1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. शौक के चलते घर में शुरू किया आइसक्रीम व बिस्‍कुट बनाने का काम, अब कंपनी ला रही है 550 करोड़ रुपये का IPO

शौक के चलते घर में शुरू किया आइसक्रीम व बिस्‍कुट बनाने का काम, अब कंपनी ला रही है 550 करोड़ रुपये का IPO

धीरे-धीरे उनके हाथों का स्वाद लोगों को पसंद आने लगा और उन्होंने क्रीमिका ब्रांड से बिस्कुट और इंग्लिश ओवन ब्रांड से ब्रेड एवं बन बनाना शुरू कर दिया। आज उनकी कंपनी का सालाना टर्नओवर 700 करोड़ रुपये है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: December 14, 2020 9:55 IST
Mrs Bectors Food to hit capital mkts on Dec 16;price band fixed at Rs 286-288 per equity share- India TV Paisa
Photo:TWITTER

Mrs Bectors Food to hit capital mkts on Dec 16;price band fixed at Rs 286-288 per equity share

नई दिल्‍ली। लुधियाना की मिसेज बेक्‍टर्स फूड्स स्‍पेशिएल्‍टी कंपनी उत्‍तर भारत में बिस्‍कुट और ब्रेड की एक जानी-पहचानी कंपनी है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि कंपनी की स्‍थापना पाकिस्‍तान से भारत आईं मिसेज रजनी बेक्‍टर ने की थी और इसकी स्‍थापना के पीछे की कहानी भी बड़ी रोचक है। रजनी बेक्‍टर को आइसक्रीम और कुकीज बनाने का बहुत शौक था। शादी के बाद उन्‍होंने अपने इस शौक को जिंदा रखा और घर पर ही आइसक्रीम और बिस्‍कुट बनाने लगीं। उन्‍होंने छोटे-छोटे ऑर्डर लेकर घरों में इसकी सप्‍लाई भी शुरू कर दी। धीरे-धीरे उनके हाथों का स्‍वाद लोगों को पसंद आने लगा और उन्‍होंने क्रीमिका ब्रांड से बिस्‍कुट और इंग्लिश ओवन ब्रांड से ब्रेड एवं बन बनाना शुरू कर दिया। आज उनकी कंपनी का सालाना टर्नओवर 700 करोड़ रुपये है।

15 दिसंबर को खुलेगा आईपीओ

बिस्कुट और ब्रेड बनाने वाली पंजाब की कंपनी मिसेज बेक्टर्स फूड स्पेशिएल्टीज की अपने राजपुरा विनिर्माण इकाई के विस्तार के लिए बाजार से करीब 500- 550 करोड़ रुपये जुटाने के लिए अगले सप्ताह पूंजी बाजार में उतरने की योजना है। कंपनी की प्रस्तावित आरंभिक सार्वजनिक निर्गम पेशकश (आईपीओ) 15 दिसंबर को खुलेगी और 17 दिसंबर को बंद हो जाएगी। 10 रुपये के अंकित मूल्य वाले प्रति शेयर का मूल्य दायरा 286- 288 रुपये प्रति शेयर पर निर्धारित किया गया है।

न्‍यूनतम 50 शेयरों के लिए लगानी होगी बोली

मिसेज बेक्टर्स फूड स्पेशिएल्टी के प्रबंध निदेशक अनूप बेक्टर ने आईपीओ रोडशो में संवाददाताओं को बताया कि न्यूनतम बोली 50 शेयर के लॉट के लिए लगाई जा सकेगी और उसके ऊपर 50 इक्विटी शेयरों के गुणक में बोली लगाई जा सकेगी। निर्गम का 50 प्रतिशत तक का हिस्सा पात्र संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी) के लिए आरक्षित होगा, जबकि 35 प्रतिशत खुदरा निवेशकों के लिए आरक्षित होगा। गैर-संस्थागत निवेशकों (एनआईआई) के लिए 15 प्रतिशत तक का हिस्सा रखा गया है।

कर्मचारियों को भी मिलेंगे शेयर

इसमें कर्मचारियों के लिए आरक्षण का हिस्सा 50 लाख रुपये तक का होगा। चूंकि कंपनी के प्रवर्तक अपनी कोई इक्विटी नहीं बेच रहे हैं, इसलिए आईपीओ के बाद भी उनकी 51 प्रतिशत से अधिक की हिस्सेदारी बनी रहेगी। आईपीओ में 40.54 करोड़ रुपये मूल्‍य के नए शेयर जारी किए जाएंगे और ओएफएस के जरिये मौजूदा निवेशक 500 करोड़ रुपये के शेयर बेचेंगे। इनमें लीनस 245 करोड़ रुपये, मैबल 38.50 करोड़ रुपये, जीडब्‍ल्‍यू क्राउन पीटीई 186 करोड़ रुपये तक और जीडब्‍ल्‍यू कनफेक्‍शनरी पीटीई द्वारा 30.50 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री की जाएगी।

निर्यात पर भी है जोर

कंपनी क्रीमिका ब्रांड के तहत बिस्‍कुट और इंग्लिश ओवन ब्रांड से ब्रेड का निर्माण और बिक्री करती है। मिसेज बेक्‍टर्स फूड स्‍पेशिएल्‍टीज मैकडोनाल्‍ड्स, केएफसी, बर्गर किंग और कार्लस जूनियर जैसे क्विक सर्विस रेस्‍तरां को बन आपूर्ति भी करती है। बिस्‍कुट बाजार में कंपनी की बाजार हिस्‍सेदारी 4.5 प्रतिशत है। कंपनी वर्तमान में 60 देशों को निर्यात कर रही है। बेक्‍टर फूड्स का घरेलू और निर्यात कारोबार का अनुपात 65:35 है।

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X