1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. कोरोना के इलाज में नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी, सरकार ने दिए ये निर्देश

कोरोना के इलाज में नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी, सरकार ने दिए ये निर्देश

केन्द्रीय इस्पात मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने देश में चिकित्सा आक्सीजन की उपलब्धता बढ़ाने के मुद्दे पर मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: April 17, 2021 10:01 IST
कोरोना के इलाज में...- India TV Hindi News
Photo:PTI

कोरोना के इलाज में नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी, सरकार ने दिए ये निर्देश

नयी दिल्ली। केन्द्रीय इस्पात मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने देश में चिकित्सा आक्सीजन की उपलब्धता बढ़ाने के मुद्दे पर मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। कोराना वायरस मरीजों के इलाज के लिये तरल चिकित्सा आक्सीजन (एलएमओ) एक महत्वपूर्ण चिकित्सा आवश्यकता है। इस्पात मंत्रालय ने लगातार किये गये कई ट्वीट में इस्पात मंत्री की मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ हुई बैठक के बारे में जानकारी दी। 

पढें-  बैंक के OTP के नाम हो रहा है फ्रॉड, खाली हो सकता है अकाउंट, ऐसे रहे सावधान

पढें-  SBI में सिर्फ आधार की मदद से घर बैठे खोलें अकाउंट, ये रहा पूरा प्रोसेस

बैठक में देश के इस्पात संयंत्रों से अस्पतालों में काम आने वाले आक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाने को लेकर चर्चा की गई। मंत्रालय ने कहा है कि प्रधान के कहने पर इस्पात संयंत्रों में काम करने वाले आक्सीजन संयंत्रों में 24 घंटे काम हो रहा है ताकि उनमें चिकित्सा आक्सीजन का उत्पादन किया जा सके। एक अन्य ट्वीट में मंत्रालय ने कहा कि सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के इस्पात संयंत्रों में काम करने वाले 28 आक्सीजन संयंत्रों से 1,500 टन चिकित्सा आक्सीजन की प्रतिदिन आपूर्ति की जा रही है। 

पढें-  खुशखबरी! हर साल खाते में आएंगे 1 लाख रुपये, मालामाल कर देगी ये स्कीम

पढें-  हिंदी समझती है ये वॉशिंग मशीन! आपकी आवाज पर खुद धो देगी कपड़े

मंत्रालय ने कहा कि इसके अलावा 30 हजार टन अतिरिक्त स्टाक भी चिकित्सा इसतेमाल के लिये उपलब्ध कराया जा रहा है। महामारी की शुरुआत के बाद से इस्पात कारखाने अब तक कुंल मिलाकर 1,30,000 टन चिकित्सा आक्सीजन की आपूर्ति कर चुके हैं।

Latest Business News

Write a comment
navratri-2022