1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. पेट्रोल डीजल की कीमतों में आज मिली राहत, जानिये महंगे तेल पर क्या बोले नये पेट्रोलियम मंत्री

पेट्रोल डीजल की कीमतों में आज मिली राहत, जानिये महंगे तेल पर क्या बोले नये पेट्रोलियम मंत्री

नये पेट्रोलियम मंत्री ने कहा कि उनका जोर भारत को गैस आधारित अर्थव्यवस्था बनाने पर होगा और कुल खपत में गैस की हिस्सेदारी मौजूदा 15 प्रतिशत से बढ़ाकर 30 प्रतिशत करने की जरूरत है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: July 09, 2021 8:51 IST
तेल कीमतों में आज...- India TV Paisa
Photo:FILE

तेल कीमतों में आज राहत

नई दिल्ली। देश के नये पेट्रोलियम मंत्री के पदभार संभालने के अगले दिन पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़त से राहत मिली है। लगातार दो दिन की बढ़त के बाद आज तेल कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया गया, यानि तेल कीमतें आज स्थिर रही हैं। हरदीप सिंह पुरी ने गुरुवार को ही पेट्रोलियम मंत्रालय का पदभार संभाला है। दूसरी तरफ अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में एक बार फिर तेजी दिखने से घरेलू बाजार में तेल की कीमतों में कटौती की उम्मीदों को झटका लगा है।  

कहां पहुंचे पेट्रोल और डीजल के दाम

दिल्ली में फिलहाल पेट्रोल 100.56 रुपये प्रति लीटर और डीजल 89.62 रुपये प्रति लीटर के स्तर पर पहुंच गया है।

मुंबई में फिलहाल  पेट्रोल 106.59 रुपये प्रति लीटर और डीजल 97.18 रुपये प्रति लीटर के स्तर पर है।
कोलकाता में पेट्रोल 100.62 रुपये प्रति लीटर और डीजल 92,65 रुपये प्रति लीटर के स्तर पर है।
चेन्नई में पेट्रोल 101.37 रुपये प्रति लीटर और डीजल 94.15 रुपये प्रति लीटर पर है।
 
6 हफ्ते से कम में 10 रुपये से ज्यादा महंगा हुआ पेट्रोल 
कच्चे तेल की कीमत में लगातार उछाल की वजह से ईंधन की कीमतों में लगातार बढ़त देखने को मिल रही है। बीते 38 दिनों में ही पेट्रोल 10.24 रुपये प्रति लीटर महंगा हो गया है। वहीं डीजल में 36 दिन दाम बढ़े हैं और इतने दिनों में ही यह 8.83 रुपये प्रति लीटर महंगा हो चुका है। ईंधन कीमतों में ये तेजी कच्चे तेल में उछाल के साथ साथ पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले करों की वजह से भी है। कोरोना संकट में आय के सीमित साधन होने के कारण सरकार चाह कर भी इन करों को हटा नहीं पा रही है। 

मंत्रालय संभालने के बाद क्या बोले नये मंत्री
नये पेट्रोलियम मंत्री ने कहा कि उन्हें तेल कीमतों को लेकर कुछ वक्त चाहिये क्योंकि वो इस बारे में पहले सभी पक्षों से विचार विमर्श करेंगे। हालांकि उन्होने साफ कहा कि उनका जोर भारत को गैस आधारित अर्थव्यवस्था बनाने पर होगा अभी एनर्जी की कुल खपत में गैस की हिस्सेदारी 15 फीसदी है। इसे बढ़ाकर 20 से 30 फीसदी करने की जरूरत है।

 

यह भी पढ़ें: दिल्ली NCR में बढ़े CNG के दाम, PNG की कीमतों में भी बढ़त, जानिए नए दाम

यह भी पढ़ें: अगले हफ्ते खुलेगा Zomato का आईपीओ, निवेशकों के लिये कमाई का मौका

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020  कवरेज
X