Wednesday, February 28, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. बंगा के विश्व बैंक प्रमुख बनते ही भारत को लगा तगड़ा झटका, रिपोर्ट पढ़कर चीन को आ जाएगा बुखार!

बंगा के विश्व बैंक प्रमुख बनते ही भारत को लगा तगड़ा झटका, रिपोर्ट पढ़कर चीन को आ जाएगा बुखार!

विश्व बैंक ने वैश्विक आर्थिक संभावनाओं पर अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा है कि 2023 में वैश्विक वृद्धि दर घटकर 2.1 प्रतिशत रहेगी, जो 2022 में 3.1 प्रतिशत रही थी।

Sachin Chaturvedi Written By: Sachin Chaturvedi @sachinbakul
Published on: June 07, 2023 7:45 IST
वित्त वर्ष 2023 में भारत में विकास दर घटकर 6.3 प्रतिशत रहने की उम्मीद है: विश्व बैंक- India TV Paisa
Photo:AP वित्त वर्ष 2023 में भारत में विकास दर घटकर 6.3 प्रतिशत रहने की उम्मीद है: विश्व बैंक

भारतीय मूल के दिग्गज प्रोफेशनल अजय बंगा (Ajay Banga) ने पिछले हफ्ते ही विश्व बैंक (World Bank) प्रमुख के रूप में अपना 5 साल का कार्यकाल शुरू किया है। बंगा के विश्व बैंक का अध्यक्ष बनने के बाद वैश्विक विकासदर (Global Growth Rate) को लेकर पहले अनुमान जारी किए गए हैं। इस रिपोर्ट में वैश्विक स्तर पर विकास दर घटने और मंदी की सख्त चेतावनी दी गई है। इसी के साथ ही विश्व बैंक ने भारत के लिए भी विकास दर में कटौती कर दी है। विश्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष 2023-24 के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि दर (Indian Growth Rate) के अपने अनुमान को घटाकर 6.3 प्रतिशत कर दिया है। यह विश्व बैंक के जनवरी में लगाए गए पिछले अनुमान से 0.3 प्रतिशत अंक कम है। 

जानिए भारत के लिए क्या कहा

इसके साथ ही विश्व बैंक (World Bank) ने मंगलवार को कहा कि भारत में निजी उपभोग और निवेश में अप्रत्याशित जुझारूपन देखने को मिल रहा है। साथ ही सेवाओं की वृद्धि भी मजबूत है। भारतीय मूल के बंगा ने शुक्रवार को ही विश्व बैंक के अध्यक्ष का पदभार संभाल था। विश्व बैंक की रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में वृद्धि दर में सुस्ती की वजह ऊंची मुद्रास्फीति और कर्ज की लागत बढ़ने की वजह से निजी खपत का प्रभावित होना है। 

2025-26 तक सुधरेंगे हालात 

रिपोर्ट के मुताबिक, ‘‘मुद्रास्फीति के संतोषजनक दायरे के मध्य बिंदु तक आने तथा सुधारों की वजह से वित्त वर्ष 2025-26 में वृद्धि दर कुछ रफ्तार पकड़ेगी। उभरती प्रमुख विकासशील अर्थव्यवस्थाओं (ईएमडीई) में भारत कुल मिलाकर और प्रति व्यक्ति जीडीपी दोनों में दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बना रहेगा।’’ विश्व बैंक ने कहा है कि भारत में 2023 की शुरुआत में वृद्धि महामारी पूर्व के दशक में हासिल स्तर से कम रही। इसकी वजह यह है कि ऊंचे मूल्य और कर्ज की लागत बढ़ने से निजी निवेश प्रभावित हुआ। हालांकि, 2022 की दूसरी छमाही में गिरावट के बाद 2023 में विनिर्माण क्षेत्र की स्थिति सुधर रही है। 

रिपोर्ट पढ़कर चीन को आएगा बुखार  

विश्व बैंक ने वैश्विक आर्थिक संभावनाओं पर अपनी ताजा रिपोर्ट में यह अनुमान जताया है। इसमें कहा गया है कि 2023 में वैश्विक वृद्धि दर घटकर 2.1 प्रतिशत रहेगी, जो 2022 में 3.1 प्रतिशत रही थी। चीन के अलावा उभरते बाजारों और विकासशील अर्थव्यवस्थाओं (ईएमडीई) में वृद्धि दर पिछले साल के 4.1 प्रतिशत से कम होकर इस वर्ष 2.9 प्रतिशत रहने का अनुमान है। यह वृद्धि दर में व्यापक गिरावट को दर्शाता है।

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Business News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement