1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Whatsapp विवाद से Telegram की लगी लॉटरी, मंथली एक्टिव यूजर्स की संख्या 500 मिलियन के पार

Whatsapp विवाद से Telegram की लगी लॉटरी, मंथली एक्टिव यूजर्स की संख्या 500 मिलियन के पार

ताजा आंकड़ों के अनुसार टेलिग्राम के मंथली एक्टिव यूजर्स की संख्या 500 मिलियन के पार पहुंच गई है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: January 13, 2021 14:21 IST
Telegram- India TV Paisa

Telegram

बिल्लियों के झगड़े में बंदर को फायदा होने कहावत तो आपने सुनी होगी। कुछ यही हाल आजकल मैसेजिंग एप की दुनिया में चल रहा है। इस समय दुनिया का सबसे बड़ा मैसेजिंग एप व्हाट्सएप (Whatsapp) इस समय प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर विवादों का सामना कर रहा है। व्हाट्सएप के इस विवाद का सीधा फायदा दूसरी मैसेजिंग एप ​टेलिग्राम (Telegram) को होता साफ दिखाई दे रहा है। ताजा आंकड़ों के अनुसार टेलिग्राम के मंथली एक्टिव यूजर्स की संख्या 500 मिलियन के पार पहुंच गई है। 

पढ़ें- अब गैर रजिस्टर मोबाइल नंबर पर भी आएगा आधार OTP, UIDAI ने बताई पूरी प्रक्रिया

टेलिग्राम ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि जनवरी के पहले सप्ताह में कंपनी के एक्टिव यूजर्स (Active Users) की संख्या 500 मिलियन के पार पहुंच गई है। कंपनी का दावा है कि पिछले 72 घंटे में ही 25 मिलियन यूजर्स उसके साथ जुड़े हैं। ये नए यूजर्स दुनिया के सभी हिस्सों से हैं। नए यूजर्स में 38 प्रतिशत एशिया से हैं, 27 प्रतिशत यूरोप से और 21 प्रतिशत लैटिन अमेरिका से हैं। 

पढ़ें- बैंक अकाउंट से रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर बदलना हुआ बेहद आसान, ये रहा पूरा प्रोसेस

दूसरी ओर व्हाट्सएप की बात की जाए तो उसके दुनिया भर में 4 बिलियन यूजर्स हैं। लेकिन पिछले सप्ताह कंपनी द्वारा भेजे गए प्राइवेसी पॉलिसी से जुड़े नोटिफिकेशन के बाद से कंपनी विवाद में फंस गई है। 

हर दिन जुड़ रहे हैं 1.5 मिलियन यूजर

कंपनी के संस्थापक और सीईओ पवेल दुरोव ने बताया कि पिछले साल की तुलना में यूजर्स की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि देखी जा रही है। हर दिन 1.5 मिलियन यूजर कंपनी के साथ जुड़ रहे हैं। दुरोव ने कहा कि लोग फ्री की एप के चक्कर में अपनी प्राइवेसी से समझौता नहीं करना चाहते हैं। इसी के साथ ही वे अब टेक मोनोपॉली का शिकार भी नहीं बनाना चाहत हैं। उन्होंने साफ किया दूसरी एप्स के उलट हमारा कोई विज्ञापन हित नहीं है, हम किसी भी सरकार या डेटा कंपनी के साथ काम नहीं करते हैं। 

Write a comment