1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. स्पीड लिमिट तोड़ने वालों पर एक्शन हुआ तेज, जानिये क्यों नियम तोड़कर बचना है मुश्किल

स्पीड लिमिट तोड़ने वालों पर एक्शन हुआ तेज, जानिये क्यों नियम तोड़कर बचना है मुश्किल

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने गति सीमा से अधिक रफ्तार पर गाड़ी चलाने के लिए एक सप्ताह में 48,000 से अधिक चालान जारी किए हैं।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: June 17, 2021 17:08 IST
दिल्ली में एक हफ्ते...- India TV Paisa
Photo:PTI

दिल्ली में एक हफ्ते में 48 हजार चालान

नई दिल्ली।  दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने गति सीमा से अधिक रफ्तार पर गाड़ी चलाने के लिए एक सप्ताह में 48,000 से अधिक चालान जारी किए हैं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। यातायात पुलिस ने गति सीमा से अधिक रफ्तार पर वाहन चलाने संबंधी अधिसूचना आठ जून से संशोधित की थी। इन चालानों में अघिकांश चालान ओवर स्पीड वायलेशन डिटेक्टर यानि कैमरे में दर्ज हुई ओवरस्पीडिंग के बाद ऑनलाइन भेजे गये हैं। यानि साफ है कि अगर आप सोच रहे हैं कि ट्रैफिक पुलिस की गैरमौजूदगी में आप नियम तोड़ कर आप बच सकते हैं तो ये आपकी गलती होगी। ऑनलाइन चालानों की संख्या बता रही है कि आधुनिक तकनीकों के माध्यम से अब आपका बचना संभव नहीं है।   

जारी हुये कितने चालान

पुलिस के अनुसार, सात जून से 13 जून तक कुल 48,412 चालान जारी किए गए जिनमें से 48,311 ऑनलाइन और 101 मौके पर जारी किए गए। यातायात पुलिस ने आठ जून को जारी एक अधिसूचना में राष्ट्रीय राजमार्ग, रिंग रोड और एयरपोर्ट मार्ग जैसे रास्तों पर कार और टैक्सी के लिए 60-70 किलोमीटर प्रति घंटा तथा बाजार और आवासीय क्षेत्रों में 30 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार तय की थी।

कैसे पकड़ी जाती है ओवरस्पीडिंग

गति सीमा से अधिक रफ्तार पर वाहन चलाने वालों के लिए मुख्य रूप से दो प्रकार से चालान जारी किया जाता है। पुलिस ने बताया कि पहला तरीका है ‘ओवर स्पीड वायलेशन डिटेक्टर’ (ओएसवीडी) प्रणाली। इस प्रक्रिया में किसी सड़क पर कैमरा लगा होता है जो वाहन की गति मापता है। बाद में वह डेटाबेस से आंकड़े लेता है और गति सीमा का उल्लंघन करने वालों को संदेश भेजता है। उन्होंने कहा कि दूसरा तरीका है ‘ट्राईपॉड इंटरसेप्टर’ कैमरा जिसे एक ट्राइपॉड के ऊपर लगाया जाता है और वह वाहन की गति माप लेता है। बाद में पुलिस वाहन को रोकने और चालान जारी करने का काम करती है। विशेष पुलिस आयुक्त (यातायात) ताज हसन ने कहा कि गति सीमा में बदलाव को ठीक कर लिया गया है। हसन ने कहा, “एक वर्ग के निजी और वाणिज्यिक वाहनों को एक ही श्रेणी में लाया गया है। हम ओएसवीडी के जरिये इलेक्ट्रॉनिक चालान जारी कर रहे हैं। दोपहिया वाहनों के लिए भी गति सीमा तय कर दी गई है। कुछ सड़कों पर गति सीमा में बदलाव था जिसे ठीक कर दिया गया है।”

यह भी पढ़ें- कमाई का मौका: यहां लगाया पैसा तो हो सकता है 50% तक फायदा, दिग्गजों ने दी है सलाह

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार ने किसानों के लिये बड़ी राहत को दी मंजूरी, बंटेगी कुल 15000 करोड़ रुपये की मदद 

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X