Live TV
GO
Advertisement
Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थ रनिंग, एक्सरसाइज और ब्रेस्ट से जुड़ी...

रनिंग, एक्सरसाइज और ब्रेस्ट से जुड़ी कुछ ऐसी बातें जो हर लड़की को पता होनी चाहिए, पढ़िए पूरी रिपोर्ट

हर लड़की के ब्रेस्ट साइज यह दर्शाता है कि आप रोजाना कितना एक्सरसाइज करती हैं। एक रिसर्च के मुताबिक हर उम्र की महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा एक्सरसाइज करनी चाहिए। क्योंकि ब्रा कि साइज बढ़ रही है या घट रही है दोनों आपके शरीर के लिए खतरनाक है। 

India TV Lifestyle Desk
India TV Lifestyle Desk 12 Mar 2019, 12:20:33 IST

नई दिल्ली: हर लड़की के ब्रेस्ट साइज यह दर्शाता है कि आप रोजाना कितना एक्सरसाइज करती हैं। एक रिसर्च के मुताबिक हर उम्र की महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा एक्सरसाइज करनी चाहिए। क्योंकि ब्रा कि साइज बढ़ रही है या घट रही है दोनों आपके शरीर के लिए खतरनाक है। इस बात में कोई शक ही नहीं है कि एक्सरसाइज आपकी हेल्थ, खुशी को दोगुना बढ़ाती है। रोजाना एक्सरसाइज करने से आप स्ट्रेस फ्री रहते हैं।

ये बात तो हम सब जानते हैं कि दौड़ने से हम फिट और हेल्दी रहते हैं। लेकिन अगर आप महिला हैं तो आपके लिए दौड़ने की सही विधि कम मायने रखती है जबकि आपके ब्रेस्ट एक बड़ा चैलेंज बन जाते हैं। जी, हां! अगर आपके ब्रेस्ट यानी स्तन ओवर साइज हैं तो रनिंग आपके लिए एक चुनौतीपूर्ण वर्कआउट है। जब आप दौड़ती हैं तो आपके ब्रेस्ट ऊपर-नीचे होते हैं और यह आपके लिए शर्मिंदगी साबित हो सकती है।

एक्सरसाइज के दौरान ब्रेस्ट पर तुरंत फर्क देखना चाहते हैं तो यह काम करें:

पहनें स्पोर्ट्स ब्रा
चूंकि आपके ब्रेस्ट हर दिशा में हिलते हैं, इसलिए रनिंग के समय आपको चाहिए कि अच्छी ब्रा पहनें। लेकिन अच्छी ब्रा पहनने का मतलब सिर्फ ब्रांडेड ब्रा पहनना ही नहीं है। जब आप दौड़ती हैं तब आपके ब्रेस्ट को अच्छे सपोर्ट की जरूरत होती है। ऐसे में आपको चाहिए कि आप स्पोर्ट्स ब्रा पहनें। जिससे आप दौड़ने के दौरान सहज महसूस करेंगी और ब्रेस्ट भी बहुत ज्यादा नहीं हिलेंगे।

जब हो दर्द
कई बार आप दौड़ने के दौरान ब्रेस्ट में दर्द महसूस करती होंगी। वैस आपको बता दें कि ब्रेस्ट में दर्द होने के पीछे कई वजहें हो सकती हैं मसलन पीरियड का आना। ऐसी स्थिति में आपको चाहिए कि हल्की फुल्की एक्सरसाइज ही करें। लेकिन अगर दौड़ने की वजह से आपके ब्रेस्ट में दर्द है तो समझें कि आपकी ब्रा सही नहीं है, उसे बदलने का समय आ गया है। बहरहाल अगर ब्रा बदलने के बावजूद दर्द बना हुआ है और पीरियड की समस्या भी नहीं है तो आपको चाहिए कि डाक्टर से संपर्क करें।

साइज घटना
कई महिलाएं जो नियमित दौड़ लगाती हैं, वे अकसर शिकायत करती हैं कि दौड़ने से उनके ब्रेस्ट के साइज प्रभावित हुए हैं। उनका साइज कम हुआ है। आपको बताते चलें कि ब्रेस्ट फैट और फाइबरस टिश्यू से बना है। इसलिए जब आप दौड़ने के बाद फैट कम करती हैं तो इसका असर आपके ब्रेस्ट पर भी पड़ता है। लेकिन इसे आप स्पाट रिडक्शन नहीं कह सकतीं। दौड़ने की वजह से ब्रेस्ट का श्रिंक होना यानी सिकुड़ना सामान्य है।

ब्रेस्ट का सही साइज का रखना है जरूरी
कई महिलाएं, जिनके ब्रेस्ट के साइज बहुत बड़े हैं, वे खुलकर दौड़ने में शर्म महसूस करती हैं। असल में उन्हें लगता है कि वे दौड़ती हुई अटपटी लगेंगी, लोगों की नजर सीधे उनके ब्रेस्ट पर पड़ेगी। नतीजतन उनके आत्मविश्वास में कमी आती है। लेकिन महिलाओं को चाहिए कि दौड़ते हुए भी सहज रहें। हमेशा ध्यान रखें कि ब्रेस्ट भी अपके शरीर का अहम हिस्सा है, जैसे कि शरीर के अन्य भाग हैं। अगर वे ओवर साइज हैं तो उन्हें वर्कआउट करके कम कर सकती हैं। लेकिन इससे शर्मिंदगी महसूस करना सही नहीं है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Health News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन