1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. मेरा पैसा
  5. Cancer Plan: खरीदने जा रहे हैं कैंसर केयर पॉलिसी, इन बातों का जरूर रखें ध्यान

Cancer Plan: खरीदने जा रहे हैं कैंसर केयर पॉलिसी, इन बातों का जरूर रखें ध्यान

आज के समय में कैंसर से सुरक्षा देने वाली कई बीमा पॉलिसी हैं जो कैंसर के महंगे इलाज के खिलाफ आपको सुरक्षा प्रदान करती हैं।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: February 03, 2022 15:45 IST
Cancer Plan- India TV Hindi News
Photo:PIXABAY

Cancer Plan

Highlights

  • प्रत्येक 10 भारतीय में से एक को कैंसर की बीमारी है और प्रत्येक 15 भारतीय में से एक की मौत होती है
  • देश में स्वास्थ्य सेवाओं के बेहतर होने के साथ ही इलाज भी काफी महंगा हो गया है।
  • कॉम्प्रिहेंसिव प्लान है तो क्या आपको कैंसर के लिए विशेष तौर पर पॉलिसी लेने की जरूरत है?

कैंसर की बीमारी ​बीते कुछ वर्षों में महामारी जैसा स्वरूप लेती जा रही है। हाल के दिनों में कैंसर रोगियों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। 2020 में जारी डब्ल्यूएचओ के एक अध्ययन के अनुसार प्रत्येक 10 भारतीय में से एक को कैंसर की बीमारी है। वहीं प्रत्येक 15 भारतीय में से एक की इससे मृत्यु होगी। इसलिए कैंसर होने का खतरा बहुत अधिक है, जिसका अर्थ है कि बीमारी से बचाव न होने से हमेशा बेहतर होता है। दूसरी ओर देश में स्वास्थ्य सेवाओं के बेहतर होने के साथ ही इलाज भी काफी महंगा हो गया है। 

आज के समय में कैंसर से सुरक्षा देने वाली कई बीमा पॉलिसी हैं जो कैंसर के महंगे इलाज के खिलाफ आपको सुरक्षा प्रदान करती हैं। लेकिन यदि आपके पास पहले से ही कॉम्प्रिहेंसिव प्लान है तो क्या आपको कैंसर के लिए विशेष तौर पर पॉलिसी लेने की जरूरत है या नहीं। आपके इन्हीं सवालों के जवाब आज हम लेकर आए हैं। 

सामान्य हेल्थ पॉलिसी है तो कैंसर प्लान क्यों?

इस समय बाजार में कई कॉम्प्रिहेंसिव हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी मौजूद हैं जो कैंसर सहित कई तरह की बीमारियों को कवर करती हैं। ये प्लान इंडेम्निटी प्लान हैं जो बीमित राशि की कुल सीमा के भीतर इलाज की लागत का भुगतान करती हैं। लेकिन इन क्रिटिकल इलनेस प्लान में कैंसर से जुड़ी तय बीमारियां होती हैं, ये पॉलिसी इन्हीं को कवर करती हैं। वहीं कैंसर केयर प्लान खासतौर पर इसी बीमारी के लिए डिजाइन किए जाते हैं, जो आपको सामान्य पॉलिसी से अधिक लाभ प्रदान करते हैं। क्रिटिकल इलनेस पॉलिसी आपको सिर्फ कैंसर की एडवांस स्टेज के लिए ही भुगतान करती हैं, वहीं कैंसर पॉलिसियों में प्रारंभिक और एडवांस स्टेज सभी कवर होते हैं। 

वेटिंग पीरियड का भी रखें ध्यान 

अलग अलग बीमा कंपनी पॉलिसी शुरू होने से 90 से 180 दिनों का वेटिंग पीरियड प्रदान करती हैं। इस अवधि के दौरान, पॉलिसीधारक कोई क्लेम नहीं कर सकता है। बीमा कंपनियों के लिए प्रतीक्षा अवधि अनिवार्य है ताकि पॉलिसी खरीदने के समय व्यक्ति को पहले से ही बीमारी होने की स्थिति में भुगतान न करना पड़े। दरअसर बीमाकर्ता द्वारा लगाई गई प्रतीक्षा अवधि झूठे दावों से बचने का उपाय है। ये उन लोगों की पहचान करता है,जिन्हें पहले ही कैंसर हो चुका है और वे अभी भी अपने आने वाले खर्चों के लिए कवरेज चाहते हैं।"

टॉप अप प्लान या अलग कैंसर पॉलिसी

यदि आपके पास एक कॉम्प्रिहेंसिव कवर है जो कैंसर के खिलाफ अच्छा कवरेज प्रदान नहीं करता है तो आपके लिए कैंसर विशेष प्लान या कैंसर के खिलाफ अच्छे कवरेज के साथ एक क्रिटिकल इलनेस प्लान खरीदना बेहतर होगा। कैंसर के इलाज की भारी लागत को देखते हुए, किसी को निश्चित रूप से एक उच्च कवर लाभ कैंसर विशेष प्लान या क्रिटिकल इलनेस प्लान के साथ अपनी कॉम्प्रिहेंसिव पॉलिसी को टॉप अप कराना चाहिए। यह सुनिश्चित करेगा कि उपचार लागत के अलावा, अन्य सभी संबंधित खर्चों का भी ध्यान रखा जाएगा। जैसे गैर-चिकित्सा खर्च जैसे दूर के स्थानों पर इलाज के लिए यात्रा का खर्च, पूरक दवाएं घरेलू खर्च इत्यादि। स्टैंडअलोन कैंसर लाभ कैंसर विशेष पॉलिसी या गंभीर बीमारी योजना कैंसर के पारिवारिक इतिहास वाले लोगों के लिए ज्यादा सही मानी जाती है

Latest Business News

Write a comment