1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. कोरोना की वजह से अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका, पहली तिमाही में 23.9% घटी GDP

कोरोना की वजह से अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका, पहली तिमाही में 23.9% घटी GDP

कोरोना वायरस की वजह से अप्रैल से जून के दौरान देश में लॉकडाउन लगा हुआ था और लॉकडाउन के दौरान देश में अधिकतर व्यावसायिक गतिविधियां बंद थी ऐसे में इस तिमाही के दौरान अर्थव्यवस्था को तगड़ा झटका लगा है जून में खत्म हुई तिमाही के दौरान अर्थव्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की तेज गिरावट दर्ज हुई है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: September 16, 2020 0:31 IST
April June Quarter Q1 GDP Data Coronavirus Impact Vikas Dar Development live updates- India TV Paisa
Photo:INDIA TV

April June Quarter Q1 GDP Data Coronavirus Impact Vikas Dar Development live updates

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वजह से अप्रैल से जून के दौरान देश में लॉकडाउन लगा हुआ था और लॉकडाउन के दौरान देश में अधिकतर व्यावसायिक गतिविधियां बंद थी ऐसे में इस तिमाही के दौरान अर्थव्यवस्था को तगड़ा झटका लगा है जून में खत्म हुई तिमाही के दौरान अर्थव्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की तेज गिरावट दर्ज हुई है।

 

Live updates : April June Quarter GDP Data Live Updates

Auto Refresh
Refresh
  • 5:42 PM (IST) Posted by Saurabh Sharma

    Q1 GDP आंकड़े- जून में खत्म हुई तिमाही के दौरान अर्थव्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की तेज गिरावट दर्ज

    Q1 GDP आंकड़े- जून में खत्म हुई तिमाही के दौरान अर्थव्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की तेज गिरावट दर्ज

  • 5:24 PM (IST) Posted by Saurabh Sharma

    Q1 GDP आंकड़े- क्या है अर्थशास्त्रियों के बीच सर्वे का परिणाम

    रॉयटर्स के द्वारा कराए गए एक सर्वे में दुनिया भर के प्रमुख अर्थशास्त्रियों का अनुमान है कि भारत की अर्थव्यवस्था पहली तिमाही में 18.3 फीसदी की दर से गिर सकती है। इस सर्वे में अर्थशास्त्रियों ने सितंबर तिमाही में 8.1 फीसदी और दिसंबर तिमाही में 1 फीसदी गिरावट का भी अनुमान दिया है।

  • 5:21 PM (IST) Posted by Saurabh Sharma

    Q1 GDP आंकड़े- क्या है SBI का अनुमान

    स्टेट बैंक ऑफ इंडिया द्वारा जारी की जाने वाली रिसर्च रिपोर्ट Ecowrap के मुताबिक पहली तिमाही में जीडीपी 16.5 फीसदी के करीब गिरावट दर्ज कर सकती है। रिपोर्ट के मुताबिक तेज गिरावट तिमाही के दौरान जारी प्रतिबंधों और मांग की गिरावट की वजह से संभव है।

  • 5:12 PM (IST) Posted by Saurabh Sharma

    Q1 GDP आंकड़े- राजकोषीय घाटा 8.21 लाख करोड़ रुपये के स्तर पर

    31 अगस्त को जारी हुए आंकड़ों के मुताबिक भारत का राजकोषीय घाटा (Fiscal deficit) बढ़कर 8.21 लाख करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया। पिछले साल में ये आंकड़ा 5.47 लाख करोड़ रुपये था।

  • 5:06 PM (IST) Posted by Saurabh Sharma

    Q1 GDP आंकड़े- कोर सेक्टर के आंकड़ों से मिले कृषि सेक्टर के अहम संकेत

    जुलाई के लिए कोर सेक्टर के आंकड़ों में सबसे बेहतर रहे हैं फर्टिलाइजर सेक्टर से जुड़े आंकडे। जुलाई में फर्टिलाइजर सेक्टर आउटपुट 6.9 फीसदी बढ़। जुलाई 2019 में ये आंकड़ा 1.5 फीसदी रहा। दरअसल बेहतर मॉनसून के संकेतों के बाद फर्टिलाइजर की मांग बढ़ी है। जुलाई के आंकड़े आज जारी होने वाले आंकड़ों में शामिल नहीं होंगे. लेकिन इससे संकेत हैं कि जून तिमाही में कृषि सेक्टर के आंकड़े बेहतर रह सकते हैं।

  • 5:01 PM (IST) Posted by Saurabh Sharma

    Q1 GDP आंकड़े- जुलाई में कोर इंडस्ट्री आउटपुट में गिरावट जारी

    आज जारी हुए कोर इंडस्ट्री आंकड़ों के मुताबिक 8 कोर सेक्टर का आउटपुट जुलाई में 9.6 फीसदी गिरा है। ये लगातार पांचवां महीना है जब कोर इंडस्ट्री में गिरावट देखने को मिली है। कोर इंडस्ट्री आउटपुट में दबाव स्टील, रिफायनरी प्रोडक्ट और सीमेंट सेक्टर में गिरावट की वजह से रही है।

  • 4:51 PM (IST) Posted by Saurabh Sharma

    Q1 GDP आंकड़े- किन सेक्टर पर दिख सकता है सबसे ज्यादा असर

    अनुमानों के मुताबिक पहली तिमाही में सबसे ज्यादा असर मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर कंस्ट्रक्शन, होटल और टूरिज्म, यातायात जैसे सेक्टर पर देखने को मिल सकता है। कोरोना की वजह से लगे लॉकडाउन के दौरान इस सेक्टर के कामकाज पर सबसे ज्यादा असर पड़ा था। वहीं जानकार सिर्फ एग्री सेक्टर से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद कर रहे हैं।  

  • 4:44 PM (IST) Posted by Saurabh Sharma

    Q1 GDP आंकड़े- कोविड 19 के असर की पहली साफ तस्वीर

    आज आने वाले जीडीपी के आंकड़े अर्थव्यस्था पर कोविड 19 के असर की सबसे साफ तस्वीर होगी। ये आंकड़े जून तिमाही के हैं, जिस दौरान कारोबारी गतिविधियों पर कोराना की सबसे ज्यादा मार पड़ी थी। इसके बाद से कारोबारी गतिविधियों में लगातार छूट दी जा रही है। यही वजह है कि अर्थशास्त्री मान रहे हैं कि आज आने वाले आंकड़े बताएंगे कि कोरोना का अर्थव्यवस्था पर असर को लेकर सरकार और संस्थान कितने सही या गलत रहे।

  • 4:39 PM (IST) Posted by Saurabh Sharma

    कृषि सेक्टर से उम्मीदें कायम

    तिमाही के दौरान कंपनियों के द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक ट्रैक्टर और कृषि उपकरणों की बिक्री का प्रदर्शन बेहतर रहा है। वहीं दोपहिया वाहनों की बिक्री को भी ग्रामीण मांग का सहारा मिला है। इसके साथ ही बुवाई का क्षेत्रफल बढ़ने से संकेत हैं कि कृषि क्षेत्र से ग्रोथ के उम्मीद भरे आंकड़े मिल सकते हैं।

  • 4:35 PM (IST) Posted by Saurabh Sharma

    शाम साढे 5 बजे के करीब जारी होंगे आंकड़े

    जीडीपी के आंकड़े शाम साढ़े 5 बजे के करीब जारी होंगे। बाजार के जानकार जीडीपी में गिरावट के पहले ही अनुमान दे चुके हैं। हालांकि सबकी नजर इस बात पर रहेगी कि अर्थव्यवस्था को नुकसान अनुमान से कम रहा है या ज्यादा। वहीं कौन से सेक्टर सबसे ज्यादा नुकसान में रहे है।

  • 4:30 PM (IST) Posted by Saurabh Sharma

    अर्थव्यवस्था में लगातार दबाव जारी

    पिछले साल की इसी तिमाही में जीडीपी में 5 फीसदी की बढ़त दर्ज हुई थी। जो कि उस समय 6 साल के निचले स्तर पर थी।  वहीं पिछली यानि मार्च तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था में 3.1 फीसदी की बढ़त देखने को मिली थी, जो कि पिछले 8 सालों में सबसे कम रही। साल 2019-20 में जीडीपी ग्रोथ 4.2 फीसदी के स्तर पर थी।

  • 4:21 PM (IST) Posted by Gaurav Shukla

    GDP आंकड़ों से पहले लुढ़का शेयर बाजार

    जीडीपी के आंकड़ों से पहले घरेलू शेयर बाजार में तेज गिरावट देखने को मिली है। हफ्ते के पहले कारोबारी सत्र में सेंसेक्स 839 अंक की गिरावट के साथ 38628 के स्तर पर और निफ्टी 260 अंक की गिरावट के साथ 11387 के स्तर पर बंद हुआ है। पढ़ें पूरी खबर

  • 4:05 PM (IST) Posted by Gaurav Shukla

    मार्च महीने में लागू किया गया था देशव्यापी लॉकडाउन

    भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) का भी कहना है कि कोरोना संकट के चलते लागू किए गए लॉकडाउन की वजह से GDP ग्रोथ नेगेटिव रह सकती है। जीडीपी के आंकड़ों पर बाजार और निवेशकों की भी नजर रहेगी। कोरोना वायरस महामारी के चलते मार्च के महीने में देशव्यापी लॉकडाउन घोषित किया गया था, जिसका प्रभाव अभी भी देश के कई इलाकों पर है।

  • 4:04 PM (IST) Posted by Gaurav Shukla

    भारत की GDP ग्रोथ रेट G-20 देशों में सबसे कम रहने की आशंका

    आशंका जताई जा रही है कि कोरोना महामारी के कारण देश की GDP में इस तिमाही रिकॉर्ड गिरावट देखने को मिलेगी। विशेषज्ञों और कई रेटिंग एजेंसियों का कहना है कि भारत की GDP ग्रोथ रेट वित्त वर्ष 2021-21 की पहली तिमाही (Q1) में G-20 देशों में सबसे कम रहने की आशंका है।

  • 4:02 PM (IST) Posted by Gaurav Shukla

    राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय जारी करेगा जीडीपी डेटा

    राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) की तरफ से सोमवार (31 अगस्त) को चालू वित्त वर्ष 2021-21 की पहली तिमाही के जीडीपी के आंकड़े जारी किए जाएंगे। 

Write a comment
X