1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सिर्फ सरकारी आंकड़ों में ही 'अच्छे दिन', हकीकत में आम आदमी की जेब जला रही महंगाई डायन

सिर्फ सरकारी आंकड़ों में ही 'अच्छे दिन', हकीकत में आम आदमी की जेब जला रही महंगाई डायन

कोरोना महामारी के चलते आम लोगों की आय घटी और महंगाई है। एक सर्वे के अनुसार, बीते दो सालों में प्रति व्यक्ति आय पांच हजार तक घटी। वहीं, रहना,खाना से लेकर घूमना महंगा हो गया है।

Alok Kumar Written by: Alok Kumar @alocksone
Published on: April 04, 2022 16:25 IST
Inflation- India TV Hindi News
Photo:INDIA TV

Inflation

Highlights

  • पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी से तेजी से बढ़ रही महंगाई
  • कोरोना महामारी के कारण अधिकांश लोगों की आय बीते दो साल में घटी
  • आसामान छूती महंगाई से आम आदमी को रसोई का बजट संभालना मुश्किल हो रहा

नई दिल्ली। पेट्रोल-रसोई गैस से लेकर खाने-पीने के जरूरी समानों की आसमान छूती कीमतों ने ऐसा कहर ढाया कि आम आदमी के लिए​ किचन का बजट संभलाना मुश्किल हो गया है। वहीं, दूसरी आरे अगर सरकारी मुहंगाई के आंकड़े पर नजर डाले तो आपको 'अच्छे दिन' ही नजर आएंगे। ऐसा इसलिए की खुदरा महंगाई बीते 7 साल में 6 से 7 फीसदी के आसपास ही घूम रही है। यानी, महंगाई कंट्रोल में है और इसमें बड़ा इजाफा नहीं हुआ है जैसा साल 2009 से लेकर 2013 के बीच देखने को मिला था, जब खुदरा महंगाई की दर 10 से लेकर 12 फीसदी के पार चली गई थी। लेकिन, क्या हालात वैसे ही अच्छे हैं जैसा सरकारी आंकड़ों में दिखाया जा रहा है। आइए, टटोलते हैं सरकारी आंकड़ों और वास्तविक महंगाई के इस मायावी खेल की हकीकत। 
 

सालाना औसत खुदरा मुद्रास्फीति (सीपीआई) 

 

साल खुदरा महंगाई की दर
2022 5.44% 
2021 4.89%  
2020 5.58 %
2019  7.66 %
2018 4.85 %
2017 2.49 %
2016  4.97 %
2015 5.88 %
2014 6.37 %
2013 10.92 %
2012 9.30 %
2011  8.87 %
2010 12.11 %
2009 10.83 %
 
 

जरूरी सामान की कीमतों में बढ़ोतरी (रुपये में)

आवश्यक वस्तुएं  01अप्रैल, 2014 01अप्रैल, 2022
चावल  27   32
गेहूं का आटा 18 -
चना दाल 49 72
अरहर दाल  74 105
उड़द दाल 70 113
मूंग दाल 94 102
मसूर दाल 66 93
चीनी  36 41
दूध 36 50
मूंगफली तेल (पैक)  158 207
सरसों का तेल (पैक)  102 201
वनस्पति (पैक)  86 187
सोया तेल (पैक) 96 181
सूरजमुखी तेल (पैक)  106 198
पाम तेल (पैक)  - 128
आलू  20 15
प्याज 21 22
टमाटर  20 20
 
स्रोत: उपभोक्ता मामले विभाग (मूल्य निगरानी प्रभाग) 
 

सालाना आधार पर पेट्रोल-डीजल की कीमत में प्रति लीटर बढ़ोतरी​

 
 
साल  पेट्रोल  डीजल
अप्रैल-13  Rs 66.09  Rs 48.63
अप्रैल-14  Rs 72.26  Rs 55.48
अप्रैल-15  Rs 60.49  Rs 49.71
अप्रैल-16  Rs 59.68  Rs 48.33
जुलाई-17  Rs 63.09  Rs 53.33
जुलाई-18  Rs 75.55  Rs 67.38
जुलाई-19  Rs 72.96  Rs 66.69
जून-20  Rs 79.76  Rs 79.88
जुलाई-21  Rs 99.86  Rs 89.36
अप्रैल-22  Rs 103.81  Rs 95.07

 

 

रसोई गैस सिलेंडर ने भी बढ़ाया बोझ 

जरूरी सामान की आसमान छूती कीमतों के बीच रसोई गैस सिलेंडर के बढ़े दाम ने भी आम आदमी की मुश्किलें बढ़ा दी है। दरअसल, जून 2020 में जहां दिल्ली में 14.2 ​केजी वाले सिलेंडर के दाम 593 रुपये थे वो अब बढ़कर 949.50 रुपये पहुंच गया है। 
 
 

इन सभी ने भी मंथली बजट को बिगाड़ा 

 
मोबाइल रिचार्ज करना महंगा हुआ 50%
बस का किराया बढ़ा 30% तक
टीवी-फ्रिज महंगा   35% तक
मकान की कीमत में बढ़ोतरी  25% तक
घर का किराया बढ़ा   15% 

 

कोरोना के चलते आय घटी 

 
कोरोना महामारी के चलते आम लोगों की आय घटी और महंगाई है। एक सर्वे के अनुसार, बीते दो सालों में प्रति व्यक्ति आय पांच हजार तक घटी। वहीं, रहना,खाना से लेकर घूमना महंगा हो गया है। आसमान छूती महंगाई के कारण मांग और खपत में गिरावट दर्ज की गई है। आम लोगों का कहना है कि महंगाई ने लोगों की कमर तोड़ दी है। किचन का जायका बिगाड़कर रख दिया है। 

Latest Business News

Write a comment