1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. घरेलू उड़ानें शुरू करने का निर्णय अकेले केंद्र पर नहीं, राज्यों की भी सहमति जरूरी: उड्डयन मंत्री

घरेलू उड़ानें शुरू करने का निर्णय अकेले केंद्र पर नहीं, राज्यों की भी सहमति जरूरी: उड्डयन मंत्री

फिलहाल 31 मई तक सभी तरह की यात्री विमान सेवाओं पर प्रतिबंध लगा है

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: May 20, 2020 9:02 IST
Aviation sector- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

Aviation sector

नई दिल्ली। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि घरेलू उड़ानें बहाल करने का निर्णय अकेले केंद्र सरकार पर नहीं निर्भर है, क्योंकि नागरिक उड्डयन की अनुमति देने के लिए राज्यों को भी तैयार होना है। उड्डयन मंत्री का यह बयान ऐसे समय आया है, जब लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ा दिया गया है, और सभी घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को 31 मई तक निलंबित कर दिया गया है।

पुरी ने ट्वीट किया, "घरेलू उड़ानें बहाल करने का निर्णय अकेले भारत सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्रालय या केंद्र को नहीं लेना है। संघीय सहकारिता की भावना में, उड़ानें जिन राज्यों से प्रस्थान करेंगी और जहां उतरेंगी उन राज्यों को भी इसकी अनुमति देने के लिए तैयार होना है।"

लॉकडाउन बढ़ाने के केंद्रीय गृह मंत्रालय के रविवार के निर्णय के बाद नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने कहा कि उड़ानें शुरू करने के बारे में विमानन कंपनियों को उचित समय पर सूचित कर दिया जाएगा।

फिलहाल देश में सभी यात्री विमान सेवाएं बंद हैं, सिर्फ जरूरी सेवाओं से जुड़े कार्गो या इमरजेंसी उड़ानों को ही मंजूरी दी जा रही है। मार्च के अंत से उड़ाने बंद होने की वजह से एविएशन कंपनियों का नुकसान काफी बढ़ गया है और वो लगात घटाने के लिए कई कदम उठा रही है जिसमें वेतन कटौती से छंटनी तक शामिल है। एयरलाइंस लगातार सरकार से मांग कर रही हैं कि उडानो को अनुमति दी जाए जिससे नुकसान को कम किया जा सके।

Write a comment
coronavirus
X