1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. 5G सर्विस से होने जा रहा है मोटा मुनाफा, सरकार इसलिए थी जल्दी लॉन्च करने को बेचैन

5G सर्विस से होने जा रहा है मोटा मुनाफा, सरकार इसलिए थी जल्दी लॉन्च करने को बेचैन

5G नेटवर्क (5G Network) को लेकर आम लोगों का इंतजार खत्म हो गया है। इस साल 24 अक्टूबर को दिवाली (Diwali) मनाई जाएगी और उम्मीद जताया जा रहा है कि जियो 5G (Jio 5G) की शुरुआत 24 अक्टूबर से भारत के कुछ शहरों में शुरु कर दी जाएगी।

India TV Business Desk Edited By: India TV Business Desk
Published on: September 10, 2022 17:44 IST
5G सर्विस से होने जा रहा...- India TV Hindi
Photo:FREEPIK 5G सर्विस से होने जा रहा है मोटा मुनाफा

5G नेटवर्क (5G Network) को लेकर आम लोगों का इंतजार खत्म हो गया है। इस साल 24 अक्टूबर को दिवाली (Diwali) मनाई जाएगी और उम्मीद जताया जा रहा है कि जियो 5G (Jio 5G) की शुरुआत 24 अक्टूबर से भारत के कुछ शहरों में शुरु कर दी जाएगी। 5G को लेकर GSMA की तरफ से एक रिपोर्ट जारी की गई है, जिसमें कहा गया है कि भारत को 2025 तक 5G सर्विस को सभी जगहों तक पहुंचाने के लिए जरूरी बुनियादी ढांचे के विकास में लगभग 19.5 बिलियन डॉलर का निवेश करने की उम्मीद है।

2023 और 2040 के बीच 455 बिलियन डॉलर का हो सकता है मुनाफा

रिपोर्ट से पता चला है कि 5G से भारतीय अर्थव्यवस्था को 2023 और 2040 के बीच 455 बिलियन डॉलर या 2040 तक GDP पूर्वानुमान के 0.6 प्रतिशत से अधिक का लाभ हो सकता है, जो कि 5G उपयोग के मामलों की बड़ी संख्या को दर्शाता है जिन्हें भारत की अर्थव्यवस्था के मुख्य क्षेत्रों में लागू किया जा सकता है। विनिर्माण क्षेत्र (कुल लाभ का 20 प्रतिशत का प्रतिनिधित्व) के साथ-साथ खुदरा, आईसीटी और कृषि क्षेत्रों में नए अनुप्रयोगों में 5G लाभों का एहसास होने की उम्मीद है।

हालांकि, भारत सरकार ने 5G रोलआउट का समर्थन करने की वर्तमान आवश्यकता को पूरा करने के लिए ई-बैंड में प्रत्येक में 250 मेगाहर्ट्ज के दो वाहक नियुक्त किए हैं, लेकिन उपयोग के मामलों का समर्थन करने के लिए उच्च क्षमता वाले बैकहॉल की आवश्यकता को देखते हुए यह 5G युग में पर्याप्त नहीं हो सकता है।

एक बड़ा वर्ग डिजिटल सर्विस की सुविधा से दूर

5G देश में विनिर्माण, ऊर्जा और बैंकिंग, परिवहन, स्वास्थ्य सेवा, खेल और खुदरा क्षेत्र में आने वाले समय में एक बड़ी भुमिका निभाने जा रहा है। 'इंडिया: ऑन द रोड' की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि उपभोक्ता और उद्यम दोनों ही भारत में 5जी सेवाओं के लिए महत्वपूर्ण अवसर पेश करते हैं। भारत में अभी भी एक बड़ा वर्ग डिजिटल सर्विस की सुविधा से दूर है। इसके पीछे साक्षरता और कौशल की कमी सबसे बड़ी बाधा बनी हुई है जो बड़ी आबादी को डिजिटल अर्थव्यवस्था में भाग लेने से रोकती है। अगर उन तक डिजिटल सुविधा पहुंचाने में सरकार कामयाब हो जाती है तो उन्हें भी सामाजिक और आर्थिक लाभ अधिक मात्रा में मिल सकता है। 

भारत में होंगी सबसे सस्ती सेवाएं 

भारत सबसे सस्ती मोबाइल सेवाएं उपलब्ध कराने वाले देशों में से एक हैं और उम्मीद है कि यह नियम 5जी सेवाओं के लिए भी जारी रहेगी। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भारत के उद्योग क्षेत्र में करीब 2.5 से तीन लाख करोड़ रुपये के निवेश की उम्मीद है। तीन लाख करोड़ रुपये एक बड़ा निवेश होता है। इससे रोजगार के अच्छे अवसर भी पैदा हो रहे हैं। अनुमान है कि अगले दो से तीन वर्षों में 5G सेवाएं देश के लगभग सभी हिस्सों में पहुंच जाएंगी।

Latest Business News