1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. भारत में पवन ऊर्जा की बिजली दर हुई और सस्ती, प्रोजेक्ट की नीलामी में सेम्बकार्प, अडाणी ने लगाई सबसे कम बोली

भारत में पवन ऊर्जा की बिजली दर हुई और सस्ती, प्रोजेक्ट की नीलामी में सेम्बकार्प, अडाणी ने लगाई सबसे कम बोली

सूत्र के अनुसार अडाणी रिन्यूएबल होल्डिंग फिफ्टीन लिमिटेड ने 450 मेगावाट क्षमता के लिए बोली लगाई थी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: September 03, 2021 8:46 IST
भारत में पवन ऊर्जा की...- India TV Paisa
Photo:PIXABAY

भारत में पवन ऊर्जा की बिजली दर हुई और सस्ती, प्रोजेक्ट की नीलामी में सेम्बकार्प, अडाणी ने लगाई सबसे कम बोली

नयी दिल्ली। सोलर एनर्जी कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (सेकी) की 1,200 मेगावाट क्षमता की पवन ऊर्जा परियोजनाओं की नीलामी में सेम्बकार्प ग्रीन इन्फ्रा लि. प्रवर्तित कंपनी ग्रीन इंफ्रा विंड एनर्जी, रिन्यू नवीन ऊर्जा, अडाणी रिन्यूएबल्स होल्डिंग्स सबसे कम बोली लगाने वाली कंपनी के रूप में उभरी हैं। एक सूत्र ने यह जानकारी दी।

सेकी की नीलामी बृहस्पतिवार को संपन्न हुई। ग्रीन इन्फ्रा विंड एनर्जी लि., अनुपम रिन्यूएबल्स प्राइवेट लि.और रिन्यू नवीन ऊर्जा प्राइवेट लि.ने 2.69 रुपये प्रति यूनिट का शुल्क बोली में रखा जबकि अडाणी रिन्यूएबल होल्डिंग फिफ्टीन लि.ने 2.70 रुपये प्रति यूनिट की बोली लगायी। सूत्र के अनुसार अडाणी रिन्यूएबल होल्डिंग फिफ्टीन लिमिटेड ने 450 मेगावाट क्षमता के लिए बोली लगाई थी। जबकि ग्रीन इंफ्रा विंड एनर्जी लिमिटेड 180 मेगावाट क्षमता के लिए बोली लगायी। रिन्यू नवीन ऊर्जा प्राइवेट लिमिटेड ने 300 मेगावाट के लिये बेली लगायी है।

सूत्र ने बताया कि अनुपम रिन्यूएबल्स प्राइवेट लिमिटेड ने 150 मेगावाट परियोजना के लिए बोली लगाई थी। सेकी ने इस साल मई में देश में 1,200 मेगावाट अंतरराज्यीय पारेषण प्रणाली से जुड़ी पवन ऊर्जा परियोजनाओं (चरण 11) की स्थापना के लिए निविदा जारी की थी।

ट्विटर अपमानजनक भाषा पर लगाम लगाने के लिए लाएगा ‘सेफ्टी मोड’

ट्विटर ने उसके हैंडल पर अपमानजनक और घृणित भाषा का इस्तेमाल करने वालों पर अंकुश लगाने के लिये एक नया उपाय किया है। उसने एक नए ‘सेफ्टी मोड’ फीचर का परीक्षण किया है, जो अपमानजनक या घृणित टिप्पणियां करने वाले खातों को सात दिनों के लिए अस्थायी रूप से ब्लॉक कर देगा। ट्विटर ने बुधवार को एक ब्लॉग पोस्ट में कहा कि नए सुरक्षा उपाय को आईओएस, एंड्रॉइड और ट्विटर डॉट कॉम पर एक छोटे समूह के बीच उनकी राय जानने के लिए लागू किया गया है। ट्विटर ने कहा, ‘‘हमने ऐसे फीचर और सेटिंग को लागू किया है, जो आपको अधिक सहज महसूस करने और अपने अनुभव को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं। हम अवांछित बातचीत का सामना करने वाले लोगों पर दबाव को कम करने के लिए और अधिक प्रयास करना चाहते हैं।’’ 

Write a comment
Click Mania