1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Q2 नतीजे: विप्रो का मुनाफा पिछले साल के मुकाबले 17% बढ़कर 2,930 करोड़ रुपये, आय 30% बढ़ी

Q2 नतीजे: विप्रो का मुनाफा पिछले साल के मुकाबले 17% बढ़कर 2,930 करोड़ रुपये, आय 30% बढ़ी

दूसरी तिमाही में विप्रो के कर्मचारियों के द्वारा कंपनी छोड़ने की दर बढ़कर 20.5 प्रतिशत पहुंच गयी जो कि पहली तिमाही के दौरान 15.5 प्रतिशत पर थी।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: October 13, 2021 18:41 IST
विप्रो का Q2 मुनाफा...- India TV Hindi News
Photo:WIPRO

विप्रो का Q2 मुनाफा बढ़कर 2930 करोड़ रुपये

नई दिल्ली। आईटी सेक्टर की कंपनी विप्रो का दूसरी तिमाही में कंसोलिडेटेड मुनाफा पिछले साल के मुकाबले 17 प्रतिशत बढ़ा है, हालांकि पहली तिमाही के मुकाबले इसमें 9.6 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली है। मुनाफे के ये आंकड़े बाजार के अनुमानों से बेहतर रहे हैं। आज जारी हुए नतीजों के मुताबिक कंपनी का दूसरी तिमाही में मुनाफा 2930 करोड़ रुपये था। वहीं पिछले साल की इसी तिमाही में मुनाफा 2484 करोड़ रुपये के स्तर पर था। कंपनी के मुताबिक पिछली तिमाही के मुकाबले मुनाफे में गिरावट ऊंचे टैक्स भुगतान और लागत में बढ़त की वजह से देखने को मिली है। 

अनुमानों से बेहतर रहा आईटी सर्विस सेग्मेंट का प्रदर्शन

इसके साथ ही कंपनी की कंसोलिडेटेड आय पिछले साल के मुकाबले 30 प्रतिशत की बढ़त के साथ 19,667 करोड़ रुपये पर पहुंच गयी है। पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी को  15,114 करोड़ रुपये की आय हुई थी। पिछली तिमाही के मुकाबले आय में 7.7 प्रतिशत की बढ़त दर्ज हुई है। तिमाही के दौरान डॉलर मूल्य में आईटी सर्विस सेग्मेंट में पिछली तिमाही के मुकाबले 6.9 प्रतिशत की ग्रोथ देखने को मिली है। वहीं रूपये में सेग्मेंट की ग्रोथ 8.1 प्रतिशत रही है। कंपनी ने इसको लेकर 5-7 प्रतिशत का गाइडेंस दिया था। कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी की वजह से तिमाही के दौरान कर्मचारियों को मिलने वाले लाभ पिछली तिमाही के मुकाबले 8 प्रतिशत बढ़ा है। हालांकि दूसरी तिमाही में कर्मचारियों के द्वारा कंपनी छोड़ने की दर बढ़कर 20.5 प्रतिशत पहुंच गयी जो कि पहली तिमाही के दौरान 15.5 प्रतिशत पर थी।  विप्रो के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) एवं प्रबंध निदेशक थिएरी डेलापोर्ट ने कहा, ‘‘दूसरी तिमाही के नतीजों से पता चलता है कि हमारी रणनीति अच्छी तरह से काम कर रही है। लगातार दूसरी तिमाही में हमने तिमाही-दर-तिमाही आधार पर 4.5 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर्ज की है। इससे चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में सालाना आधार पर हमारी वृद्धि 28 प्रतिशत की रही है।’’ कंपनी ने कहा कि उसका आईटी सेवा कारोबार सालाना आधार पर 29.5 प्रतिशत बढ़कर 19,378.38 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। 

इन्फोसिस का दूसरी तिमाही का शुद्ध लाभ 12 प्रतिशत बढ़ा

इसके साथ ही आज देश की दूसरी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी इन्फोसिस ने भी अपने नतीजे जारी किये। इंफोसिस का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की सितंबर में समाप्त दूसरी तिमाही में 11.9 प्रतिशत बढ़कर 5,421 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 4,845 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। वहीं तिमाही के दौरान उसकी आमदनी 20.5 प्रतिशत बढ़कर 29,602 करोड़ रुपये पर पहुंच गई। बेंगलुरु की कंपनी ने चालू वित्त वर्ष 2021-22 के लिए अपने राजस्व वृद्धि के अनुमान को बढ़ाकर 16.5-17.5 प्रतिशत कर दिया है। इससे पहले कंपनी ने अपने राजस्व में 14 से 16 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान लगाया था। इन्फोसिस के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) एवं प्रबंध निदेशक सलिल पारेख ने कहा, ‘‘हमारा शानदार प्रदर्शन तथा वृद्धि का मजबूत परिदृश्य हमारी रणनीति के अनुकूल है।’’ कंपनी के निदेशक मंडल ने चालू वित्त वर्ष के लिए 15 रुपये प्रति शेयर के अंतरिम लाभांश की घोषणा की है। 

Latest Business News

Write a comment