Friday, March 01, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. नौकरी करने वालों के लिए अब छंटनी नहीं, इंक्रीमेंट की बारी, इस साल कंपनियां वेतन में इतने फीसदी की वृद्धि करेगी

नौकरी करने वालों के लिए अब छंटनी नहीं, इंक्रीमेंट की बारी, इस साल कंपनियां वेतन में इतने फीसदी की वृद्धि करेगी

करीब 50 फीसदी कंपनियों ने नई भर्तियों के अलावा पुराने पदों पर नियुक्तियों की उम्मीद जताई है। वहीं 29 प्रतिशत कंपनियों ने सिर्फ नई भर्तियों की बात कही है जबकि 17 प्रतिशत ने कर्मचारियों की संख्या बरकरार रखने की बात कही है।

Alok Kumar Edited By: Alok Kumar @alocksone
Published on: February 16, 2023 17:59 IST
नौकरी - India TV Paisa
Photo:PTI नौकरी

नौकरीपेशा लोगों के लिए अच्छी खबर है। वैश्विक मंदी के बीच पहली छमाही में कम लोगों की छंटनी होगी। वहीं, इस साल औसत वेतन-वृद्धि 20 प्रतिशत से भी अधिक रहने की उम्मीद है। जॉब पोर्टल नौकरी डॉट कॉम की ओर से जारी एक रिपोर्ट में यह जानकारी मिली है। रिपोर्ट के अनुसार, कंपनियों का मानना है कि वर्ष 2023 की पहली छमाही में छंटनियां घटेंगी। हालांकि, सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) क्षेत्र से जुड़ी नौकरियों और वरिष्ठ पदों पर तैनात पेशेवरों पर छंटनी की मार अधिक पड़ने की आशंका है। इसके साथ ही नई भर्तियों को लेकर कंपनियों का नजरिया सुधरने से इस साल औसत वेतन-वृद्धि 20 प्रतिशत से भी अधिक रहने की उम्मीद है। 

1,400 नियोक्ताओं के बीच हुआ सर्वेक्षण 

जॉब पोर्टल नौकरी डॉट कॉम की तरफ से 1,400 कंपनियों के बीच कराए गए एक सर्वेक्षण में यह अनुमान जाहिर किया गया है। गुरुवार को जारी इस सर्वेक्षण रिपोर्ट के मुताबिक, सिर्फ चार प्रतिशत कंपनियों ने ही साल की पहली छमाही में छंटनी किए जाने की आशंका जताई है। हालांकि, 10 क्षेत्रों के कंपनियों के बीच कराए गए सर्वे से पता चलता है कि आईटी उद्योग पर अगले कुछ महीनों में छंटनी की सबसे अधिक मार पड़ सकती है। इसके अलावा कारोबार विकास, विपणन, मानव संसाधन और परिचालन से जुड़ी नौकरियों में भी कटौती की जा सकती है। 

सीनियर पदों पर अभी भी छंटनी की तलवार

सर्वेक्षण कहता है, सबसे ज्यादा छंटनी वरिष्ठ पदों पर तैनात पेशेवरों की होने की आशंका है। करीब 20 प्रतिशत कंपनियों ने ऐसा अनुमान जताया है। वहीं हाल ही में अपना करियर शुरू करने वाले युवा कर्मचारियों पर छंटनी का असर सबसे कम पड़ने की उम्मीद है। सर्वेक्षण के मुताबिक, साल की पहली छमाही में करीब आधे नियोक्ताओं ने कर्मचारियों के नौकरी छोड़ने की दर 15 प्रतिशत से अधिक रहने की संभावना जताई है और इसमें सबसे ज्यादा हिस्सा आईटी उद्योग का ही रहने का अनुमान है। हालांकि, वैश्विक रोजगार बाजार में व्याप्त अनिश्चितता के बावजूद 92 प्रतिशत नियोक्ता जनवरी-जून 2023 की अवधि में नई भर्तियों को लेकर आशान्वित हैं।

नई नौकरियों के भी अवसर बढ़ेंगे 

करीब 50 फीसदी कंपनियों ने नई भर्तियों के अलावा पुराने पदों पर नियुक्तियों की उम्मीद जताई है। वहीं 29 प्रतिशत कंपनियों ने सिर्फ नई भर्तियों की बात कही है जबकि 17 प्रतिशत ने कर्मचारियों की संख्या बरकरार रखने की बात कही है। भर्तियों को लेकर नियोक्ताओं का नजरिया आशावादी होने से कर्मचारी अपने सालाना कामकाजी मूल्यांकन में बेहतर वेतन-वृद्धि की उम्मीद कर सकते हैं। सर्वेक्षण में शामिल एक-तिहाई से अधिक प्रतिभागियों ने इस साल औसत वेतन-वृद्धि 20 प्रतिशत से भी अधिक रहने की उम्मीद जताई है। इसके अलावा कॉलेज एवं उच्च शैक्षणिक संस्थानों से पढ़कर निकलने वाले युवा भी कैंपस भर्ती को लेकर नियोक्ताओं के अनुकूल रुख से उत्साहित हो सकते हैं। 

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Business News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement