Sunday, July 21, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. एक ही कंपनी में सौतेला जैसा व्यवहार, यूट्यूब में हुआ प्रमोशन तो गूगल में 453 कर्मचारियों की छंटनी

एक ही कंपनी में सौतेला जैसा व्यवहार, यूट्यूब में हुआ प्रमोशन तो गूगल में 453 कर्मचारियों की छंटनी

Google India Layoffs: गूगल इंडिया ने कथित तौर पर विभिन्न विभागों में 453 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है। बता दें, कल गूगल की ही पैरेंट कंपनी यूट्यूब ने नील मोहन को प्रमोट कर सीईओ बनाया था।

Edited By: Vikash Tiwary @ivikashtiwary
Published on: February 17, 2023 10:39 IST
Google India Layoffs- India TV Paisa
Photo:FILE गूगल में 453 कर्मचारियों की हुई छंटनी

Google Job Cuts: ड्रीम जॉब कही जाने वाली गूगल की नौकरी अब फिर से छंटनी की भेंट चढ़ गई है। गूगल इंडिया ने कथित तौर पर विभिन्न विभागों में 453 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है। कर्मचारियों को उनकी बर्खास्तगी की सूचना डाक से दी गई है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह मेल गूगल इंडिया के कंट्री हेड और वाइस प्रेसिडेंट संजय गुप्ता ने भेजा है। पिछले महीने अल्फाबेट इंक ने घोषणा की थी कि Google की मूल कंपनी 12,000 कर्मचारियों या वैश्विक स्तर पर अपने कुल हेडकाउंट का 6 प्रतिशत निकाल देगी। अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हुई है कि 453 छंटनी में 12,000 नौकरी में कटौती शामिल है या छंटनी का एक नया दौर शुरू हो गया है। बता दें कि कल ही यूट्यूब ने नील मोहन को प्रमोट कर नया सीईओ नियुक्त किया था। वह भारतीय मूल के हैं।

सभी कंपनियां कर रही हैं छंटनी?

रिपोर्ट बताती है कि मेल में अल्फाबेट के सीईओ सुंदर पिचाई के कुछ इनपुट भी शामिल थे। वह उन फैसलों की पूरी जिम्मेदारी लेने के लिए सहमत हो गए, जिनके कारण कंपनी को छंटनी करनी पड़ी। जनवरी में गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई द्वारा भेजे गए नोट में उन्होंने दावा किया था कि अमेरिका के बाहर Google के निकाले गए कर्मचारियों को स्थानीय नियमों के हिसाब से वरीयता दी जाएगी। यह स्पष्ट नहीं है कि विश्व स्तर पर कितने कर्मचारी प्रभावित हुए हैं। Google के अलावा अमेजन ने अपने वर्कफोर्स से 18,000 लोगों को हटाने की योजना बनाई है, जो 10,000 कर्मचारियों के पिछले अनुमान से काफी अधिक है। मेटा ने 13,000 कर्मचारियों की छुट्टी भी कर दी है। मेटा के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने भी छंटनी की पूरी जिम्मेदारी ली, यह दावा करते हुए कि कंपनी महामारी के दौरान और उससे पहले हायरिंग को लेकर बेहद उत्साहित है। कई लोगों की नौकरी भी चली गई। 

हर रोज जा रही नौकरी

भारत समेत वैश्विक स्तर पर 2023 में औसतन प्रति दिन 1,600 से अधिक टेक कर्मचारियों की छंटनी की जा रही है। वैश्विक आर्थिक मंदी की आशंकाओं के बीच बर्खास्तगी की घटनाओं में तेजी आई है। लेऑफ ट्रैकिंग साइट लेऑफ्स डॉट एफवाईआई के आंकड़ों के अनुसार, 2022 में 1,000 से अधिक कंपनियों ने 154,336 कर्मचारियों की छंटनी की। 2022 में की गई बड़े पैमाने पर छंटनी नए साल में भी जारी है, और कर्मचारियों को निकालने में 

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Business News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement