1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में एसबीआई करेगा 71 करोड़ की मदद

कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में एसबीआई करेगा 71 करोड़ की मदद

भारत में फिलहाल 34 लाख सक्रिय मामलें हैं। वहीं देश का रिकवरी रेट 81.77 प्रतिशत है। अब तक संक्रमण से करीब 2 लाख लोगों की मौत हुई है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: May 03, 2021 21:50 IST
एसबीआई करेगा 71 करोड़...- India TV Paisa
Photo:PTI

एसबीआई करेगा 71 करोड़ रुपये की मदद

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) बैंक ने कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में हाथ आगे बढ़ाते हुए सोमवार को 71 करोड़ रूपए आवंटित करने की घोषणा की है। इस आवंटित धनराशि का इस्तेमाल कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित राज्यों में एक हजार बिस्तरों का अस्पताल बनाने समेत अन्य सुविधा प्रदान करने में किया जाएगा। एसबीआई ने एक बयान में कहा कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का सामना करने के लिए बैंक ने कई व्यवस्थाओं में मदद के तौर पर 71 करोड़ रूपए आवंटित किये हैं।  बैंक ने बताया कि कुल आवंटित राशि में से 30 करोड़ रूपए अस्थायी अस्पताल के लिए दिए जायेंगे तथा 21 करोड़ रूपए का आवंटन स्वास्थ्य उपकरणों की खरीद, अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति, कोविड देखभाल केंद्र, एम्बुलेंस, पीपीई किट और मास्क के साथ जरूरतमंद लोगों को भोजन समेत राहत सामग्री मुहैया कराने में किया जायेगा। 

स्टेट बैंक ने कहा कि दस करोड़ रूपए की राशि सरकार के कोरोना से संबंधित दिशा-निर्देशों का समर्थन करने तथा दस करोड़ रूपए लोगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए गैर सरकारी संगठनों के बीच दिए जायेंगे। बैंक अपनी 22 हजार शाखाओं के बड़े नेटवर्क के जरिये लोगों की सहायता करेगा। इसके अतिरिक्त बैंक कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए अस्थायी अस्पताल बनाने के लिए विभिन्न नामित अधिकारियों के साथ बातचीत भी कर रहा है। बैंक ने अपने कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों के टीकाकरण के लिए विभिन्न अस्पतालों के साथ समझौता भी किया है। जिसका खर्च बैंक ही उठाएगा। 

भारत में फिलहाल 34 लाख सक्रिय मामलें हैं। वहीं देश का रिकवरी रेट 81.77 प्रतिशत है। अब तक संक्रमण से करीब 2 लाख लोगों की मौत हुई है। देश के 12 राज्यों में सक्रिय मामले 1-1 लाख से ज्यादा हैं। वहीं 7 राज्यों में सक्रिय मामले 50 हजार से 1 लाख के बीच हैं।

Write a comment
X