1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने को लेकर बुरी खबर, त्यौहार से पहले आम आदमी को बड़ा झटका

पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने को लेकर बुरी खबर, त्यौहार से पहले आम आदमी को बड़ा झटका

सूत्रों ने कहा कि अगर अंतरराष्ट्रीय कीमतें इस स्तर पर बनी रहती हैं, तो तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) को पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतों में वृद्धि करनी होगी। पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतों में पिछली बार क्रमश: 17 जुलाई और 15 जुलाई को वृद्धि की गई थी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: September 17, 2021 20:02 IST
पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने को लेकर बुरी खबर, त्यौहार से पहले आम आदमी को बड़ा झटका- India TV Paisa

पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने को लेकर बुरी खबर, त्यौहार से पहले आम आदमी को बड़ा झटका

नई दिल्ली: पेट्रोल डीजल के दाम फिर बढ़ने को लेकर चिंता की खबर है। त्यौहारी सीजन से पहले आम आदमी को बड़ा झटका लग सकता है। इसके संकेत मिलने भी शरु हो गए है। अंतरराष्ट्रीय तेल की कीमतों में वृद्धि भारत में पेट्रोल और डीजल की खुदरा बिक्री मूल्य में वृद्धि में तब्दील हो सकती है क्योंकि तेल कंपनियों को अत्यधिक मार्जिन निचोड़ का सामना करना पड़ता है। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 12 दिनों से कोई बदलाव नहीं हुआ है लेकिन अब अंतरराष्ट्रीय दर में उछाल दबाव बढ़ा रहा है। सूत्रों ने इसकी जानकारी दी है। 

सूत्रों ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में पेट्रोल और डीजल की मौजूदा कीमतें अगस्त के दौरान औसत कीमतों की तुलना में लगभग 4-6 अमरीकी डॉलर प्रति बैरल अधिक हैं। हालांकि, तेल कंपनियों द्वारा अभी तक खुदरा कीमतों में कोई वृद्धि प्रभावित नहीं हुई है। सूत्रों ने कहा कि अगर अंतरराष्ट्रीय कीमतें इस स्तर पर बनी रहती हैं, तो तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) को पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतों में वृद्धि करनी होगी। पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतों में पिछली बार क्रमश: 17 जुलाई और 15 जुलाई को वृद्धि की गई थी।

दिल्ली में पेट्रोल की कीमत फिलहाल 101.19 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 88.62 रुपये प्रति लीटर है। पिछले महीने की तुलना में अगस्त में औसत अंतरराष्ट्रीय कच्चे तेल की कीमतों में 3 अमरीकी डालर प्रति बैरल से अधिक की गिरावट आई थी। यह अमेरिका और चीन के मिश्रित आर्थिक आंकड़ों की पृष्ठभूमि के खिलाफ आया है और तेजी से फैल रहे डेल्टा संस्करण द्वारा एशिया में गतिशीलता प्रतिबंधों को बढ़ावा दिया गया है। 

दिल्ली के बाजार में पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतों में 18 जुलाई से तेल विपणन कंपनियों द्वारा 0.65 रुपये प्रति लीटर और 1.25 रुपये प्रति लीटर की कमी की गई थी। पिछला डाउनवर्ड रिवीजन 5 सितंबर को किया गया था। हालांकि, अंतरराष्ट्रीय बाजार में ताजा घटनाक्रम के साथ कच्चे तेल की कीमतों में अगस्त के अंतिम सप्ताह से लगातार उछाल आना शुरू हो गया है। मेक्सिको के ऑफशेयर प्लेटफॉर्म पर आग लगने से उत्तरी अमेरिका में कच्चे तेल का उत्पादन ठप हो गया है और यूएस गल्फ कोस्ट पर तूफान इडा के कारण हुए व्यवधानों ने तेल की कीमतों में भारी वृद्धि की है।

Write a comment
Click Mania
bigg boss 15