1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. आईडीएफसी फर्स्ट बैंक अगले हफ्ते से लॉन्च करेगा फोन के जरिए संपर्क रहित भुगतान सेवा ‘सेफपे’

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक अगले हफ्ते से लॉन्च करेगा फोन के जरिए संपर्क रहित भुगतान सेवा ‘सेफपे’

सेफपे के जरिए 2,000 रुपये प्रति लेन-देन तक का भुगतान किया जा सकता है और इसकी दैनिक सीमा 20,000 रुपये तक की है. इसके जरिए रोजमर्रा की खरीददारी को सरल बनाया जा सकता है। सेफपे को चालू करने के लिए ग्राहकों को एक बार अपने आईडीएफसी फर्स्ट बैंक डेबिट कार्ड को मोबाइल ऐप के लिए लिंक करना होगा।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: September 24, 2020 20:49 IST
- India TV Hindi
Photo:IDFC FIRST BANK

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक जल्द लॉन्च करेगा फोन के जरिए संपर्क रहित भुगतान सेवा सेफपे

नई दिल्ली। आईडीएफसी फर्स्ट बैंक जल्द एक खास सुविधा लॉन्च करने वाला है, जिसकी मदद से ग्राहक बिना संपर्क किए ही अपने स्मार्टफोन के जरिए भुगतान कर सकेगें। सेफपे नाम की ये सुविधा ग्राहक को प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) टर्मिनल से नीयर फील्ड कम्युनिकेशन (एनएफसी) के जरिए भुगतान में मदद करती है।  

सेफपे के जरिए आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के मोबाइल ऐप में ही नीयर फील्ड कम्युनिकेशन (एनएफसी) को शामिल किया जाएगा, जिसके जरिए बैंक द्वारा जारी डेबिट कार्ड से सुरक्षित भुगतान किया जा सकता है। सेफपे भुगतान में सोशल डिस्टेंसिंग का सपोर्ट करता है और इसके इस्तेमाल से  ग्राहकों को न तो कार्ड अपने साथ रखना होगा और न ही उसे खरीदारी के समय मर्चेंट (दुकानदार) को सौंपना होगा। ग्राहक अपने फोन के जरिए कॉन्टैक्ट लैस भुगतान कर सकता है। अगले एक सप्ताह में यह बैंक के मोबाइल ऐप के जरिए ग्राहकों के लिए उपलब्ध होगी।

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक की खुदरा देनदारी के प्रमुख अमित कुमार ने कहा, "वायरलेस दुनिया में लोग भुगतान का तरीका बदलना चाहते हैं। अभी तक, सुविधा डिजिटल भुगतानों को अपनाने के लिए चल रही है। अब, महामारी ने इसकी रफ्तार बढ़ा दी है। डिजिटल दुनिया में हमें एनएफसी तकनीक की भूमिका विशेष रूप से महत्वपूर्ण होती नजर आ रही है।"

उन्होंने कहा, "सेफपे के जरिए भुगतान का अनुभव बेहतर और प्रतिरोधहीन बनता है। कार्डधारक के लिए कार्ड को भौतिक रूप से अपने पास रखने की जरूरत खत्म हो जाती है और अंतत: कार्ड गुम होने का चिंता भी खत्म हो जाती है। ग्राहक चंद पलों में भुगतान कर स्टोर्स से निकल सकते हैं।"

वहीं वीज़ा के इंडिया और दक्षिण एशियाई प्रोडक्ट प्रमुख अरविंद रोन्टा ने कहा, "जैसा कि ग्राहक प्राथमिकता डिजिटल भुगतान को वरीयता दे रहे हैं, वैसे ही सेवा देने वालों को भी उनकी जरूरतों को पूरा करने में सक्षम होना चाहिए, चाहे वह कार्ड हो या स्मार्टफोन के इस तरह की जरूरतों को पूरा करने के लिए, हमें खुशी है कि हम आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के ग्राहकों के लिए टैप-टू-पे लेनदेन शुरू कर रहे हैं।"

सेफपे के जरिए 2,000 रुपये प्रति लेन-देन तक का भुगतान किया जा सकता है और इसकी दैनिक सीमा 20,000 रुपये तक की है. इसके जरिए रोजमर्रा की खरीददारी को सरल बनाया जा सकता है। सेफपे को चालू करने के लिए ग्राहकों को एक बार अपने आईडीएफसी फर्स्ट बैंक डेबिट कार्ड को मोबाइल ऐप के लिए लिंक करना होगा। सक्रिय होने के बाद, ग्राहक मर्चेंट के एनएफसी द्वारा मान्य पीओएस टर्मिनल पर अपना फोन अनलॉक करने के बाद घुमा कर भुगतान कर सकते हैं। इसके जरिए, एन्क्रिप्टेड कार्ड की जानकारी टर्मिनल पर वायरलेस तरीके से प्रसारित की जाती है। डेबिट कार्ड को मोबाइल ऐप के जरिए जोड़ा जा सकता है और जरूरत पड़ने पर डिलीट भी किया जा सकता है।

Latest Business News