Live TV
GO
Advertisement
Hindi News भारत राष्ट्रीय Rajat Sharma Blog: वाड्रा के खिलाफ...

Rajat Sharma Blog: वाड्रा के खिलाफ ED के केस और प्रियंका की नई जिम्मेदारी का राजनीतिक असर

ईडी के अधिकारियों का दावा है कि लंदन की संपत्ति से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में उनके पास ठोस सबूत हैं। चूंकि इस मामले पर ईडी की पकड़ मजबूत लगती है, वाड्रा गिरफ्तारी से बचने के लिए अदालत की शरण में गए और 16 फरवरी तक के लिए अंतरिम जमानत ले ली।

Rajat Sharma
Rajat Sharma 07 Feb 2019, 15:44:54 IST

प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने बुधवार को कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के पति रॉबर्ट वाड्रा से पूछताछ की। यह पूछताछ लंदन के एक भगोड़े हथियार डीलर संजय भंडारी से खरीदी गई संपत्ति से जुड़े कथित मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में की गई। लंदन के ब्रायन्स्टन स्क्वेयर में स्थित इस प्रॉपर्टी की कीमत 1.9 मिलियन पाउंड बताई जाती है। वहीं, वाड्रा ने इस सौदे के साथ किसी भी तरह के संबंध से इनकार किया है।

आर्थिक गड़बड़ियों को लेकर रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ कई तरह के मामले चल रहे हैं। इनमें से एक मामला तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कार्यकाल में राजस्थान में जमीनों की खरीद और बिक्री से जुड़ा है। वाड्रा को पूछताछ के लिए ईडी के जयपुर कार्यालय में भी पेश होना है। वाड्रा की फर्म द्वारा हरियाणा में इसी तरह के विवादास्पद भूमि सौदों के चलते FIR दर्ज की गई, जिसमें तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को भी आरोपी बनाया गया है।

ईडी के अधिकारियों का दावा है कि लंदन की संपत्ति से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में उनके पास ठोस सबूत हैं। चूंकि इस मामले पर ईडी की पकड़ मजबूत लगती है, वाड्रा गिरफ्तारी से बचने के लिए अदालत की शरण में गए और 16 फरवरी तक के लिए अंतरिम जमानत ले ली। इसके बाद वह बुधवार को तय वक्त पर ED के सामने पेश हो गए।

चूंकि इन मामलों का प्रियंका गांधी और पार्टी प्रमुख राहुल गांधी के भविष्य पर राजनीतिक तौर पर बुरा असर पड़ेगा, इसलिए प्रियंका अपने पति को ED को दफ्तर में छोड़ने के लिए उनके साथ गईं और उसके बाद पार्टी महासचिव के रूप में पदभार संभालने के लिए एआईसीसी के दफ्तर चली गईं। ऐसा करते हुए प्रियंका ने कहा, ‘वह मेरे पति हैं। वह मेरा परिवार हैं। मैं अपने परिवार के साथ खड़ी हूं। सभी जानते हैं कि ऐसा क्यों किया जा रहा है।’

अब यह ईडी और कानूनी अदालतों के ऊपर है कि वह वाड्रा को दोषी ठहराती हैं या नहीं, लेकिन प्रियंका गांधी इससे बेपरवाह लगती हैं। बुधवार को उन्होंने पूर्वी उत्तर प्रदेश के राजनीतिक हालात के बारे में पार्टी के नेताओं के साथ चर्चा की, और जल्द ही इस क्षेत्र का दौरा करने की योजना भी बनाई।

उत्तर प्रदेश के 43 लोकसभा क्षेत्रों में इंडिया टीवी-सीएनएक्स द्वारा किए गए एक सर्वे से पता चला है कि प्रियंका के राजनीति में प्रवेश के बाद कांग्रेस को वोट शेयर में तो बढ़त मिल सकती है, लेकिन इससे सपा-बसपा के महागठबंधन को नुकसान और एनडीए को फायदा होने की भी संभावना है। हालांकि प्रियंका की पॉलिटिक्स में एंट्री से किसको फायदा और किसको नुकसान होता है, इसका फैसला होने में थोड़ा और वक्त लगेगा। (रजत शर्मा)

देखें, आज की बात रजत शर्मा के साथ, देखें 6 फरवरी 2019 का पूरा एपिसोड

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन