Monday, April 15, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. पहले पखवाड़े में बैंक ऋण 7.14 प्रतिशत और जमा 11.42 प्रतिशत बढ़ा: RBI

पहले पखवाड़े में बैंक ऋण 7.14 प्रतिशत और जमा 11.42 प्रतिशत बढ़ा: RBI

इससे पहले 22 अक्टूबर 2021 को खत्म हुए पिछले पखवाड़े में बैंक ऋण 6.84 प्रतिशत और जमा राशि 9.94 प्रतिशत बढ़ी थी। वित्त वर्ष 2020-21 में बैंक ऋण में 5.56 प्रतिशत और जमा राशि में 11.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: November 18, 2021 0:01 IST
पहले पखवाड़े में बैंक ऋण 7.14 प्रतिशत और जमा 11.42 प्रतिशत बढ़ा: RBI- India TV Paisa
Photo:FILE

पहले पखवाड़े में बैंक ऋण 7.14 प्रतिशत और जमा 11.42 प्रतिशत बढ़ा: RBI

Highlights

  • आरबीआई ने 15 नवंबर 2021 को समाप्त पखवाड़े के जारी किए आंकड़े।
  • बैंक ऋण और जमा राशि के बारे में दी जानकारी।
  • वित्त वर्ष 2020-21 में बैंक ऋण में 5.56 प्रतिशत और जमा राशि में 11.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।

मुंबई: भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने कहा है कि 15 नवंबर 2021 को समाप्त पखवाड़े में बैंक ऋण 7.14 प्रतिशत बढ़कर 111.64 लाख करोड़ रुपये और जमा राशि 11.42 प्रतिशत बढ़कर 160.49 लाख करोड़ रुपये हो गईं। बुधवार को जारी आरबीआई के आंकड़ों के अनुसार, छह नवंबर 2020 को समाप्त पखवाड़े में बैंक ऋण 104.19 लाख करोड़ रुपये और जमा राशि 144.03 लाख करोड़ रुपये थी। इससे पहले 22 अक्टूबर 2021 को खत्म हुए पिछले पखवाड़े में बैंक ऋण 6.84 प्रतिशत और जमा राशि 9.94 प्रतिशत बढ़ी थी। वित्त वर्ष 2020-21 में बैंक ऋण में 5.56 प्रतिशत और जमा राशि में 11.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।

आरबीआई ने श्री कन्यका नगरी सहकारी बैंक पर लगाया जुर्माना

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बुधवार को श्री कन्यका नगरी सहकारी बैंक लिमिटेड, चंद्रपुर पर 10.50 लाख रुपये का मौद्रिक जुर्माना लगाया। यह जुर्माना अचल संपत्ति क्षेत्र को नए ऋण देने सहित निर्धारित मानकों का उल्लंघन करने के लिए लगाया गया। आरबीआई ने एक बयान में कहा कि 31 मार्च 2018 और 31 मार्च 2019 की वित्तीय स्थिति के आधार पर बैंक की निरीक्षण रिपोर्ट से पता चला है कि उसने रिजर्व बैंक के परिचालन निर्देशों का उल्लंघन करते हुए रियल एस्टेट क्षेत्र को नए ऋण दिए और जरूरी अनुमति के बिना एटीएम भी खोला गया। इसके अलावा इस सहकारी बैंक ने कई मौकों पर धोखाधड़ी की खबर देने में देरी की।

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Business News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement