1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. आपकी रसोई पर महंगाई का एक और अटैक! दक्षिण भारत में मिर्च की फसलों पर कीटों का हमला

आपकी रसोई पर महंगाई का एक और अटैक! दक्षिण भारत में मिर्च की फसलों पर कीटों का हमला

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि मिर्च की फसल में कीड़े लगने से आंध्र एवं तेलंगाना के किसान बुरी तरह प्रभावित हुए हैं।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: January 20, 2022 12:10 IST
आपकी रसोई पर महंगाई...- India TV Hindi News
Photo:PIXABAY

आपकी रसोई पर महंगाई का एक और अटैक! दक्षिण भारत में मिर्च की फसलों पर कीटों का हमला 

Highlights

  • आपकी रसाई में महंगाई का एक और अटैक
  • मिर्च की फसलों पर हारिकारक कीटों का हमला
  • स्थिति को काबू में लाने के लिए सरकार भी एक्शन में

नयी दिल्ली। आपकी रसाई में महंगाई का एक और अटैक हो सकता है। हर भारतीय रसोई में काम आने वाली मिच पर इस बार महंगाई का लड़का लग सकता है। दरअसल देश में मिर्च के सबसे बड़े उत्पादक राज्य आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में मिर्च की फसलों पर हारिकारक कीटों का हमला हुआ है। ऐसे में अब स्थिति को काबू में लाने के लिए सरकार भी एक्शन में आ गई है। 

वाणिज्य मंत्रालय के तहत गठित मसाला बोर्ड ने आंध्र प्रदेश एवं तेलंगाना में मिर्च की फसलों पर हानिकारक कीटों के हमले को देखते हुए वैज्ञानिकों एवं विशेषज्ञों के साथ मिलकर एक कारगर रणनीति बनाने पर बुधवार को चर्चा की। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि मिर्च की फसल में कीड़े लगने से आंध्र एवं तेलंगाना के किसान बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। ऐसी स्थिति में इस समस्या का समाधान निकालने के लिए मसाला बोर्ड ने कृषि विशेषज्ञों एवं वैज्ञानिकों के साथ चर्चा की। 

‘थ्रिप्स’ प्रजाति का हमला 

‘थ्रिप्स’ प्रजाति के कीटों ने मिर्च की फसल पर हमला बोला है। इससे बचने के जल्द उपाय नहीं किए गए तो दोनों राज्यों के हजारों किसानों को भारी आर्थिक नुकसान हो सकता है। इसके लिए जरूरी उपाय तलाशने के लिए मिर्च कार्यबल समिति के अध्यक्ष एवं सांसद जीवीएल नरसिम्हा राव ने वैज्ञानिकों एवं जानकारों के साथ चर्चा की। 

कर्नाटक भी चपेट में 

आंध्र एवं तेलंगाना के अलावा कर्नाटक और कुछ अन्य राज्यों में भी मिर्च की फसल पर कीटों के हमले का मामला सामने आया है। आधिकारिक बयान के मुताबिक, इस बैठक में राव ने मिर्च की खेती करने वाले किसानों को समुचित मार्गदर्शन देने और किफायती दवा सामग्री मुहैया कराने की जरूरत पर बल दिया। 

Latest Business News

Write a comment