्च का लेखाजोखा होता है।
  • क्या होती है हलवा सेरेमनी?

    भारतीय संसदीय परंपरा के अनुसार हर साल देश का वित्‍तमंत्री बजट दस्‍तावेजों को पढ़कर सदन के सामने पेश करता है। यह बजट दस्‍तावेज बाकायदा दो भाषाओं में (हिंदी और अंग्रेजी) छापा जाता है। इस सोच के साथ कि बजट में सबके लिए मीठा या कहें शुभ रहे, इसी सोच के साथ छपाई प्रक्रिया से पहले हलवा की होती है। इसमें एक बड़ी सी कढ़ाही में हलवा तैयार किया जाता है और देश का वित्‍त मंत्री अपने मंत्रालय के सभी कर्मचारियों को इसे बांटता है। और पढ़े
  • रेल बजट कब बंद हुआ?

    2017 से पहले रेल बजट अलग से पेश किया जाता था। दरअसल 2017 में केंद्र ने बजट की तारीख 1 फरवरी करने के साथ रेल बजट अलग से पेश करने की परंपरा भी खत्म कर दी थी। भारतीय बजट प्रणाली के करीब 92 साल में यह पहली बार था, जब 2017 में अलग से रेल बजट पेश नहीं किया गया। देश में पहली बार 1924 में रेल बजट पेश किया गया था, जिसके बाद से हर साल आम बजट से 2 दिन पहले रेल बजट को पेश किया जाता है। और पढ़े
  • कब से बदली बजट की टाइमिंग?

    2000 तक देश का आम बजट शाम 5 बजट पेश होता था। यह भी एक बजट परंपरा थी, लेकिन इसके पीछे भी एक इतिहास और एक तात्‍कालीन जरूरत जुड़ी हुई थी। दरअसल जब भारत में शाम के 5 बजते थे तो उस समय लंदन में सुबह के 11.30 बज रहे होते थे। लंदन के हाउस ऑफ लॉर्ड्स और हाउस ऑफ कॉमंस में बैठे सांसद भारत का बजट भाषण सुनते थे। 2001 में तत्‍कालीन वित्‍तमंत्री यशवंत सिन्‍हा ने यह परंपरा खत्‍म की थी। और पढ़े
  • कब से बदली बजट की टाइमिंग?

    एक वित्‍त मंत्री के तौर पर मोरारजी देसाई ने 10 बार आम बजट पेश किया था। इनमें से 8 पूर्ण बजट थे और 2 अंतरिम। वित्‍त मंत्री के तौर पर मोरारजी देसाई ने पहले टर्म में पांच पूर्ण बजट 1959-60 से 1993-64 और एक अंतरिम बजट 1962-63 पेश किया था। दूसरी बार वित्‍त मंत्री बनने के बाद मोरारजी देसाई ने 1967-68 से 1969-70 के पूर्ण बजट को उन्होनें पेश किया था। उसके अलावा 1967-68 का एक अंतरिम बजट भी पेश किया था।
  • पहला बजट किसने पेश किया?

    आजाद भारत का पहला बजट तात्कालीन वित्त मंत्री आर के षणमुखम शेट्टी ने 26 नवंबर 1947 को पेश किया था। जॉन मथाई देश के दूसरे वित्त मंत्री थे, जिन्होंने 1949-50 का बजट पेश किया। यह ऐतिहासिक बजट था और महंगाई पर केंद्रित था। इसी बजट के जरिये देश ने योजना आयोग और पंचवर्षीय योजनाओं जैसे शब्दों को सुना था। और पढ़े
  • पहली बार हिंदी में बजट कब आया?

    1955-56 के बजट से ही बजट से जुड़े दस्तावेज हिंदी में भी तैयार किए जाने लगे थे। इसी बजट के जरिये देश ने योजना आयोग और पंचवर्षीय योजनाओं जैसे शब्दों को सुना था।
  • किस पाकिस्तानी पीएम ने पेश किया था ?

    लियाकत अली ने 2 फरवरी, 1946 को उस समय के लेजिस्लेटिव असेंबली भवन (आज के संसद भवन) में पेश किया था। वे आल इंडिया मुस्लिम लीग के भी शीर्ष नेता थे और पाकिस्‍तान की स्‍थापना में उनका अहम योगदान रहा। पाकिस्‍तान की आजादी के बाद उन्‍हें वहां का पहला प्रधानमंत्री बनाया गया। आजादी से पूर्व जब अंतरिम सरकार का गठन हुआ तो मुस्लिम लीग ने उन्हें अपने नुमाइंदे के रूप में भेजा। उन्हें पंडित नेहरु ने वित्त मंत्रालय सौंपा। और पढ़े
  • कौन सा बजट ब्लैक बजट था?

    साल 1973-74 के बजट को भारत के ब्लैक बजट के रूप में जाना जाता है। इस साल देश का बजट घाटा 550 करोड़ रुपए था। और पढ़े
  • मोदी सरकार ने किन परंपराओं को खत्म किया?

    बजट से जुड़ी कई परंपराओं को मोदी सरकार ने खत्म किया है। जैसे कोरोना काल में बजट की हलवा सेरेमनी खत्म कर दी गई, वहीं बजट की तारीख को फरवरी की अंतिम तारीख से बदलकर 1 फरवरी कर दिया गया। रेल बजट भी मोदी सरकार के कार्यकाल में खत्म हुआ। और पढ़े
  • क्या बजट टीम 10 दिन तक कैद रहती है?

    नॉर्थ ब्लॉक में हलवा रस्म (halwa ceremony) की अदायगी के बाद ही बजट को तैयार करने में शामिल अधिकारियों को एक तरह की कैद दे दी जाती है। संयुक्त सचिव की अध्यक्षता में इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के अधिकारी बजट बनाने वाली टीम की हर एक्टिविटी पर नजर रखते हैं। बजट छपाई से जुड़ी एक दिलचस्प बात यह है कि बजट को तैयार करने में शामिल अधिकारियों को बजट पेश किए जाने तक कैद कर दिया जाता है और बाकी दुनिया से इनका संपर्क कुछ दिन के लिए कट सा जाता है। और पढ़े
  • कहां छपता है देश का बजट?

    वित्त मंत्री का बजट भाषण सबसे सुरक्षित दस्तावेज माना जाता है। इसलिए इसे बजट की घोषणा के दो दिन पहले ही प्रिंटर्स को थमाया जाता है। जानकारी के लिए बता दें कि पहले बजट के पेपर्स राष्ट्रपति भवन के अंदर प्रिंट होते थे, लेकिन साल 1950 के बजट के लीक हो जाने के बाद बजट मिंटो रोड के एक प्रेस में छपने लगा। साल 1980 से बजट नॉर्थ ब्लॉक के बेसमेंट में छप रहा है।
Advertisement

इनकम टैक्स स्लैब

  • Tax Slab 2024-25
  • नई कर योजना में इनकम टैक्स की दरें

Existing Tax Regime

  • Income Tax Slab
    Income Tax Rate
  • 0 - 2.5 लाख रुपये तक
    Nil
  • 2.5 - 5 लाख रुपये तक
    5%
  • 5 से 10 लाख रुपये तक
    20%
  • 10 लाख रुपये से ज्यादा
    30%

New Tax Regime

  • Income Tax Slab
    Income Tax Rate
  • 0 से 3 लाख रुपये
    शून्य
  • 3 से 6 लाख रुपये
    5%
  • 6 से 9 लाख रुपये
    10%
  • 9 से 12 लाख रुपये
    15%
  • 12 से 15 लाख रुपये
    20%
  • 15 लाख से ऊपर
    30%
  • 7 लाख की आय अब करमुक्त

बजट 2024 की अन्य खबरें

Advertisement
Advertisement