1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Ibja के मुहूर्त ट्रेडिंग में बिका 100 किलो सोना, 600 किलो चांदी की हुई खरीदारी

Ibja के मुहूर्त ट्रेडिंग में बिका 100 किलो सोना, 600 किलो चांदी की हुई खरीदारी

इस आधे घंटे कारोबार के दौरान 100 किलो सोना बिका, जबकि 600 किलो चांदी के सौदे हुए।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: October 28, 2019 15:19 IST
100 kilograms of gold, 600 kg of silver purchased in Ibja Muhurta trading- India TV Paisa
Photo:100 KILOGRAMS OF GOLD

100 kilograms of gold, 600 kg of silver purchased in Ibja Muhurta trading

मुंबई। नए साल के आगाज पर सोमवार को इंडिया बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन (आईबीजेए) द्वारा आयोजित करीब आधे घंटे की मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान देशभर में 100 किलो सोना बिका, जबकि चांदी की बिक्री 600 किलो रही। पिछले सत्र के मुकाबले सोने में सुस्ती रही, जबकि चांदी में तेजी के साथ कारोबार हुआ। गौरतलब है कि इस बार धनतेरस पर देशभर में 30 टन सोने की बिकवाली हुई।

आईबीजेए के राष्ट्रीय सचिव सुरेंद्र मेहता ने बताया कि पिछले साल की मुहूर्त ट्रेडिंग के मुकाबले सोने और चांदी में हालांकि काफी ऊंचे भाव पर सौदे हुए लेकिन बीते कारोबारी सत्र में धनतेरस पर सोने का जो भाव था उससे कम भाव पर सौदे हुए, जबकि चांदी में ऊंचे भाव पर सौदे हुए।

एसोसिएशन से मिली जानकारी के अनुसार, मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान 24 कैरट का सोना 38,666 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बिका, जबकि धनतेरस पर 25 नवंबर को 24 कैरट सोने का भाव 38,725 रुपए प्रति 10 ग्राम था। वहीं, चांदी में 46,751 रुपए प्रति किलो पर सौदे हुए, जबकि धनतेरस पर चांदी का भाव 46,775 रुपए प्रति किलो था।

वहीं, 22 कैरट शुद्धता का सोना 38,511 रुपए प्रति 10 ग्राम के भाव पर बिका, जबकि धनतेरस के दिन 22 कैरट सोने का दाम 38,570 रुपए प्रति 10 ग्राम था। मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान कारोबार 11.56 बजे शुरू हुआ और 12.28 बजे तक चला। इस दौरान मुंबई के झावेरी बाजार स्थित आईबीजेए के दफ्तर में एसोसिएशन के सदस्य मुहूर्त सौदे के लिए जुटे थे।

मेहता ने बताया कि इस आधे घंटे कारोबार के दौरान 100 किलो सोना बिका, जबकि 600 किलो चांदी के सौदे हुए। मेहता ने इससे पहले धनतेरस पर देशभर में 30 टन सोना बिकने का अनुमान जारी किया था। दिवाली के अगले दिन हिंदू नव वर्ष का आरंभ होता है, जब कारोबारी नए साल की अपनी नई खाता-बही की शुरूआत करते हैं। दिवाली के बाद बलिप्रतिपदा का अवकाश होने के कारण सोमवार को देश के शेयर बाजार और कमोडिटी वायदा बाजार में कारोबार बंद है। गुजरात और मध्यप्रदेश समेत देश के कुछ हिस्सों में नए साल का पहला दिन होने के कारण छुट्टी मनाई जा रही है।

Write a comment